Class12 Chemistry Notes

धातु का शोधन किसे कहते हैं

धातु का शोधन किसे कहते हैं?

धातु का शोधन: धातुओं के शोधन को अनेक विधियाँ है , ये विधियाँ अशुद्धियो तथा धातुओं की प्रकृति पर निर्भर करती है। 1. विधुत – अपघटनी विधि: इस विधि में अशुद्ध धातु का एनोड  तथा शुद्ध धातु का कैथोड बनाते हैं| उसी धातु के किसी घुलनशील लवण का विलयन विधुत अपघट्य के रूप में प्रयुक्त किया …

धातु का शोधन किसे कहते हैं? Read More »

वेग स्थिरांक की परिभाषा _ इकाई

वेग स्थिरांक की परिभाषा | इकाई

हेलो दोस्तों हम आपको इस पोस्ट में वेग स्थिरांक की परिभाषा और इकाई के बारे में बताएंगे तो पोस्ट को अंत तक पढ़े | वेग स्थिरांक किसे कहते है: वह अभिक्रिया वेग जब क्रियाकारकों की सांद्रता को इकाई मान ले उस स्थिति में अभिक्रिया के वेग को वेग स्थिरांक कहते है।याद रखिये कि वेग स्थिरांक …

वेग स्थिरांक की परिभाषा | इकाई Read More »

Class 12 Chemistry Notes in Hindi

Class 12 Chemistry Notes in Hindi | कक्षा 12 रसायन विज्ञान हिन्दी नोट्स

हेलो स्टूडेंट, इस पोस्ट में आप Class 12 Chemistry Notes in Hindi के नोट्स है | इस पेज में आपको Class 12th Chemistry  के chapter wise लिंक दिए गए है जिससे आप आसानी से उस चैप्टर के सभी टॉपिक के बारे में पढ़ सकते हो |  Class 12 Chemistry Notes in Hindi ठोस अवस्था –  …

Class 12 Chemistry Notes in Hindi | कक्षा 12 रसायन विज्ञान हिन्दी नोट्स Read More »

सेत्जेफ नियम [ Saytzeff’s Rule] _ वुर्ट्ज अभिक्रिया

सेत्जेफ नियम [ Saytzeff’s Rule] | वुर्ट्ज अभिक्रिया

सैत्जेफ नियम क्या है: जब किसी एल्किल हैलाइड का विहाइड्रो हैलोजनीकरण किया जाता है तो वह एल्कीन ज़्यादा बनती है जिससे द्विबंध से जुड़े कार्बन पर अधिक एल्किल समूह जुड़े हो। उपरोक्त क्रिया में α कार्बन से हैलोजन तथा β कार्बन से H – निकलता है अतः इसे β विलोपन भी कहते है। KCN से क्रिया करने पर सायनाइड बनते है।  …

सेत्जेफ नियम [ Saytzeff’s Rule] | वुर्ट्ज अभिक्रिया Read More »

ठोस की सतह पर गैसों का अधिशोषण को प्रभावित करने वाले कारक

ठोस की सतह पर गैसों का अधिशोषण को प्रभावित करने वाले कारक

ठोस पदार्थों की सतहों पर गैसों का अधिशोषण अग्रलिखित कारकों पर निर्भर करता है| 1. अधिशोषक की प्रकृति, पृष्ठ क्षेत्रफल तथा प्रविभाजित अवस्था: ठोस अधिशोषक की सतह पर एक अवशिष्ट बल क्षेत्र  का होना आवश्यक है। यह क्षेत्र जितना अधिक होगा, उसमें अधिशोषण की प्रवृत्ति उतनी ही अधिक होगी। चूंकि अधिशोषण एक पृष्ठ घटना है, …

ठोस की सतह पर गैसों का अधिशोषण को प्रभावित करने वाले कारक Read More »

वेग स्थिरांक व अभिक्रिया वेग में अंतर

वेग स्थिरांक व अभिक्रिया वेग में अंतर

वेग स्थिरांक की परिभाषा : वह अभिक्रिया वेग जब क्रियाकारकों की सांद्रता को इकाई मान ले उस स्थिति में अभिक्रिया के वेग को वेग स्थिरांक कहते है। याद रखिये कि वेग स्थिरांक को ही विशिष्ट अभिक्रिया वेग भी कहते है। वेग स्थिरांक व अभिक्रिया वेग में अंतर: वेग स्थिरांक  अभिक्रिया वेग  1. जब क्रियाकारको की सांद्रता एक इकाई …

वेग स्थिरांक व अभिक्रिया वेग में अंतर Read More »

मोलरता और मोललता में अंतर

मोलरता और मोललता में अंतर क्या है?

मोलरता और मोललता में अंतर: मोललता की परिभाषा: एक किलोग्राम विलायक में किसी विलेय की मोलो की संख्या को मोललता कहते है। इसे m ( small m) से व्यक्त करते है। मोललता की इकाई मोल/kg है। मोलरता: एक लीटर विलायक में किसी विलेय की मोलो की संख्या को मोलरता कहते है। इसे M ( Capital M )से …

मोलरता और मोललता में अंतर क्या है? Read More »

आदर्श विलयन और अनादर्श विलयन में अंतर

आदर्श और अनादर्श विलयन में अंतर क्या है?

आदर्श और अनादर्श विलयन में अंतर:  आदर्श विलयन  अनादर्श विलयन  1. सांद्रता व ताप की सभी रेंज में राउल्ट के नियम की पालना करते है।  राउल्ट के नियम का अनुसरण नहीं होता है।  2. अवयवो से मिलकर विलयन बनने में न तो ऊष्मा का अवशोषण होता है और न उत्सर्जन।  जब अवयवों को मिलाकर विलयन …

आदर्श और अनादर्श विलयन में अंतर क्या है? Read More »

साबुन की परिभाषा | प्रकार | क्रियाविधि | संश्लेषित अपमार्जक

साबुन क्या है (Soap in Hindi) : दीर्घ श्रृंखला युक्त वसीय अम्लों के सोडियम या पोटेशियम लवण को साबुन कहते है।  नोट – स्टीएरिक अम्ल , ओलिक अम्ल , यामिटिक अम्ल के सोडियम या पौटेशियम लवण साबुन है। जब तेलीय वसा की क्रिया NaOH अथवा KOH से की जाती है तो साबुन तथा ग्लिसरोल बनते …

साबुन की परिभाषा | प्रकार | क्रियाविधि | संश्लेषित अपमार्जक Read More »

भोजन में रसायन | कृत्रिम मधुरक | खाद्य परीक्षक

भोजन में रसायन (chemicals in food) : वे रसायन जो भोजन को सुरक्षित , आकर्षक व कृत्रिम मिठास को बढ़ाते है उन्हें निम्न प्रकार से वर्गीकृत करते है | A . कृत्रिम मधुरक (artificial sweeteners) – वे रसायन जो शर्करा तो नहीं होते परन्तु भोजन की कृत्रिम मिठास को बढ़ा देते है , उन्हें कृत्रिम …

भोजन में रसायन | कृत्रिम मधुरक | खाद्य परीक्षक Read More »

प्रतिजैविक औषधी | पूतिरोधी व विसंक्रामी में अंतर

प्रति सूक्ष्म जैविक औषधि क्या है (Microbiological drug in hindi) : वे रसायन जो सूक्ष्म जीव जैसे – कवक , जीवाणु , फफूंद आदि की वृद्धि रोक देते है या उन्हें नष्ट कर देते है उन्हें प्रतिसूक्ष्म जैविक औषधि कहते है , इन्हे तीन भागों में वर्गीकृत किया गया हैं। प्रति जैविक औषधी (anti biotics …

प्रतिजैविक औषधी | पूतिरोधी व विसंक्रामी में अंतर Read More »

तंत्रिका सक्रिय औषधि | पीड़ाहारी | प्रशांतक औषधि

तंत्रिका सक्रिय औषधि क्या है (Nervous active drug or medicines in hindi) : ये तंत्रिका तंत्र पर अपना प्रभाव डालती है ये दो प्रकार की होती है प्रशांतक औषधि (transquilizers) : ये केंद्रीय तंत्रिका तंत्र पर अपना प्रभाव डालती है ये मानसिक रोग के उपचार व निदान में काम आती है , ये अत्यधिक तनाव …

तंत्रिका सक्रिय औषधि | पीड़ाहारी | प्रशांतक औषधि Read More »