RBSE Solutions for Class 9 English Insight Chapter 8 The Civilization of Today

हेलो स्टूडेंट्स, यहां हमने राजस्थान बोर्ड Class 9 English Insight Chapter 8 The Civilization of Today सॉल्यूशंस को दिया हैं। यह solutions स्टूडेंट के परीक्षा में बहुत सहायक होंगे | Student RBSE solutions for Class 9 English Insight Chapter 8 The Civilization of Today pdf Download करे| RBSE solutions for Class 9 English Insight Chapter 8 The Civilization of Today notes will help you.

Rajasthan Board RBSE Class 9 English Insight Chapter 8 The Civilization of Today

RBSE Class 9 English Insight Chapter 8 The Civilization of Today Textual questions

Activity 1: Comprehension
(A) Tick the correct alternative :

Question 1.
C.E.M. Joad in ‘The Civilization of Today’ describes
(a) the merits of mod ern civilization.
(b) the demerits of modern civilization.
(c) both the merits and demerits of modern civilization.
(d) the difference between culture and civilization.
Answer:
(c) both the merits and demerits of modern civilization.

Question 2.
safety is ……….. for development.
(a) of greater significance
(b) of no significance
(c) of minor significance
(d) of little significance
Answer:
(a) of greater significance

Question 3.
Science has given us power fit for the gods, yet we use them like-
(a) demons
(b) small children
(c) mature citizens
(d) mature politicians
Answer:
(b) small children

(B) Answer the following questions in not more than 30-40 words each :

Question 1.
What does the writer have to say in praise of order and safety ?
व्यवस्था और सुरक्षा की प्रशंसा में लेखक को क्या कहना है?
Answer:
The writer has to say that due to order and safety in the modern civilization, the weaker ones cannot be beaten by stronger ones. Right has taken the place of might. The law protects people from robbery and violence.
लेखक का कहना है कि आधुनिक सभ्यता में व्यवस्था एवं सुरक्षा के कारण कमजोरों को ताकतवरों के द्वारा पीटा नहीं जा सकता। शक्ति का स्थान अधिकार ने ले लिया है। कानून लूटपाट और हिंसा से लोगों की रक्षा करता है।

Question 2.
How is the world tending to become a unity?
संसार किस प्रकार से एक इकाई बनने की ओर अग्रसर है ?
Answer:
According to the author, it is a unity already so far as buying and selling and the exchange of goods are concerned. For the first time the world is becoming a single place, instead of a lot of separate places shut off from one another.
लेखक के अनुसार, जहाँ तक वस्तुओं के खरीदने और बेचने व विनिमय का सम्बन्ध है, तो वह पहले से ही एक इकाई बन चुका है। एक दूसरे से अलग-थलग ढेर सारे पृथक्-पृथक् स्थानों की बजाय संसार पहली बार एक एकल स्थल बन रहा है।

Question 3.
What are the major defects of our civilization ?
हमारी सभ्यता के मुख्य दोष कौन-से हैं?
Answer:
Our civilization has following major defects
(A) The sharing-out of money is still very unfair.
(B) The danger from war.
(C) Our civilization does not know what to do with its knowledge.
हमारी सभ्यता के मुख्य दोष निम्न हैं-
(A) धन की बँटाई अभी भी बहुत अनुचित है।
(B) युद्धं से खतरा।
(C) हमारी सभ्यता अपने ज्ञान का प्रयोग करना नहीं जानती।

Question 4.
What effect does war have on our civilization ?
हमारी सभ्यता पर युद्ध का क्या प्रभाव है?
Answer:
The author says that in the conditions of the present day, any war that starts anywhere is more and more likely to spread everywhere. A single match will set a hay-rick ablaze, and with all this war material lying about, the world is again like a hay-rick waiting for the match.

लेखक कहता है कि आज के हालात में कोई युद्ध कहीं छिड़ जाये तो उसके हर जगह फैलने की पूरी-पूरी सम्भावना है। एक दियासलाई भूसे के विशाल ढेर को प्रज्ज्वलित कर देती है। ‘ और इधर-उधर फैली हुई इस युद्ध की सामग्री के साथ संसार पुनः भूसे का एक विशाल ढेर बन गया है जो एक दियासलाई के इन्तजार में है।

Question 5.
How can a person be truly civilized ?
कोई व्यक्ति वास्तव में सभ्य कैसे बन सकता है?
Answer:
A person can be truly civilized by making and liking beautiful things, thinking freely and living rightly and maintaining justice equally between man and man.
कोई व्यक्ति सुन्दर वस्तुएँ बनाते हुए एवं पसन्द करते हुए, स्वतन्त्रतापूर्वक सोचते हुए तथा सही ढंग से जीवन जीते हुए एवं जन-जन के मध्य समान रूप से न्याय को कायम रखते हुए वास्तव में सभ्य बन सकता है।

(C) Answer the following questions in about 60-80 words each :

Question 1.
Discuss C.E.M. Joad’s ideas on ManMachine relationship.
मनुष्य और मशीन के सम्बन्ध के विषय में सी.ई.एम. जोड के विचारों पर विचार-विमर्श कीजिए।
Answer:
According to C.E.M. Joad man doesn’t know how to manage machines. Machines were made to be man’s servants; yet he has grown so dependent on them that they are in a fair way to become his masters. Already most men spend most of their lives looking after and waiting upon machines. And the machines are very stern masters. If they do not get their meals e.g. coal, petrol, oil, etc. when they expect them, they refuse to work or burst and blow up and spread ruin and destruction all round them.

सी.ई.एम. जोड के अनुसार मनुष्य मशीनों का संचालन करना नहीं जानता। मशीनों को मनुष्य के नौकर के रूप में बनाया गया था; किन्तु मनुष्य मशीनों पर इतना निर्भर हो गया है कि मशीन सच्चे रूप में मनुष्य की स्वामी बन गई हैं। अधिकांश मनुष्य पहले से ही अपना अधिकांश जीवन मशीनों की देखभाल करने में व उनकी सेवा-टहल करने में बिताते हैं। और मशीनें बहुत ही कठोर स्वामी होती हैं। यदि उन्हें अपना भोजन यथा-कोयला, पेट्रोल, तेल आदि वांछित समय पर नहीं मिलता है तो वे कार्य करने से मना कर देती हैं और फट जाती हैं या विस्फोट से उड़ जाती हैं एवं अपने चारों ओर बरबादी और विनाश फैला देती हैं।

Question 2.
“A still greater danger comes from war.” What, according to the author, is this great danger ?
“एक इससे भी बड़ा खतरा युद्ध से है।” लेखक के अनुसार यह बड़ा खतरा क्या है?
Answer:
According to the author, the frontiers of the different nations may cause war. However, the trade and exchange of goods have made the world a single whole, across its surface still run the frontiers of the different states. The modern transportation has made nonsense of these national frontiers and a man may go anywhere in the world in a little time. But these frontiers may cause war some day.

लेखक के अनुसार, विभिन्न राष्ट्रों की सीमाएँ युद्ध का कारण बन सकती हैं। हालांकि, व्यापार एवं वस्तु विनिमय ने विश्व को पूर्ण एक इकाई बना दिया है, किन्तु इसकी सतह पर अभी भी विभिन्न देशों की सीमाएँ कायम हैं। आधुनिक यातायात ने इन राष्ट्रीय सीमाओं को निरर्थक बना दिया है और कोई मनुष्य थोड़े से ही समय में कहीं भी जा सकता है। किन्तु ये सीमाएँ किसी युद्ध का कारण बन सकती हैं।

Question 3.
What is unfair in the modern democratic countries ?
आधुनिक लोकतान्त्रिक देशों में क्या अन्यायपूर्ण है?
Answer:
In the modern democratic countries, the sharing-out of money is very unfair. While some few people live in luxury, many have not even enough to eat and drink and wear. Even in the finest of the world’s cities thousands of people live in dreadful surroundings. There are many families of five or six persons who live in a single room. In this same room they are born, and in this same room they die. And they live like this not for fun, but because they are too poor to afford another room.

आधुनिक लोकतान्त्रिक देशों में धन की बँटाई (विभाजन) अत्यधिक अन्यायपूर्ण है। कुछ थोड़े लोग विलासिता में जीवन जीते हैं, जबकि बहुत से लोगों के पास खाने, पीने एवं पहनने के लिए भी पर्याप्त नहीं है। संसार के श्रेष्ठतम शहरों में भी हजारों लोग भयानक वातावरण में रहते हैं। पाँच या छह लोगों वाले ऐसे कई परिवार हैं जो एक ही कमरे में रहते हैं। इसी कमरे में वे पैदा होते हैं और इसी कमरे में वे मर जाते हैं। तथा वे इस प्रकार का जीवन आनन्द के लिए नहीं जीते, बल्कि वे इतने गरीब हैं कि दूसरे कमरे का खर्च नहीं उठा सकते।

(D) Say whether the following statements are True or False. Write ‘T’ for true and ‘F’ for false in the bracket :

  1. The essay “The Civilization of Today is written by C.E.M. Joad. [ ]
  2. Roman Empire was established by Augustans [ ]
  3. The two revolutions in the essay refer to the French Revolution and the Russian Revolution. [ ]
  4. C.E.M: Joad was a great scientist. [ ]

Answer:

  1. True
  2. True
  3. False
  4. False

Activity 2 : Vocabulary
(A) Match the words in column ‘A’ with that of column ‘B’.
RBSE Solutions for Class 9 English Insight Chapter 8 The Civilization of Today 1
Answer:
RBSE Solutions for Class 9 English Insight Chapter 8 The Civilization of Today 2

(B) Find out one word each for the phrases given below

  1. The external form represented by customs, manners, laws and the general state of variety [ ]
  2. Matters that produce a state of being unable to feel pain, heat, cold, etc [ ]
  3. A silent displeased person [ ]
  4. A fertile place in a desert [ ]

Answer:

  1. civilization
  2. anaesthetics
  3. sulky
  4. oasis

Activity 3: Grammar
Direct and Indirect Narration-
किसी व्यक्ति द्वारा कही गई बात को हम दो प्रकार से बता सकते हैं। निम्न वाक्यों को देखिए1. Mohan said “I want to become a doctor.” प्रथम वाक्य में हम मोहन के शब्दों को कहते हैं; यह Direct Speech कहलाता है। दूसरे वाक्य में हम मोहन द्वारा कहे गए वास्तविक शब्दों को बोले बिना ही मोहन की बात को अपने शब्दों में कहते हैं। इसे Indirect या Reported speech कहते हैं। जैसा कि नाम से इंगित होता है, कि बात को सीधे ही सुनने वाला व्यक्ति जब किसी तीसरे व्यक्ति को वक्तों की अनुपस्थिति में उसकी बात को अपने शब्दों में कहता है, तो उसे Indirect speech कहते हैं। यहाँ यह बात समझाई जा रही है कि Direct से Indirect speech में परिवर्तन करते समय कई परिवर्तन क्यों होते हैं।

वाक्य क्र. 1 एवं 2 में ध्यान देने योग्य निम्न परिवर्तन तब किए जाते हैं जब Direct speech को Indirect speech में परिवर्तित किया जाता है reporting verb’ के पश्चात् के अल्प विराम एवं अवतरण चिह्नों को हटा दिया जाता है। The pronouns are changed. सर्वनाम परिवर्तित किये जाते हैं। The tense verb forms are changed. Tense की क्रिया के रूप परिवर्तित होते हैं। inverted commas (अवतरण चिह्न) के बाहर स्थित verb को reporting verb कहा जाता है और inverted commas के अन्दर स्थित verb को reported verb कहा जाता है।

Rules for changing Tense of the verb
Verb का Tense परिवर्तित करने के नियमनिम्न मामलों में indirect speech में reported verb के Tense में कोई परिवर्तन नहीं किया जाता।

  • जब reporting verb present या future tense में हो।
  • यदि reporting verb किसी सार्वभौमिक सत्य या वैज्ञानिक तथ्य को बताती हो। यदि reporting verb past tense’ में है तो reported verb के tense में परिवर्तन नीचे दिये गये बॉक्स में निर्दिष्टानुसार होंगे

BOX – A
Rules for changing Tensees – Tensees बदलने के नियम –
RBSE Solutions for Class 9 English Insight Chapter 8 The Civilization of Today 3

BOX – B
Rules for changing pronouns – सर्वनाम में परिवर्तन करने के नियम –

  • I (जो उत्तम पुरुष का प्रतिनिधित्व करता है) reporting verb के कर्ता के अनुसार बदलता है।
  • ‘You’ (जो मध्यम पुरुष का प्रतिनिधित्व करता है) reporting verb के कर्म के अनुसार बदलता है।
  • ‘He’ (जो तृतीय पुरुष का प्रतिनिधित्व करता है) अपरिवतर्तित रहता है।

BOX – C
Rules for changing words of time and place – समय व स्थान वाची शब्दों में परिवर्तन के नियम –

RBSE Solutions for Class 9 English Insight Chapter 8 The Civilization of Today 4
RBSE Solutions for Class 9 English Insight Chapter 8 The Civilization of Today 5
प्रश्न वाचक वाक्यों में, प्रश्नों को indirect speech में साधारण कथनों में परिवर्तित कर दिया जाता है –
He said, “Where are you going ?”
(Direct Speech)

He asked where I was going.
(Indirect Speech)

yes – no के उत्तर वाले प्रश्नवाचक वाक्यों में if/whether का प्रयोग होता है –
She said, “Will you come with me ?”
(Direct Speech)

She asked me if I would come with her.
(Indirect Speech)

आज्ञार्थक वाक्यों (जिनमें आदेश, निवेदन, चेतावनी, सलाह, इत्यादि समाहित हो) में reporting verb ‘said’ के स्थान पर asked, ordered, commanded, requested, advised इत्यादि क्रियाएँ आती हैं, तत्पश्चात् कर्म आता है। और ‘to’ का प्रयोग होता है, जैसा कि निम्न प्रकार प्रदर्शित है-

“Call the witness,” said the Judge. (Direct Speech)
The Judge ordered them to call the witness. (Indirect Speech)
“Don’t sleep late”, said the teacher. (Direct Speech)
The teacher advised us not to sleep late. (Indirect Speech)

विस्मयादिबोधक वाक्यों या इच्छार्थक वाक्यों में reporting verb ऐसी क्रिया से बदली जाती है जो विस्मय आदि भाव या इच्छा का अर्थ व्यक्त करती हो, जैसे-declared, exclaimed, wished, इत्यादि। विस्मयादिबोधक शब्द जैसे alas, bravo इत्यादि तथा विस्मयादिबोधक चिह्न reported speech में हट जाते हैं। with delight, with regret इत्यादि जैसे वाक्यांश उपयुक्तानुसार प्रयोग किए जाते हैं।

He said, “What a fool Sulekha is!” (Direct Speech)
He exclaimed that Sulekha was a fool. (Indirect Speech)
“Hurrah! We have overtaken them” said the girls. (Direct Speech)
The girls exclaimed with delight that they had overtaken them. (Indirect Speech)

अब शाहरुख खान से मुलाकात का निम्न उद्धरण पढ़िए जो स्टार टीवी पर प्रसारित हुआ था।
Anita : “So, Mr Khan, have you signed any new movies?”
Shahrukh Khan : “Yes, I have signed two new films. One with Karan Johar and another with a very talented new director called Shivkumar, who used to work earlier as a production assistant with Mr Johar.”
Anita : “Oh! That’s great. Who are your co-stars in Karan Johar’s movie ?”
Shahrukh Khan : “My co-stars in Karan Johar’s film are Rani Mukharjee and Amitabh Bachhan. Salman Khan is making a guest appearance as well.”
Anita : “Thank you. All the best and it was really nice talking to you.”
Shahrukh Khan : “Thank you. The pleasure is mine.”

अब कल्पना कीजिए कि आपने इस इण्टरव्यू को टेलीविजन पर सुना, किन्तु आपकी मित्र सुनीता इसे नहीं सुन पाई। आप उसे इस इण्टरव्यू को कैसे बताएँगी?
नीचे दिये गये प्रारूप को पूरा कीजिए –

Last night Star channel broadcasted an interview by Shahrukh Khan. He said that he had signed two new films. One with …………..
Answer:
Last night Star channel broadcasted an interview by Shahrukh Khan. He said that he had signed two new films. One with Karan Johar and another with a very talented new director called Shivkumar, who used to work earlier as a production assistant with Mr Johar. Anita exclaimed and said that that was great. She also asked him who his co-stars were in Karan Johar’s movie.

Sharukh Khan replied that his co-stars in Karan Johar’s film were Rani Mukharjee and Amitabh Bachchan and added that Salman Khan was making a guest appearance as well. Anita thanked Shahrukh and wished him all the best and said that it was really nice talking to him. Shahrukh Khan thanked Anita and said that the pleasure was his.

Activity 4: Speech Activity
A. Organize a symposium on the following
“The Demerits of Modern Civilization are to be Overcome for Securing it a Perennial Existence.” Divide the whole class into groups. The group should first discuss the ideas related to the topic amongst itself and then each group presents its ideas through its leader.

आधुनिक सभ्यता का चिरस्थायी अस्तित्व सुनिश्चित करने के लिए इसके दोषों को पराभूत करना आवश्यक है।” सम्पूर्ण कक्षा को समूहों में बाँटिए। प्रत्येक समूह विषय से सम्बन्धित विचारों पर पहले आपस में विचार-विमार्श करे एवं तत्पश्चात् प्रत्येक समूह अपने नेता के माध्यम से अपने विचारों को प्रस्तुत करे।

Note – छात्र निम्न प्रकार आधुनिक सभ्यता के दोषों को बताते हुए विचार गोष्ठी में अपने विचार व्यक्त कर सकते

  • Less personal relationships and lack of social interaction.
  • Processed and fast food culture.
  • The use of chemical fertilizers and pesticides affecting the environment.
  • The nuclear weapons and hydrogen bombs.
  • Increasing terrorism.
  • New generation in the grip of internet and mobiles.
  • Flat culture.
  • Materialistic approach of modern man.
  • Lack of faith in religion as well as in spirituality.
  • Ever increasing population.
  • व्यक्तिगत सम्बन्धों एवं सामाजिक अन्त:क्रियाओं में कमी।
  • प्रसंस्कृत खाद्य एवं फास्ट फूड संस्कृति।
  • पर्यावरण को प्रभावित करने वाले रासायनिक उर्वरकोंएवं कीटनाशकों का प्रयोग।
  • नाभिकीय हथियार एवं हाइड्रोजन बम।
  • बढ़ता हुआ आतंकवाद।
  • इण्टरनेट एवं मोबाइल में जकड़ी हुई नई पीढ़ी।
  • फ्लैट संस्कृति।
  • आधुनिक मानव की भौतिकवादी विचारधारा।
  • धर्म एवं आध्यात्मिकता में आस्था की कमी।
  • निरन्तर बढ़ती हुई जनसंख्या।

Activity 5 : Composition
The inventions of Modern civilization have brought both comforts and hazards, they are numerous to enlist. Comforts seem to have transformed the world into a paradise whereas hazards seem to threaten the very existence of the modern civilization. In the light of the aforesaid statement, enlist the merits and demerits of modern civilization and then illustrate each point of merit and demerit through examples.

आधुनिक सभ्यता के आविष्कारों ने सुविधाएँ एवं संकट दोनों ही प्रदान किए हैं, यदि सूची बनाई जाये तो उनकी संख्या काफी है। सुविधाओं ने, प्रतीत होता है कि, संसार को स्वर्ग में रूपान्तरित कर दिया है। जबकि खतरे आधुनिक सभ्यता के अस्तित्व को चेतावनी देते हुए प्रतीत होते हैं। उक्त कथन के परिप्रेक्ष्य में आधुनिक सभ्यता के गुणों एवं दोषों की सूची बनाइये एवं तत्पश्चात् प्रत्येक गुण-अवगुण को उदाहरण के माध्यम से समझाइये।
Answer:
We live in a wonderful era, an era of all round ‘progress. We think that we have excelled and surpassed our forefathers in almost every respect. The 21st century seems to us a glorious age and we pride ourselves on its achievements. We may enlist merits as well as demerits of modern civilization as under
Merits –

  1. Electricity – Electricity is serving us in thousands of ways.
  2. Means of Transportation – From bicycle to Aeroplanes, all means have annihilated distance and made travel fast and comfortable.
  3. Communication – Telephone and internet have created wonder.
  4. Entertainment – TV., Computer and internet.
  5. Health – Progress in medicines and surgery.
  6. Atomic Energy – Numerous benefits upon mankind.
  7. Liberation of Countries – Many countries got freedom in modern era.
  8. Standard of Countries – Better wages and Countries more facilities.

Demerits –

  1. Wars – Two world wars from 1914 to 1918 and from 1939 to 1945 and many other wars.
  2. Destructive Weapons – Nuclear weapons, hydrogen bombs, long range guns, flying bombs, magnetic mines, submarines and poisonous gases represent the destructive side of science.
  3. Pollution – Factory smoke causes pollution and thus adversely affects health.
  4. The loss of spiritual faith – Religion seems to have no place in modern civilization.
  5. Discontentment – There is an increasing dissatisfaction with life. A general restlessness prevails in society.

RBSE Class 9 English Insight Chapter 8 The Civilization of Today Additional Questions

Short Answer Type Questions
Answer the following questions in 30 words each :

Question 1.
Which activities could not go on without safety?
सुरक्षा के बिना कौन-सी गतिविधियाँ जारी नहीं रह सकर्ती थी?
Answer:
Without safety those higher activities of mankind which make up civilization could not go on. The inventor could not invent, the scientist could not find out and the artist could not make beautiful things.
सुरक्षा के बिना मानव जाति की वे उच्चस्तरीय गतिविधियाँ जारी नहीं रह सकती थीं जो सभ्यता का निर्माण करती हैं। आविष्कारक आविष्कार नहीं कर सकते थे, वैज्ञानिक खोज नहीं कर सकते थे और कलाकार सुन्दर वस्तुएँ नहीं बना सकते थे।

Question 2.
What is still needed to be called truly civilized ?
वास्तव में सभ्य कहलाने के लिए किस चीज़ की अभी भी आवश्यकता है?
Answer:
It is needed that today civilized men should in their ordinary daily lives be practically free from fear of violence. Only then we can be called civilized in the true sense.
यह आवश्यक है कि आज सभ्य मनुष्य अपने सामान्य दैनिक जीवन में व्यावहारिक रूप से हिंसा के डर से मुक्त हों। केवल तभी हम वास्तविक अर्थों में सभ्य कहला सकते हैं।

Question 3.
In what way is our civilization far from perfect ?
हमारी सभ्यता किस प्रकार से अपूर्ण है?
Answer:
Our civilization is far from perfect because everyone is not getting his proper share of necessary and delightful things. A few people in the society are living a life of luxury while the majority of people are living a life of want.
हमारी सभ्यता अपूर्ण है क्योंकि प्रत्येक व्यक्ति को आवश्यक व आनन्दपूर्ण वस्तुओं का उसका उचित भाग नहीं मिल रहा है। कुछ लोग विलासितापूर्ण जीवन जी रहे हैं जबकि अधिकांश लोग अभावग्रस्त जीवन जी रहे हैं।

Question 4.
When did the author witness war ? What has been the result of war ?
लेखक ने युद्ध कब देखा था? युद्ध का क्या परिणाम रहा है?
Answer:
The author witnessed war twice in his lifetime. These wars continued from 1914 to 1918 and from 1939 to 1945. Almost the whole of the world has been torn by war.
लेखक ने अपने जीवनकाल में दो बार युद्ध देखे। ये युद्ध 1914 से 1918 तक एवं 1939 से 1945 तक जारी रहे। लगभग पूरा का पूरा संसार ही युद्ध से छिन्न-भिन्न हो चुका है।

Question 5.
How do we use the powers science has given to us ?
विज्ञान द्वारा प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग हम किस प्रकार करते हैं?
Answer:
Science has given us powers fit for the gods, but we use them like small children. It is a great defect of our civilization. We should use these powers in the interest of humanity.
विज्ञान ने हमें देवताओं के तुल्य शक्तियाँ प्रदान की हैं, किन्तु हम उन्हें छोटे बच्चों की भाँति प्रयोग में लेते हैं। यह हमारी सभ्यता की सबसे बड़ी कमी है। हमें इन शक्तियों का | उपयोग मानवता के हित में करना चाहिए।

Question 6.
What has to be done to keep machines in a good temper ?
मशीनों को अच्छे मिजाज में रखने के लिए क्या करना पड़ता है?
Answer:
Machines have to be fed with coal, they have to be given petrol to drink and oil to wash with and have to be kept at the right temperature to keep them in a good temper.
मशीनों को अच्छे मिजाज में रखने के लिए उन्हें भोजन के रूप में कोयला देना पड़ता है, पीने के लिए पेट्रोल देना पड़ता है और उन्हें धोने के लिए तेल देना पड़ता है एवं उन्हें सही तापमान पर भी रखना पड़ता है।

Long Answer Type Questions
Answer the following questions in 60 words each :

Question 1.
Why does the author say that our civilization would be impossible without order and safety ?
लेखक यह क्यों कहता है कि व्यवस्था एवं सुरक्षा के बिना हमारी सभ्यता असम्भव हो जाती है?
Answer:
The author says that our civilization would be impossible without order and safety, because they are as necessary to our civilization as the air we breathe in. Without safety, those higher activities of mankind which make up the civilization could not go on. The inventor could not invent, the scientist could not find out and the artist could not make beautiful things.

लेखक कहता है कि व्यवस्था एवं सुरक्षा के बिना हमारी सभ्यता सम्भव नहीं हो पाती, क्योंकि वे हमारी सभ्यता के लिए उतनी ही आवश्यक हैं जितनी कि वायु जिसमें हम श्वास लेते हैं। सुरक्षा के बिना मानवजाति की वे उच्चतर गतिवधियाँ, जो सभ्यता का निर्माण करती हैं, जारी नहीं रह सकती थीं। आविष्कारक आविष्कार नहीं कर सकते थे, वैज्ञानिक खोज नहीं कर सकते थे और कलाकार सुन्दर वस्तुएँ नहीं बना सकते थे।

Question 2.
How are men enjoying better health in the civilization of today?
आज की सभ्यता में मनुष्य किस प्रकार बेहतर स्वास्थ्य का उपभोग कर रहे हैं?
Answer:
Today men are largely free from the fear of pain. They still fall ill. But since the use of anaesthetics became common, illness is no longer the terrible thing it used to be. And people are ill less often. Without good health men cannot enjoy anything or achieve anything. But men are not only enjoying good health but also living longer than they ever did before. They have a much better chance of growing up.

आज मनुष्य दर्द के भय से काफ़ी हद तक मुक्त हैं। वे अभी भी बीमार तो होते हैं। किन्तु जब से निश्चेतक दवाओं का उपयोग आम हुआ है, बीमारी इतनी भयानक नहीं रह गई है जितनी यह हुआ करती थी। और लोग अक्सर बहुत कम बीमार होते हैं। अच्छे स्वास्थ्य के बिना मनुष्य किसी भी चीज का आनन्द नहीं ले सकते या कुछ भी हासिल नहीं कर सकते। किन्तु मनुष्य आज न केवल अच्छे स्वास्थ्य का आनन्द ले रहे हैं बल्कि वे पहले से ज्यादा लम्बे समय तक जीवन जी रहे हैं। उनके बड़े होने के अवसर अधिक बेहतर हो गये हैं।

Question 3.
What is the difference between previous civilizations and modern civilization ?
पूर्वकालिक सभ्यताओं एवं आधुनिक सभ्यता में क्या अन्तर है?
Answer:
Previous civilizations were specialized and limited. They were like oases in a surrounding desert of savagery. But modern civilization is like an oasis which is spreading over the desert. Modern civilization is a far-flung thing. Previous civilizations were destroyed by savages. But, owing to the powers of destruction with which science has armed the modern civilization, it is not possible that such savages or uncivilized people as are left in the world could prevail against it.

पूर्वकालिक सभ्यताएँ विशिष्ट रूप से विकसित एवं सीमित थीं। वे बर्बरता के प्रतिवेशी मरुस्थल के मध्य मरुद्यानों के समान थीं। किन्तु आधुनिक सभ्यता उस मरुद्यान के समान है जो उस मरुस्थल पर फैल रही है। आधुनिक सभ्यता दूर-दूर तक फैली हुई है। पूर्वकालिक सभ्यताएँ बर्बरों द्वारा नष्ट की गई थीं। किन्तु विज्ञान द्वारा विनाश की शक्ति से सज्जित होने के कारण यह सम्भव नहीं है कि ऐसे बर्बर या असभ्य लोग जो संसार में बचे हुए हैं, वे आधुनिक सभ्यता के विरुद्ध प्रबल हो सकें।

Passages for Comprehension

Read the following passages carefully and answer the questions given below them :

Passage 1
First and foremost there are order and safety. If today I have a quarrel with another man, I do not get beaten merely because I am physically weaker and he can knock me down. I go to law, and the law will decide as fairly as it can between the two of us. Thus in disputes between man and man right has taken the place of might. Moreover, the law protects me from robbery and violence. Nobody may come and break into my house, steal my goods or run off with my children. Of course there are burglars. But they are very rare, and the law punishes them whenever it catches them.

It is difficult for us to realize how much this safety means Without safety those higher activities of mankind which make up civilization could not go on. The inventor could not invent, the scientist find out or the artist make beautiful things. Hence, order and safety, although they are not themselves civilization, are things without which civilization would be impossible. They are as necessary to our civilization as the air we breathe is to us, and we have grown so used to them that we do not notice them any more than we notice the air.

1. What are the first and foremost things in our civilization ?
हमारी सभ्यता में प्रथम वे प्रमुख बातें क्या हैं?

2. What has taken the place of might?
शक्ति का स्थान किसने ले लिया है?

3. What does the law protect us from ?
कानून हमारी किससे रक्षा करता है?

4. What does the law do with burglars ?
कानून सेंधमारों का क्या करता है?

5. What could not go on without safety ?
सुरक्षा के बिना क्या जारी नहीं रह सकता था?

6. What are the two things without which our civilization would be impossible ?
वे दो बातें क्या हैं जिनके बिना हमारी सभ्यता असम्भव हो जाती ?

7. Which things make up civilization ?
कौनसी बातें सभ्यता की निर्माण करती हैं? .

8. Why can a physically weaker one not be beaten in our civilization ?
हमारी सभ्यता में किसी शारीरिक रूप से कमजोर व्यक्ति को क्यों नहीं पीटा जा सकता ?

9. Find from the passage the words opposite to the following words
(A) stronger
(B) lower

10. Find from the passage the words which mean
(A) strength
(B) one who breaks into a house to steal
Answers:
1. Order and safety are first and foremost in our civilization.
हमारी सभ्यता में प्रथम व प्रमुख बातें घ्यवस्था और सुरक्षा हैं।

2. In disputes between man and man right has taken the place of might.
मनुष्य के आपसी विवादों में शक्ति का स्थान अधिकार ने ले लिया है।

3. The law protects us from robbery and violence.
कानून हमें लूटपाट और हिंसा से बचाता है।

4. The law punishes the burglars whenever it catches them.
कानून जब भी सेंधमारों को पकड़ता है। तो उन्हें दण्डित करता है।

5. Without safety those higher activities of mankind which make up civilization could not go on.
सुरक्षा के बिना मानव जाति की वे उच्चतर गतिविधियाँ, जो सभ्यता का निर्माण करती हैं, जारी नहीं रह सकती ।।

6. Order and safety are two things without which our civilization would be impossible.
व्यवस्था और सुरक्षा वे दो बातें हैं जिनके बिना हमारी सभ्यता असम्भव हो जाती।

7. The higher activities of mankind, e.g., inventions, discoveries and artistic works make up civilization.
मानव जाति की उच्चतर गतिविधियाँ, यथा-आविष्कार, खोजें और कलात्मक कार्य, सभ्यता का निर्माण करती हैं।

8. Owing to law and order, a physically weaker one cannot be beaten in our civilization.
कानून और व्यवस्था के कारण हमारी सभ्यता में शारीरिक रूप से कमजोर व्यक्ति को पीटा नहीं जा सकता।

9. (A) weaker, (B) higher

10. (A) might, (B) burglar

Passage 2
They are also largely free from the fear of pain. They still feel ill. But since the use of anesthetics become common, illness is no longer the terrible thing it used to be. And people are ill much less often. To be healthy is not to be civilized. Savages are often healthy, although not so often as is usually supposed but unless you have good health, you cannot enjoy anything or achieve anything Thirdly, our civilization is more than any that have gone before it. This is, because it is much more widely spread. Most of the previous civilizations known to history came to an end because vigorous but uncivilized peoples broke in upon them and destroyed them.

Now, whatever the dangers which threaten our civilization, and they are many, it seems likely to escape this one. Previous civilizations were specialized and limited; they were like oases in a surrounding desert of savagery. Sooner or later the desert closed in and the oasis was no more. But today it is the oasis which is spreading over the desert. Modern civilization is a far-flung thing, it spreads over Europe, America and Australia and great parts of Asia and Africa. Practically no part of the world is untouched by it. And, owing to the powers of destruction with which science has armed it, it is exceedingly unlikely that such savages or uncivilized peoples as are left in the world could prevail against it.

1. Why is illness no longer the terrible thing?
बीमारी अब भयानक बात क्यों नहीं रह गई है?

2. What can we not do without good health?
अच्छे स्वास्थ्य के बिना हमें क्या नहीं कर सकते हैं?

3. Which danger does our civilization seem to escape ?
हमारी सभ्यतो किस खतरे से बची हुई लगती है?

4. Which places does modern civilization spread over ?
आधुनिक सभ्यता किन स्थानों पर फैली हुई है?

5. Why can savages or uncivilized people not prevail against the modern civilization ?
बर्बर या असभ्य लोग आधुनिक सभ्यता के विरुद्ध प्रबल क्यों नहीं हो सकते ?

6. What characteristic did the previous civilizations have ?
पहले की सभ्यताओं की क्या विशेषता थी?

7. What is the modern civilization like ?
आधुनिक सभ्यता किस प्रकार की है?

8. Which part of the world is not touched by the modern civilization?
आधुनिक सभ्यता द्वारा विश्व के कौन -से भाग अछूते हैं?

9. Find from the passage the words opposite to the following words
(A) opened
(B) later

10. Write the present forms of following :
(A) became
(B) supposed
Answers:
1. Illness is no longer the terrible thing because the use anesthetics has become conman.
बीमारी अब भयानक बात नहीं रह गई है। क्योंकि निश्चेतक दवाओं का उपयोग आम हो चुका है।

2. Without good health, we cannot enjoy anything or achive anything.
अच्छे स्वास्थ्य के बिना, हम किसी भी चीज को आनन्द नहीं ले सकते या कोई भी चीज प्राप्त पहीं कर सकते।

3. Our civilization seems to escape the danger of uncivilized peoples breaking in and destroying it.
हमारी सभ्यता असभ्य जनसमूह द्वारा घुस आने एवं इसे नष्ट कर देने के खतरे से बची हुई लगती है।

4. Modern civilization spreads over Europe, America and Australia and great parts of Asia and Africa.
हमारी सभ्यता यूरोप, अमरीका, आस्ट्रेलिया, एशिया के बड़े भागों और अफ्रीका में फैली हुई है।

5. Savages or uncivilized peoples cannot prevail against the modern civilization owing to the powers of destruction with which science has armed it.
बर्बर या असभ्य जनसमूह आधुनिक सभ्यता के विरुद्ध प्रबल नहीं हो सकते क्योंकि विज्ञान ने इसे विनाश की शक्ति से सज्जित किया है।

6. The previous civilizations were specialized and limited.
पहले की सभ्यताएँ विशिष्ट रूप से विकसित व सीमित थीं।

7. The modern civilization is like an oasis which is spreading over the desert.
आधुनिक सभ्यता उस मेरुद्यान की भाँति है जो मरुस्थल पर फैल रहा है।

8. Practically no part of the world is untouched by the modern civilization.
व्यावहारिक रूप से संसार का कोई भाग आधुनिक सभ्यता से अछूता नहीं है।

9. (A) closed, (B) sooner

10. (A) become, (B) suppose

Passage 3
A still greater danger comes from war. Although, so far as the buying and selling and exchanging of goods are concerned, the world could and should be a single whole, across its surface there still run the frontiers of the different States. Many of these were fixed in the distant past; some even of the most recent go back a couple of hundred years, go back, that is to say, to a period before the train and the motor-car, the steamship and the aeroplane were invented. Yet these inventions, by making the world so small that I today in England am nearer in travelling time to somebody in India.than my great grand father was to somebody in Scotland, have made nonsense of these national frontiers by which it is still divided.

These divisions, the political divisions, which run between mankind, would not matter greatly, if it were not for the fact of war. Twice already in my lifetime, from 1914 to 1918 and again from 1939 to 1945, almost the whole of the world has been torn by war. Moreover, in the conditions of the present day, any war that starts anywhere is more and more likely to spread everywhere.

1. In which activities could the world be a single whole ?
किन गतिविधियों में संसार एक पूर्ण ईकाई हो सकता है?

2. What is it that still runs on the surface of the world ?
संसार की सतह पर अभी भी क्या कायम है?

3. When were the frontiers of the different States fixed ?
विभिन्न देशों की सीमाएँ कब तय की गई थीं ?

4. What has made nonsense of the national frontiers ?
राष्ट्रीय सीमाओं को किन बातों ने निरर्थक बना दिया है?

5. When did the author witness wars ?
लेखक ने युद्ध कब देखे?

6. What will happen if a war starts in the world ?
यदि संसार में युद्ध में छिड़ जाये तो क्या होगा?

7. Which divisions would not matter greatly ?
किस विभाजन का ज्यादा महत्त्व नहीं रहता?

8. How many times has the whole of the world been almost torn by war ?
पूरा संसार कितनी बार लगभग युद्ध से छिन्न-भिन्न हो गया है?

9. Write from the passage the words opposite in meaning to those given below-
(A) same
(B) farther

10. Join the following sentences using ‘Although’ :
My health was not good. I managed to climb the hill.
Answers:
1. The world could be a single whole in buying and selling and exchanging of goods.
वस्तुओं के खरीदने, बेचने व विनिमय में संसार एक पूर्ण ईकाई हो सकता है।

2. The frontiers of the different States still run on the surface of the world.
संसार की सतह पर अभी भी विभिन्न देशों की सीमाएँ। कायम हैं।

3. The frontiers of many countries were fixed in the distant past. Some frontiers were fixed only a couple of hundred years ago.
बहुत से देशों की सीमाएँ काफी प्राचीन अतीत में तय की गई थीं। कुछ सीमाएँ कुछ ही सैंकड़ों वर्षों पहले तय की गईं।

4. The inventions of the means of transportation have made nonsense of the national frontiers.
यातायात के साधनों के आविष्कारों ने राष्ट्रीय सीमाओं को निरर्थक बना दिया है।

5. The author witnessed wars from 1914 to 1918 and from 1939 to 1945.
लेखक ने वर्ष 1914 से 1918 एवं वर्ष 1939 से 1945 के मध्य युद्ध देखे।

6. If a war starts anywhere in the world, it is more and more likely to spread everywhere.
यदि संसार में कहीं युद्ध छिड़ जाये, तो इसके प्रत्येक जगह फैलने की पूर्ण सम्भावना है।

7. Political divisions which run between mankind would not matter greatly.
राजनीतिक विभाजन जो मानव जाति के बीच कायम हैं इनक महत्त्व ज्यादा नहीं रहता।।

8. The whole of world has been almost torn twice by war.
पूरा संसार लगभग दो बार युद्ध से छिन्न-भिन्न हो गया है।

9. (A) different, (B) nearer

10. Although my health was not good, I managed to climb the hill.

Passage 4
Yet another great defect of our civilization is that it does not know what to do with its knowledge. Science has given us powers fit for the gods, yet we use them like small children. For example, we do not know how to manage our machines. Machines were made to be man’s servants; yet he has grown so dependent on them that they are in a fair way to become his masters. Already most men spend most of their lives looking after and waiting upon machines. And the machines are very stern masters.

They must be fed with coal, and given petrol to drink, and oil to wash with, and must be kept at the right temperature. And if they do not get their meals when they expect them, they grow sulky and refuse to work, or burst with rage, and blow up, and spread ruin and destruction all round them. So we have to wait upon them very attentively and do all that we can to keep them in a good temper. Already we find it difficult either to work or play without the machines, and a time may come when they will rule us altogether. Just as we rule the animals. Being civilized means making and liking beautiful things, thinking freely and living rightly and maintaining justice equally between man and man.

1. What does our civilization not know?
हमारी सभ्यता क्या नहीं जानती है?

2. What has science given us ?
विज्ञान ने हमें क्या दिया है?

3. Why were machines made ?
मशीनें क्यों बनाई गई र्थी ?

4. How do most men spend most of their lives?
अधिकांश लोग अपना अधिकांश जीवन कैसे बिताते हैं?

5. When do machines refuse to work ?
मशीनें काम करने से कब इन्कार करती हैं?

6. What should we do with machines ?
हमें मशीनों के साथ क्या करना चाहिए?

7. What work can we not do without machines?
हम मशीनों के बिना क्या काम नहीं कर सकते?

8. Who are very stern masters ?
बहुत ही सख्त मालिक कौन होते हैं?

9. Find from the passage the words opposite in meaning to those given below
(A) wrong
(B) construction

10. Find from the passage the words which mean
(A) a person who remains silent because he is displeased.
(B) deny
Answers:
1. Our civilization does not know what to do with its knowledge.
हमारी सभ्यता अपने ज्ञान का उपयोग करना नहीं जानती।

2. Science has given us powers fit for gods.
विज्ञान ने हमें देवताओं के तुल्य शक्तियाँ प्रदान की हैं।

3. Machines were made to be man’s servants.
मशीनों को मनुष्य के नौकर होने के लिए बनाया गया था।

4. Most men spend most of their lives looking after and waiting upon the machines.
अधिकांश लोग अपना अधिकांश जीवन मशीनों की देखभाल करने व उनकी देखभाल करने में बिताते हैं।

5. If machines do not get their meals (fuel) when they expect them, they refuse to work.
यदि मशीनों को उनकी आशा के समय भोजन (ईंधन) नहीं मिले तो वे काम करने से इन्कार कर देती हैं।

6. We should wait upon machines very attentively and do all that we can to keep them in a good temper.
हमें मशीनों की बड़ी सावधानीपूर्वक देखभाल करनी चाहिए और उन्हें अच्छे मिजाज में रखने के लिए यथासम्भव प्रयास करना चाहिए।

7. We find it difficult to work or play without machines.
मशीनों के बिना हमें कार्य करना और खेलना कठिन लगता है।

8. Machines are very stern masters. मशीनें बहुत ही सख्त मालिक होती हैं।

9. (A) right, (B) destruction

10. (A) sulky, (B) refuse

Word-meanings and Hindi Translation

First and …………………………… notice the air. (Page 57)

Word-meanings : foremost (फॉ:मोस्ट) = प्रमुख, मुख्य। order (ऑ:डॅ) = state of law, व्यवस्था। Let beaten (गेट बिटन्) = पीटा जाना। weaker (वीक) = ज्यादा कमजोर। knock down (नॉक् डाउन्) = हरा देना, गिरा देना। go to law (गो ट लॉ) = न्यायालय में मुकदमा करना। fairly (फेअॅ:लि) = न्यायपूर्वक, उचित रूप से। disputes (डिस्प्यूट्स्) = विवाद। right (राइट) = अधिकार। might (माइट) = strength, शक्ति। protects (प्रंटेक्ट्स् ) = रक्षा करता है। robbery (रॉबरि) = डकैती, लूटपाट । violence (वॉइलॅन्स्) = हिंसा। break into (ब्रेक् इनटु) = सेंध लगाना। steal (स्टील्) = चोरी करना। goods (गुड्ज़) = सामान, माल। burglars (बॅ:ग्लॅज़) = चोर, सेंधमार। rare (रेों) = (here) यदा-कदा, दुर्लभ। catches (कैचिज़) = पकड़ता है। higher (हाइों) = उच्चतर। mankind (मैन्काइण्ड्) = मानव-जाति। make up (मेक अप्) = गढ़ना, बनाना। civilization (सिविलाइज़ेशन्) = सभ्यता। go on (गो ऑन्) = continue, जारी रहना। inventor (इन्वेन्टॅअ) = अविष्कारक। artist (आटिस्ट्) = कलाकार। breathe (ब्रीद्) = सांस लेना। have grown (हेव् ग्रोन) = बन गए हैं, हो गए हैं। used (यूज्ड्) = अभ्यस्त। notice (नोटिस्) = देख लेना, ध्यान देना।

हिन्दी अनुवाद-प्रथम व प्रमुख बात है कि व्यवस्था और सुरक्षा कायम है। यदि आज मैं किसी अन्य व्यक्ति से झगड़ता हूँ, तो मेरी मात्र इसलिए पिटाई नहीं होती है कि मैं शारीरिक रूप से ज्यादा कमजोर हूँ और वह मुझे हरा सकता है। मैं कानून की शरण में जाता हूँ, और कानून ही यथासम्भव न्यायोचित ढंग से हम दोनों के मध्य निर्णय करेगा। इस प्रकार एक व्यक्ति के दूसरे व्यक्ति के मध्य विवादों में शक्ति का स्थान अधिकार ने ले लिया है। इसके अतिरिक्त, कानून लूटपाट और हिंसा से मेरी रक्षा करता है। कोई भी व्यक्ति मेरे घर में प्रवेश नहीं कर सकता है और सेंध नहीं लगा सकता है, न मेरी चीजों को चुरा सकता है या मेरे बच्चों को लेकर भाग सकता है। निसन्देह, सेंधमार (चोर) होते हैं। किन्तु वे बहुत ही दुर्लभ हैं और जब-जब वे पकड़े जाते हैं, कानून उन्हें दण्ड देता है। हमारे लिए यह महसूस करना कठिन है कि यह सुरक्षा कितनी मायने रखती है। सुरक्षा के बिना मानव जाति की वे उच्चतर गतिविधियाँ, जो सभ्यता को गढ़ती हैं, जारी नहीं रह सकी। (बिना सुरक्षा के) आविष्कारक आविष्कार नहीं कर सकता, वैज्ञानिक खोज नहीं कर सकता या कलाकार सुन्दर चीजें नहीं बना सकता। इस प्रकार व्यवस्था व सुरक्षा, हालांकि ये स्वयं ही सभ्यता नहीं हैं, किन्तु ये ऐसी बातें हैं कि इनके बिना सभ्यता असम्भव होगी। वे हमारी सभ्यता के लिए उतनी ही आवश्यक हैं जितनी वायु जिससे हम सांस लेते हैं, तथा हम इन बातों के इतने अभ्यस्त हो गए हैं कि हम उनकी ओर उसी प्रकार ध्यान नहीं देते हैं जिस प्रकार हम वायु पर ध्यान नहीं देते हैं।

For all that, …………………………… growing up.(Page 57)

Word-meanings : for all that (फॉर् ऑल् देट्) = के बावजूद। except (इक्सॅप्ट) = सिवाय, के अलावा। period (पीरिअॅड्) = अवधि। achievement (ॲचीवमॅण्ट) = उपलब्धि। civilized (सिविलाइज़्ड्) = सभ्य। lives (लाइव्ज़) = जीवन। practically (प्रेक्टिकॅलि) = व्यावहारिक रूप से, वास्तव में। fear (फिों ) = भय। violence (वॉइलॅन्स्) = हिंसा। largely (ला:ज्लि) = अधिकांशतः। anaesthetics (ऐनिस्थटिक्स्) = निश्चेतक, संवेदनाहारी। common (कॉमन्) = आम, साधारण। terrible (टैरिबल्) = भयानक । civilized (सिवलाइज्ड्) = सभ्य। savages (सैविजिज्) = क्रूर, असभ्य। often (ऑफॅन्) = अक्सर । supposed (सॅपोज़्ड्) = माना जाना। unless (अन्लेस्) = जब तक नहीं। health (हेल्थ्) = स्वास्थ्य। achieve (ॲचीव) = प्राप्त करना। invalids (इन्वेलिड्ज़) = असमर्थ, अशक्त, रोगी। in spite of (इन स्पाइट ऑव्) = के बावजूद। ill-health (इल हेल्थ्) = खराब स्वास्थ्य। well (वे:ल्) = स्वस्थ, निरोग। chance (चान्स्) = अवसर। of growing up (ऑव् ग्रोईंग अप्) = बड़ा होने के, वयस्क होने के।

हिन्दी अनुवाद-इसके बावजूद, वे (अर्थात् व्यवस्था व सरक्षा) नवीन बातें भी हैं और दर्लभ भी हैं। रोमन साम्राज्य के अधीन एक छोटी सी अवधि के अलावा, यूरोप में व्यवस्था व सुरक्षा केवल गत दो सौ वर्षों के दौरान ही रही है और उस समय के दौरान भी दो क्रान्तियाँ हुई हैं और अनेक युद्ध हुए हैं। इस प्रकार यह हमारी सभ्यता की महान उपलब्धि है कि आज सभ्य मानव अपने साधारण दैनिक जीवन में हिंसा के भय से व्यावहारिक रूप से मुक्त हो। वे दर्द के भय से भी अधिकांशतः मुक्त हैं। वे आज भी बीमार तो महसूस करते हैं। लेकिन जब से निश्चेतक दवाओं का प्रयोग आम हुआ है, बीमारी अब उतनी भयानक बात नहीं रह गई है जितनी ये हुआ करती थी। और लोग अक्सर बहुत कम बीमार होते हैं। स्वस्थ होने का मतलब सभ्य होना नहीं है असभ्य लोग भी अक्सर स्वस्थ होते हैं, यद्यपि अक्सर इतने स्वस्थ नहीं होते जैसा कि सामान्यतया माना जाता है, किन्तु यदि तुम्हारा स्वास्थ्य अच्छा नहीं है, तो तुम किसी भी चीज का आनन्द नहीं ले सकते या कुछ भी प्राप्त नहीं कर सकते। यह सत्य है कि ऐसे महान लोग भी हुए हैं जो असमर्थ (अशक्त) रहे हैं लेकिन उनके खराब स्वास्थ्य के बावजूद उनके द्वारा अच्छा कार्य किया गया, हालांकि उनका कार्य अच्छा रहा, लेकिन उनका कार्य और भी अच्छा (बेहतर) हो सकता था यदि वे स्वस्थ रहे होते। स्त्री व पुरुष न केवल बेहतर स्वास्थ्य का आनन्द लेते हैं, वे पूर्व की अपेक्षा ज्यादा समय तक जीवन जीते हैं, और उनके वयस्क होने के बेहतर अवसर उन्हें मिलते हैं।

Thirdly, our …………………………… against it. (Page 58)

Word-meanings : civilization (सिविलाइज़ेशन्) = सभ्यता। widely (वाइड्लि) = विस्तृत रूप से। spread (स्प्रेड्) = फैली हुई। previous (प्रीविॲस्) = पूर्व, पहला। vigorous but uncivilized (विगरस बट् अनसिवलाईज्ड्) = ताकतवर लेकिन असभ्य। broke in upon them (ब्रोक इन अपॉन् देम्) = उनके मध्य घुस आये। threaten (थ्रेटॅन्) = धमकी देना, जोखिम में डालना। seems (सीम्ज़) = प्रतीत होता है। likely (लाइक्लि ) = संभावनीय, बहुत सम्भव। escape (इस्केप्) = बच जाना, निकल जाना। specialized (स्पेशलाइज्ड्) = विशिष्ट, विशिष्ट उद्देश्य से विकसित। oases (ओएसिस्) = (बहुवचन) मरुद्यानों, नखलिस्तानों। surrounding (सॅराउण्डिंग्) = आस-पास का, प्रतिवेशी। desert (डेजेंट) = रेगिस्तान, मरुस्थल । savagery (सैविजेंरि) = बर्बरता, जंगलीपन। oasis (ओएसिस) (एकवचन) = मरुद्यान। sooner or later (सून ऑ लेट) = कभी न कभी। closed in (क्लोजूड इन्) = पास आये। far-flung (फा:फ्लंग) = दूर-दूर तक फैली हुई, सुदूर, विस्तीर्ण। practically (प्रेक्टिकॅलि) = व्यावहारिक रूप से, वास्तव में। powers (पाउॲ:ज्) = शक्तियाँ। destruction (डिस्ट्रॅक्शन्) = विनाश, ध्वंस। armed (आम्ड्) = शस्त्र-सज्जित किया, कवचित किया। exceedingly (इक्सीडिंग्लि) = अत्यधिक रूप से, अत्यन्त unlikely (अन्लाइक्लि) = असम्भव। uncivilized (अन्सिविलाइज़्ड्) = असभ्य। prevail (प्रिवेल्) = प्रबल होना, सफल होना।

हिन्दी अनुवाद-तीसरी बात यह है, कि हमारी सभ्यता इससे पूर्व की किसी भी सभ्यता से बहुत कुछ ज्यादा है। ऐसा इसलिए है कि ये अत्यधिक विस्तृत रूप से फैली हुई है। इतिहास में दर्ज अधिकांश पूर्व की सभ्यताएँ समाप्त हो गईं क्योंकि ताकतवर लेकिन असभ्य लोग उनमें घुस आये और उन्हें नष्ट कर दिया। अब, अनेक ऐसे खतरे हैं जो हमारी सभ्यता को जोखिम में डालते हैं। किन्तु ऐसा सम्भव प्रतीत होता है कि यह (हमारी वर्तमान सभ्यता) इस एक (बर्बर और असभ्य लोगों के) खतरे से बच गई है। पूर्व की सभ्यताएँ विशिष्टतापूर्ण एवं सीमित थीं; वे असभ्यों के प्रतिवेशी या आसपास के मरुस्थल में मरुद्यानों के समान थीं। कभी न कभी मरुस्थल पास आए और मरुद्यान समाप्त हो गया। किन्तु आज तो यह मरुद्यान ही है जो मरुस्थल के ऊपर फैला हुआ है। आधुनिक सभ्यता दूर-दूर तक फैली हुई है, यह यूरोप, अमरीका, आस्ट्रेलिया, एशिया के बड़े भागों और अफ्रीका में फैली हुई है। वास्तव में विश्व का कोई भाग इससे अछूता नहीं है। और विज्ञान द्वारा शस्त्र-सज्जित विनाश की शक्तियों के कारण यह अत्यन्त असम्भव है कि ऐसे बर्बर या असभ्य जनसमूह जो संसार में बच गए हैं इसके विरुद्ध प्रबल हो सकें।

Thus the …………………………… our defects.(Page 58)

Word-meanings : unity (यूनिटि) = एकता, इकाई। exchange (इक्स्चे न्ज्) = आदान-प्रदान, विनिमय। concern (कॅन्सॅन) = सम्बन्ध होना। instead of (इन्स्टेड ऑव) = की बजाय। separate (सेपॅरिट) = पृथक्, अलग। shut off (शट ऑफ) = बन्द । centuries (सेन्चरीज़) = शताब्दियाँ। nations (नेरॉन्ज़) = राष्ट्र। box (बॉक्स) = (here) a small confined area, सीमित क्षेत्र। holding (होल्डिंग्) = करते हुए, रखते हुए। communication (कॅम्यूनिकेशन्) = संवाद, सम्बन्ध। except (इक्सेप्ट) = सिवाय । invaded (इन्वेडिड्) = हमला किया, आक्रमण किया, घुस आये। constant (कॉन्स्टॅण्ट) = निरन्तर, सतत। sides (साइड्ज़) = किनारे। breaking down (ब्रेकिंग डाउन्) = टूट रहे। enormous (इनॉ:मॅस्) = विशाल, दीर्घाकार। breaking in (ब्रेकिंग इन्) = घुस पड़ना, सेंध लगाना। rather (रा) = उलटे, बेशक । bring to (ब्रिग ट) = सचेत करना। defects (डिफेक्ट्स् ) = दोष, खराबी।

हिन्दी अनुवाद-इस प्रकार संसार में अब पहली बार एक एकल समष्टि (सम्पूर्ण इकाई) बनने का अवसर आया है। जहाँ तक खरीदने, बेचने और वस्तुओं के आदान-प्रदान का सम्बन्ध है, तो इस बात में यह पहले से ही एक इकाई हो चुकी है। पहली बार एक-दूसरे से बन्द अनेक पृथक्-पृथक् स्थानों की बजाय संसार एक एकल स्थल बन रहा है। कोई कह सकता है कि शताब्दियों तक मानव जाति के राष्ट्र बहुत से पृथक्-पृथक् सीमित क्षेत्रों में रहे और एक दूसरे से कोई संवाद नहीं रखा, सिवाय इसके कि जब एक सीमित क्षेत्र के लोग दूसरे सीमित क्षेत्र में रहने वाले लोगों पर हमला कर देते थे और कुछ सीमित क्षेत्र तो बिल्कुल ही अछूते रहे अर्थात् वहां के निवासी अपने ही क्षेत्र में रहे आए। न वे बाहर गए और न कोई उनके यहां आया। आज इन सीमित क्षेत्रों के बीच निरन्तर आवाजाही है, यह आवाजाही इतनी अधिक है कि इन क्षेत्रों के किनारे ध्वस्त हो रहे हैं अर्थात् इनकी सीमाएं समाप्त हो रही हैं और संसार एक विशाल क्षेत्र के समान दिखने लग गया है। ऐसा कोई खतरा नहीं है कि कोई अनजान लोग बाहर से हमारी सभ्यता में घुस पड़े और इसे नष्ट कर दे। खतरा तो उलटे इसके अन्दर से ही आ रहा है। यह खतरा हमारे बीच से ही है। यह मुझे हमारे दोषों के प्रति सचेत करता है।

In democratic …………………………… and arrows. (Page 58)

Word-meanings : democratic (डेमोक्रॅटी) = लोकतान्त्रिक। voice (वॉइस्) = आवाज (यहाँ) अधिकार, बोलने का अधिकार। govern (गॅवॅन्) = शासन करना। sharing-out (शेअरिंग-आउट) = बँटाई, साझेदारी। clothing (क्लॉटिंग्) = पहनावा, आवरण। unfair (अन्फेों ) = पक्षपातपूर्ण, अनुचित। luxury (लक्शरि) = विलासिता, ऐश। dreadful (ड्रेड्फ़ल) = भयानक। are born (आर बॉन्) = पैदा होते हैं। afford (अफॉ:ड्) = समर्थ होना, खर्च दे सकना। delightful (डिलाइट्फल्) = आनन्दप्रद, रुचिकर । far from perfect (फ़ा फ्रॉम् पफेक्ट) = अपूर्ण। single whole (सिंगल् होल्) = एकल समष्टि (अर्थात् सम्पूर्ण रूप से एक)। surface (सें:फिस्) = सतह। run (रन) = होना, पाया जाना। frontiers (फ्रण्टिअज़) = सीमाएँ। States (स्टेट्स) = देश। distant (डिस्टॅण्ट) = दूर, दूरस्थ। recent (रीसॅण्ट) = नूतन, हाल का। a couple of (अ कपल ऑव) = कुछ। steamship (स्टीशिप) = धूम्रपोत, वाष्प इंजन से चलने वाला जहाज। invented (इन्वेण्टिड्) = अविष्कार हुआ। nonsense (नॉनसॅन्स्) = व्यर्थ, निरर्थक। divisions (डिविजॅन्ज़) = खण्ड, विभाजन। matter (मैट) = महत्व रखना। twice (ट्वाइस्) = दो बार। lifetime (लाइफटाइम्) = जीवनकाल। tear (टिों) = फाड़ना, नष्ट करना। conditions (कण्डिशन्ज) = परिस्थितियाँ, हालात। anywhere (एनिवेों) = कहीं। spread (स्प्रेड्) = फैलना। match (मैच्) = दियासलाई। hay-rick (हे-रिक्) = भूसे या सूखी घास का बड़ा ढेर। ablaze (अॅब्लेज़) = प्रज्ज्वलित, प्रदीप्त। lying about (लाइंग अबाउट) = इधर-उधर पड़ा हुआ। jokingly (जोकिंग्लि) = मजाक में, दिल्लगी में। bows (बोज़) = धनुष। arrows (ऐरोज़) = बाण।

हिन्दी अनुवाद-लोकतान्त्रिक देशों में मनुष्य कानून के समक्ष समान हैं और उन्हें यह तय करने का अधिकार है कि उन पर कैसे और किसके द्वारा शासन किया जायेगा। लेकिन अभी भी धन की बँटाई (धन का विभाजन)-जिसका तात्पर्य है भोजन, पहनावा, मकान, पुस्तक इत्यादि की बँटाई (विभाजन)-बहुत अनुचित है। कुछ थोड़े लोग विलासिता में जीवन जीते हैं, जबकि बहुत से लोगों के पास खाने-पीने व पहनने के लिए भी पर्याप्त नहीं है। विश्व के श्रेष्ठतम शहरों में भी हजारों लोग भयानक परिवेश में रहते हैं। पाँच या छ: व्यक्तियों वाले ऐसे अनेक परिवार हैं जो एक ही कमरे में रहते हैं, वे इसी कमरे में सोते हैं, कपड़े पहनते हैं, नहाते हैं और अपना भोजन करते हैं, इसी कमरे में वे जन्म लेते हैं और इसी कमरे में वे मर जाते हैं। और वे आनन्द के लिए इस प्रकार नहीं रहते हैं बल्कि इसलिए क्योंकि वे गरीब हैं और दूसरे कमरे का खर्च नहीं दे सकते। मैं सोचता हूँ कि यह स्पष्ट है कि जब तक प्रत्येक को आवश्यक एवं आनन्दपूर्ण वस्तुओं का उचित हिस्सा नहीं मिलेगा तब तक हमारी सभ्यता अपूर्ण रहेगी। . एक अधिक बड़ा खतरा युद्ध से है। यद्यपि, जहाँ तक वस्तुओं के खरीदने, बेचने व विनिमय का सम्बन्ध है, तो संसार पूर्ण एक इकाई हो सकता है और हो जाना चाहिए, इस संसार की सतह पर अब भी विभिन्न देशों की सीमाएँ स्थित हैं। इनमें से बहुत सी सीमाएँ काफी प्राचीन अतीत में तय की गई थीं; कुछ काफी नूतन भी हैं जो कुछेक सैकड़ों वर्ष ही पुरानी हैं, अर्थात् ट्रेन, मोटर कार, भाप के इंजन से चालित जहाज और हवाई जहाज के आविष्कार से पूर्व के समय की हैं। फिर भी इन आविष्कारों ने संसार को इतना छोटा बनाकर यात्रा का समय इतना कम कर दिया है कि आज मैं इंग्लैण्ड में भारत में किसी व्यक्ति के पास यात्रा करने के समय के लिहाज से ज्यादा नजदीक हो गया हूँ बजाय मेरे दादाजी के जो स्कॉटलैण्ड में किसी व्यक्ति के पास यात्रा करने में जितना समय लेते थे। इन आविष्कारों ने इन राष्ट्रीय सीमाओं को निरर्थक बना दिया है जिनके द्वारा यह संसार अभी भी बँटा हुआ है। यदि युद्ध की बात ही न हो तो ये विभाजन, अर्थात् राजनीतिक विभाजन जो मानव जाति के बीच कायम हैं इनका ज्यादा महत्व नहीं रहता। मेरे जीवनकाल में पहले से ही दो बार, 1914 से 1918 तक और पुनः 1939 से 1945 तक लगभग पूरा संसार ही युद्ध से छिन्न-भिन्न हो चुका है। इसके अतिरिक्त, आज के हालात में, कोई भी युद्ध चाहे कहीं भी शुरू हो उसके हर जगह फैलने की पूरी-पूरी सम्भावना है। एक दियासलाई भूसे के ढेर को प्रज्ज्वलित कर देगी और यह युद्ध का सारा साजो-सामान जो इधर-उधर पड़ा हुआ है इससे यह संसार पुनः एक भूसे के ढेर की तरह हो गया है जो उस दियासलाई के इन्तजार में है। किसी ने तो मजाक में यह भी कहा है कि अगले युद्ध में तो आदमी परमाणु बमों से लड़ेगा और उसके बाद जो युद्ध होगा उसमें आदमी धनुष-बाण से लड़ेगा।

Yet another …………………………… ever been.(Pages 59-60)

Word-meanings : defect (डिफेक्ट) = दोष। fit for = उपयुक्त, के योग्य। manage (मैनिज्) = संचालन करना, प्रबन्ध करना। machines (मशीन्ज़) = मशीन, यन्त्र। masters (मास्टॅ:) = स्वामी। looking after (लुकिंग आफ्टः ) = देखभाल करते हुए। waiting upon (वेटिंग अपान) = देखभाल करते हुए। stern (स्टॅ:न्) = सख्त, निर्दय। must be fed (मस्ट बी फेड) = भोजन मिलना चाहिए। temperature (टेम्पॅरॅचर) = ताप, तापमान। sulky (सॅल्कि) = रुष्ट, नाराज। refuse (रिफ्यूज़) = इन्कार करना। burst (बॅस्ट) = फटना। rage (रेज) = रोष, क्रोधोन्माद । blow up (ब्लो अप) = विस्फोट होना, फूट पड़ना। ruin (रुइन्) = विध्वंस, बरबादी। destruction (डिस्ट्रॅक्शन्) = विनाश। wait upon (Phrasal Verb) (वेट अपॉन) = take care of (उचित) देखभाल करना। attentively (अटेन्टिक्लि ) = सावधान या सतर्क होकर। temper (टेम्पॅ:) = मिजाज, स्वभाव। altogether (ऑल्टंगेः ) = पूर्ण रूप से। being (बीइंग्) = होना। civilized (सिवलाइज़्ड्) = सभ्य। maintaining (मेन्टेनिंग्) = बनाये रखते हुए, कायम रखते हुए। universe (यूनिवे:स्) = ब्रह्माण्ड, विश्व। removing (रिमूविंग) = हटाना। quarrels (क्वॉरल्ज़) = झगड़े। discovering (डिस्कॅरिंग्) = खोज करना। prevent (प्रिवेण्ट) = रोकना। poverty (पॉवॅटि) = गरीबी, निर्धनता। undoubtedly (अॅन्डाउटिड्लि) = निस्सन्देह। most lasting (मोस्ट लास्टिंग) = likely to last for the longest period of time, चिरस्थायी।

हिन्दी अनुवाद-फिर भी हमारी सभ्यता का एक और बड़ा दोष यह है कि यह यह नहीं जानती कि अपने ज्ञान का क्या करे। विज्ञान ने हमें देवताओं जैसी शक्तियाँ प्रदान की हैं, फिर भी हम उन्हें छोटे बच्चों की भाँति काम में लेते हैं। उदाहरण के लिए, हम अपनी मशीनों का संचालन करना नहीं जानते। मशीनों को आदमी का नौकर होने के लिए बनाया गया था; किन्तु आदमी उन पर इतना निर्भर हो गया है कि वे अब सचमुच में आदमी की स्वामी बनने वाली हैं। पहले से ही अधिकांश मनुष्य अपना अधिकांश जीवन मशीनों की देखभाल करने और उनकी देखभाल में बिताते हैं। और मशीन बहुत ही सख्त मालिक होती हैं। उन्हें भोजन के रूप में,कोयला और पीने के लिए पेट्रोल और धोने के लिए तेल मिलना चाहिए तथा उन्हें सही तापमान पर रखा जाना चाहिए। और यदि उन्हें जब वे चाहें तब भोजन नहीं मिले तो वे रुष्ट हो जाती हैं और काम करने से इन्कार कर देती हैं या रोष से फट जाती हैं और विस्फोट से उड़ जाती हैं और अपने चारों ओर बरबादी और विनाश फैला देती हैं। इसलिए हमें बड़ी सावधानीपूर्वक उनकी देखभाल करनी चाहिए और हमें वह सब करना चाहिए जो उन्हें अच्छे मिजाज में रखने के लिए हम कर सकते हैं। अभी तक हमें मशीनों के बिना कार्य करना या खेलना कठिन लगता है, और एक समय ऐसा आ सकता है जब वे हमारे ऊपर पूर्ण रूप से शासन करेंगी; ठीक उसी प्रकार से जिस प्रकार हम जानवरों ‘ पर शासन करते हैं। सभ्य होने का अर्थ है सुन्दर वस्तुओं को बनाना व पसन्द करना, स्वतन्त्र रूप से सोचना और सही ढंग से जीवन जीना एवं जन-जन के मध्य न्याय को समान रूप से कायम रखना। आज मनुष्य के पास इन कामों को करने के लिए पहले से कहीं अधिक बेहतर अवसर है। उसके पास अधिक समय है, अधिक ऊर्जा है और स्वयं के द्वारा रचे गये खतरों के सिवाय उसे न किसी खतरे से डरना है न ही किसी खतरे से लड़ना है। मनुष्य का जो समय व ऊर्जा मशीनों ने बचाया है यदि वह अपना यह समय और ऊर्जा ज्यादा सुन्दर चीजों को बनाने में, ब्रह्माण्ड के बारे में ज्यादा और ज्यादा पता लगाने में, राष्ट्रों के मध्य झगड़ों के कारणों को खत्म करने में, गरीबी को रोकने के उपाय खोजने में लगा दे, तब मैं यह समझूगा कि हमारी सभ्यता निस्सन्देह रूप से महानतम होगी, क्योंकि यह अब की सभ्यताओं में सर्वाधिक चिरस्थायी होगी।

All Chapter RBSE Solutions For Class 9 English Hindi Medium

All Subject RBSE Solutions For Class 9 Hindi Medium

Remark:

हम उम्मीद रखते है कि यह RBSE Class 9 English Solutions in Hindi आपकी स्टडी में उपयोगी साबित हुए होंगे | अगर आप लोगो को इससे रिलेटेड कोई भी किसी भी प्रकार का डॉउट हो तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूंछ सकते है |

यदि इन solutions से आपको हेल्प मिली हो तो आप इन्हे अपने Classmates & Friends के साथ शेयर कर सकते है और HindiLearning.in को सोशल मीडिया में शेयर कर सकते है, जिससे हमारा मोटिवेशन बढ़ेगा और हम आप लोगो के लिए ऐसे ही और मैटेरियल अपलोड कर पाएंगे |

आपके भविष्य के लिए शुभकामनाएं!!

Leave a Comment

Your email address will not be published.