RBSE Solutions for Class 9 English Insight Chapter 15 Reading Comprehension

हेलो स्टूडेंट्स, यहां हमने राजस्थान बोर्ड Class 9 English Insight Chapter 15 Reading Comprehension सॉल्यूशंस को दिया हैं। यह solutions स्टूडेंट के परीक्षा में बहुत सहायक होंगे | Student RBSE solutions for Class 9 English Insight Chapter 15 Reading Comprehension pdf Download करे| RBSE solutions for Class 9 English Insight Chapter 15 Reading Comprehension notes will help you.

Rajasthan Board RBSE Class 9 English Insight Chapter 15 Reading Comprehension

  1. अवतरण का मुख्य भाव समझने के लिये अवतरण को जल्दी-जल्दी पढ़िए।
  2. अवतरण को दुबारा पढ़िए और मुख्य बिन्दुओं को रेखांकित कीजिए।
  3. प्रश्नों को पढ़कर यह जानने का प्रयत्न करिए कि क्या पूछा गया है।
  4. अवतरण को पुन: पढ़िए और उन हिस्सों को रेखांकित कीजिए जहाँ प्रश्नों के उत्तर संभावित हैं।
  5. जहाँ तक हो सके प्रश्नों के उत्तर देने में अपने शब्दों का स्पष्ट रूप से प्रयोग कीजिए।
  6. किसी प्रश्न का उत्तर देते समय सदैव पूरे वाक्यों को ही प्रयोग कीजिए।
  7. यदि आपसे कुछ शब्दों या वाक्यांशों के अर्थ पूछे जायें तो स्पष्ट रूप से अपने विचारों को अपनी भाषा में लिखिए।
  8. जब तक न पूछा जाय तब तक किसी बात के बारे में अपनी राय प्रकट न करें या टिप्पणी न करें।

Passage 1:
Read the following passage carefully and answer the questions given below :
Ashoka was a great emperor. He thought that the duty of a great king was to protect the people and safeguard their rights. He gave protection to the public and made arrangement for justice. He instructed his officials to behave properly with the public. He engraved the message of justice and non-violence on pillars and installed them at different places. Some of the pillars still tell us about his greatness. He opened hospitals for the infirm and the old where good treatment was given to the patients. He also opened hospitals for animals. He was really great as he advocated pity and mercy for all living creatures.

I. Tick the correct alternative :
सही विकल्प पर सही का निशान लगाइये :

1. Ashoka engraved pillars for:
अशोक ने ….. के लिए स्तम्भ उत्कीर्ण करवाए :
(a) becoming great and famous
महान व प्रसिद्ध बनने के लिए
(b) establishing his supremacy
अपनी सर्वोच्चता स्थापित करने के लिए।
(c) spreading the message of justice and non violence
न्याय व अहिंसा का संदेश फैलाने के लिए
(d) getting praise from public
जनता से प्रशंसा पाने के लिए।

2. Find words from the passage which mean the same as :
गद्यांश में से वे शब्द छाँटिये जिनके अर्थ बिल्कुल ऐसे ही होते हैं :
(i) Advised
(ii) Weak

3. What did Ashoka think about the duty of a king?
अशोक के विचार से एक राजा के क्या कर्तव्य होने चाहिये?

4. What message did he engrave on pillars?
उन्होंने स्तम्भों पर क्या संदेश उत्कीर्ण करवाये?

5. What did he do for the old and the infirm?
उसने बूढ़ों तथी बीमारों के लिए क्या किया?

6. Where did he install the engraved pillars?
उन्होंने उत्कीर्ण किये हुए स्तम्भ कहाँ पर लगवाये?

7. ‘He was really great ……’ How?
‘वह वास्तव में महान था’ कैसे?
Answers :
1. (c) spreading the message of justice and nonviolence

2. (i) instructed, (ii) infirm

3. Ashoka thought that the duty of a great king was to protect the people and safeguar their right.
अशोक के विचार से एक महान राजा का कर्तव्य अपनी प्रजा की रक्षा करना तथा उनके अधिकारों का संरक्षण होता है।

4. He engraved the message of justice and non-violence on pillars.
उन्होंने स्तम्भों पर न्याय तथा अहिंसा के संदेश उत्कीर्ण करवाये।

5. He opened hospitals for the old and the infirm where good treatment was given to them.
उन्होंने बूढ़ों तथा बीमारों के लिए अस्पताल खुलवाये जहाँ पर उनका अच्छा उपचार किया जाता था।

6. He installed the engraved pillars at different places.
उन्होंने उत्कीर्ण किए हुए स्तम्भों को विभिन्न स्थानों पर लगवाये।

7. Ashoka was really a great king because he advocated pity and mercy for all living creatures.
अशोक वास्तव में एक महान राजा था क्योंकि वह सभी जीवित प्राणियों के प्रति दयालुता तथा सहानुभूति रखने का पक्ष लेता था।

Passage 2:
Read the following passage carefully and answer the questions given below :
Discipline teaches us self-control, self-restrain and respect for laws. It produces a sense of duty. There is discipline in heavenly bodies, stars and planets. The ordered growth and decay (death) show that there is discipline everywhere in nature. The schools and colleges cannot run without discipline. Discipline makes us civilized. We learn to respect the views and rights of others. Games and sports make the players disciplined. Discipline stands for law and order. A well-disciplined person always does his work (duty) honestly. If there is no discipline in society, people shall do as they please and that may be harmful for the society. Where there is no discipline, there is disorder. Without order and discipline there can be no peace in the society. Discipline keeps us within limits.

I. Tick the correct alternative :
सही विकल्प पर सही का निशान लगाइये :

1. Discipline teaches us – अनुशासन हमें सिखाता
(a) self-control आत्म नियंत्रण
(b) respect for laws कानून के प्रति सम्मान
(c) self-restrain आत्म संयम
(d) All of the above उपरोक्त सभी

2. Discipline stands for – अनुशासन ……. के लिए प्रयुक्त हुआ है
(a) law and order कानून और सुव्यवस्था
(b) law and power व्यवस्था और शक्ति
(c) order and power कानून और शक्ति
(d) power शक्ति

3. What shows that there is discipline everywhere in nature?
किस चीज से पता चलता है कि प्रकृति में हर जगह अनुशासन है?

4. What does a well-disciplined person always do?
एक अच्छी तरह से अनुशासित व्यक्ति हमेशा ही क्या करता है?

5. What will happen if there is no discipline in the society?
यदि समाज में अनुशासन नहीं हो तो क्या होगा?

6. How can there be peace in the society?
समाज में शांति कैसे रह सकती है?
Answers :
1. (d) All of the above

2. (a) law and order

3. The ordered growth and decay (death) show that there is discipline everywhere in nature.
क्रमबद्ध विकास तथा विनाश यह दर्शाता है कि प्रकृति में हर जगह अनुशासन है।

4. A well-disciplined person always does his work (duty) honestly.
एक अच्छी तरह से अनुशासित व्यक्ति हमेशा अपना कार्य (कर्तव्य) ईमानदारी से करती है।

5. If there is no discipline in society, people shall do as they please and that may be harmful for the society.
यदि समाज में कोई अनुशासन नहीं होगा तो लोग चाहे जैसा ही करेंगे तथा यह समाज के लिए हानिकारक होगा।

6. There can be peace in the society if everything there is with order and discipline.
यदि हर चीज सुव्यवस्थित और अनुशासित होगी तो समाज में शांति होगी।

Passage 3:
Read the following passage carefully and answer the questions given below:
There is a story of a man who thought he had a right to do what he liked. One day, this gentleman was walking along a busy road, spinning his walking-stick round and round in his hand, and was trying to look important. A man walking behind him objected. “You ought not to spin your walking-stick round and round like that!” he said. “I am free to do what I like with my walking stick,” argued the gentleman. “Of course you are,” said the other man, “but you ought to know that your freedom ends where my nose begins.” The story tells us that we can enjoy our rights and our freedom only if they do not interfere with other people’s rights and freedom.

I. Tick the correct alternative :
सही विकल्प पर सही का निशान लगाइये :

1. The gentleman was walking along a – वह सज्जन ……. पर चल रहा था
(a) lonely road एकांत सड़क
(b) busy road व्यस्त सड़क
(c) narrow road संकीर्ण सड़क
(d) dusty road धूल भरी सड़क

2. The man who protested was a जिस व्यक्ति ने आपत्ति की वह था एक.
(a) teacher अध्यापक
(b) passer-by राहगीर
(c) policeman पुलिसवाला
(d) farmer किसान

3. Why was the gentleman on the road moving his walking stick round and round?
सड़क पर चलने वाला वह व्यक्ति अपनी छड़ी को गोल-गोल क्यों घुमा रहा था?

4. Who objected him?
किसने उसका विरोध किया?

5. What argument did the gentleman give?
34 सज्जन ने क्या तर्क-वितर्क किया?

6. What did he say in reply?
अपने जवाब में उसने क्या कहा?

7. What does the story tell us?
यह कहानी हमें क्या सिखाती है?
Answers :
1. (b) busy road

2. (b) passer-by

3. The gentleman on the road moving his walking stick round and round was trying to look important.
सड़क पर चलने वाला सज्जन अपनी छड़ी को महत्वपूर्ण दिखने के लिए गोल-गोल घुमा रही था।

4. A man walking behind him objected.
उसके पीछे चल रहे एक व्यक्ति ने आपत्ति की।

5. The gentleman argued that he was free to do what he liked with his walking-stick.
उस व्यक्ति ने तर्क दिया कि अपनी छड़ी से वह चाहे जो करने के लिए स्वतंत्र है।

6. The man replied that the gentleman ought to know that his freedom ended where his nose began.
उस व्यक्ति ने जवाब दिया कि उस सज्जन को यह जानना चाहिये कि उसकी स्वतंत्रता वहाँ समाप्त हो जाती है जहाँ से दूसरे की शुरू होती है।

7. The story tells us that we can enjoy our rights and our freedom only if they do not interfere with other people’s rights and freedom.
यह कहानी हमें बताती है कि हम अपने अधिकार तथा स्वतंत्रता का आनन्द तभी तक उठा सकते हैं जब तक कि वे दूसरों के अधिकारों व स्वतंत्रता में दखलंदाजी ना करें।

All Chapter RBSE Solutions For Class 9 English Hindi Medium

All Subject RBSE Solutions For Class 9 Hindi Medium

Remark:

हम उम्मीद रखते है कि यह RBSE Class 9 English Solutions in Hindi आपकी स्टडी में उपयोगी साबित हुए होंगे | अगर आप लोगो को इससे रिलेटेड कोई भी किसी भी प्रकार का डॉउट हो तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूंछ सकते है |

यदि इन solutions से आपको हेल्प मिली हो तो आप इन्हे अपने Classmates & Friends के साथ शेयर कर सकते है और HindiLearning.in को सोशल मीडिया में शेयर कर सकते है, जिससे हमारा मोटिवेशन बढ़ेगा और हम आप लोगो के लिए ऐसे ही और मैटेरियल अपलोड कर पाएंगे |

आपके भविष्य के लिए शुभकामनाएं!!

Leave a Comment

Your email address will not be published.