Geography Notes

संधि | वर्गीकरण |types

संधि : जब किसी चट्टान पर किसी के द्वारा बलाधिकृत (तनाव बल) अथवा दाबीय फाॅर्स लगाया जाता है तो उसमे नियमित अथवा अनियमित दरारें बन जाती है।  ये दरारें उनके विकास से सम्बन्ध नहीं रखती है इन्हे “joint या संधि ” कहते है।  इनकी सतह सपार होती है। संधियाँ लगभग सभी प्रकार की चट्टानों में …

संधि | वर्गीकरण |types Read More »

भ्रंश | वर्गीकरण  

भ्रंश : भ्रंश वे रचनाएँ है जिनके तल पर संस्तर के दो विभिन्न भाग एक दूसरे से दूर हट जाते है ऐसा सतह पर होने वाली क्रियाओं के कारण होता है। fault terminology Fault plane : वह तल जो किसी फ्रेक्चर के along गति करने पर बना है , भ्रंश तल कहलाता है। Hade : …

भ्रंश | वर्गीकरण   Read More »

विषम विन्यास

विषम विन्यास : विषम विन्यास अपरदन की सतह है जो दो संस्तरों को विभाजित करती है।  विषम विन्यास  विकास कई स्तरों में होता है।  पहले पुराने शैल संस्तर निक्षेपित होते है फिर उत्थान होता है और फिर अपरदन होता है।इस प्रकार पुन: अवसादन शुरू होता है। विषम विन्यास का विकास विषम विन्यास के प्रकार 1. …

विषम विन्यास Read More »

नति तथा नतिलम्ब

नति तथा नतिलम्ब  : Dip (नति) : निर्माण के समय अवसादियां शिलाएं संस्तरित हो जाती है तथा ये प्राय: क्षैतिज होती है परन्तु पृथ्वी पृष्ठ पर होने वाले अनेक संचलनो के कारण इनमे परिवर्तन हो जाता है और ये क्षैतिज नहीं रह पाते है इनमे कुछ झुकाव उतपन्न हो जाता है जो क्षैतिज तल से …

नति तथा नतिलम्ब Read More »

द्विघटकीय मैग्मा का क्रिस्टलन

द्विघटकीय मैग्मा का क्रिस्टलन : मैग्मा के शीतलन या दबाव में परिवर्तन पर खनिज क्रिस्टलित होते है।   प्रकार संघटन के पश्चात् आग्नेय शैल निर्मित होते है।  शैलों में खनिजों की संख्या मैग्मा के संघटन और शीतलन की स्थितियों पर निर्भर करती है।  यहाँ हम द्वीखनिजीय शैलो के बारे में पढेंगे। द्विघटकीय मैग्मा के क्रिस्टलन की …

द्विघटकीय मैग्मा का क्रिस्टलन Read More »

आग्नेय शैलों का रूप

आग्नेय शैलों का रूप: आग्नेय शैल बॉडीज दो प्रकार की होती है –1. बहिर्वेधी शैल रूप ( extrusive Igneous bodies )2. अंतर्वेधी शैल रूप (intrusive Igneous bodies )1. बहिर्वेधी शैल रूप ( extrusive Igneous bodies ) : बहिर्वेधी शैल रूप मैग्मा के भू पृष्ठ पर उद्गार के फलस्वरूप बनते है।  इनका उदाहरण है – लावा …

आग्नेय शैलों का रूप Read More »

आग्नेय शैलों की संरचना

आग्नेय शैलों की संरचना  : शैलो की क्षेत्रीय अवस्था को संरचना कहते है।  आग्नेय शैलों की निम्नलिखित संरचना होती है –1. flow structures : कभी कभी आग्नेय शैल समान्तर अथवा अंशीय समान्तर बेंड अथवा structure दिखाती है जिसका कारण है – मैग्मा अथवा लावा के शीतलन एवं क्रिस्टलन के दौरान प्रवाह होना।  इस प्रवाह की …

आग्नेय शैलों की संरचना Read More »

आग्नेय शैलो के गठन व सूक्ष्म संरचनाएं

आग्नेय शैलो के गठन व सूक्ष्म संरचनाएं) : texture का अर्थ है किसी शैल में खनिज कणों की आकृति , आकार , एवं स्थिति व्यवस्था। या शैलो के विभन्न खनिज घटकों एवं कांच के पारस्परिक संबंधो को शैल गठन कहते है।विभिन्न गठन समुच्चयो के सानिध्य से सूक्ष्म संरचना का निर्माण होता है।  किसी शैल के …

आग्नेय शैलो के गठन व सूक्ष्म संरचनाएं Read More »

आग्नेय शैलों का वर्गीकरण

आग्नेय शैलों का वर्गीकरण : पृथ्वी की भूपर्पटी का लगभग 90% भाग आग्नेय शैलो से निर्मित है लेकिन इसकी इतनी उपस्थिति अवसादी व कायान्तरित शैलो की पतली परतों से पृथ्वी की सतह के निचे छिपी हुई है। आग्नेय शैलो का वर्गीकरण एक जटिल प्रश्न है , विभिन्न वैज्ञानिको ने विभिन्न उद्देश्यों से भिन्न वर्गीकरण प्रस्तुत …

आग्नेय शैलों का वर्गीकरण Read More »

एन.एल. बोवेन की अभिक्रिया श्रेणी

BOWEN’s reaction series : मैग्मा का ठण्डा होकर क्रिस्टलीत होना एक जटिल रासायनिक प्रक्रिया है जिसमे बहुत सारे सिलिकेट मिनरल एक निश्चित क्रम में क्रिस्टलीत होते है।इन सिलिकेट पदार्थों के ठंडा होकर क्रिस्टलीत होने की क्रिया को N.L बोवेन ने दो अभिक्रिया श्रेणियो से समझाया है।1. संतत श्रेणी (continuous series )2. असंतत श्रेणी (discontinuous series)  1. …

एन.एल. बोवेन की अभिक्रिया श्रेणी Read More »

Differentiation of magma in hindi , Assimilation

Differentiation of magma : विभेदन वह प्रक्रम है जिसके द्वारा एक समांगी मैग्मा विभिन्न भागों में विभक्त हो जाता है।  ये विभक्त भाग अलग अलग राशि बनाते है लेकिन we भिन्न भाग एक राशि की सीमा के भीतर भी रह सकते है। प्रथक्करण की कई विधियाँ हो सकती है जिनमे कुछ प्रमुख विधियाँ निम्न है …

Differentiation of magma in hindi , Assimilation Read More »

मैग्मा Magma in hindi | Igneous rocks आग्नेय शैल

Igneous rocks : आग्नेय शैल मैग्मा के ठंडे होने व जमने से बनती है।  इन शैलों के खनिज अवयवो में सिलिकेट प्रमुख है। इनमे भी क्वार्ट्ज , फेल्सपार , फेल्सपैयाइड , पाईराक्सिन , एम्फिबोल अभ्रक , जिओलाईट , क्लोराईट , ओलिविन इत्यादि प्रमुख सिलिकेट है। आग्नेय शैल मैग्मा से बनने वाली शैल है।  भू पृष्ठ …

मैग्मा Magma in hindi | Igneous rocks आग्नेय शैल Read More »