NCERT Class 11 Economics Chapter 2 Part 6 Notes in Hindi

नमस्कार दोस्तों आज के इस आर्टिकल को आप लास्ट तक पढ़ना तभी आपको अच्छी तरीके से यह नोट्स समझ में आएंगे और इन नोट्स की पीडीएफ मैंने बना रखी है वह आपको नीचे ही मिल जाएगी वहां पर से आप इन सभी नोट्स को डाउनलोड कर सकते हैं तो कृपया आप इस आर्टिकल को लास्ट तक पढ़ना

द्वितीयक आंकड़ों के अप्रकाशित स्रोत

  1. विश्वविद्यालयों से प्राप्त आंकड़े
  2. निजी संस्थाओं से प्राप्त आंकड़े
  3. विभिन्न उद्देश्यों के लिए प्राप्त आंकड़े

द्वितीयक आंकड़ों के प्रयोग में सावधानियां

द्वितीयक आंकड़ों का प्रयोग करने से पहले निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना चाहिए

  1. क्या आंकड़े विश्वास करने योग्य हैं?
  2. क्या आंकड़े वर्तमान उद्देश्य के लिए उपयोगी हैं?
  3. क्या आंकड़े पर्याप्त हैं?

द्वितीयक आंकड़ों के दो महत्वपूर्ण स्रोत

  1. भारत की जनगणना भारत में जनगणना हर 10 वर्ष बाद होती है यह भारत के REGISTRAR GENERAL AND CENSUS COMMISSIONER द्वारा प्रकाशित किया जाता है यह द्वितीय आंकड़ों का एक महत्वपूर्ण स्रोत है
  2. राष्ट्रीय प्रतिदर्श सर्वेक्षण कार्यालय की रिपोर्ट एवं प्रकाशन

भारत में द्वितीयक आंकड़ों का एक महत्वपूर्ण स्रोत NSSO की रिपोर्ट तथा प्रकाशन है NSSO एक सरकारी संगठन है

NSSO: NATIONAL SAMPLE SURVEY OFFICE

Download eBook

तो हमें कमेंट में बताना कि आपको यह आर्टिकल कैसा लगा है अगर इस आर्टिकल में कुछ प्रॉब्लम है तो हमें कमेंट में जरूर बताना |

Leave a Comment

Your email address will not be published.