Psychology Me Career Kaise Banaye

Psychology Me Career Kaise Banaye

Psychology Me Career Kaise Banaye: मनोविज्ञान मानव (psychology  human) व्यवहार और मानसिक प्रक्रियाओं का अध्ययन है। मनोवैज्ञानिक किसी व्यक्ति की प्रतिक्रियाओं, भावनाओं और व्यवहार का अध्ययन करते हैं और उस व्यवहार की अपनी समझ का उपयोग उससे जुड़ी व्यवहार संबंधी समस्याओं के इलाज के लिए करते हैं।

Psychology Me Career Kaise Banaye

psychological, emotional और Behaviour संबंधी समस्याओं की पहचान करने के लिए और patient interview, patient test और medical record से जानकारी का उपयोग करके किसी भी विशिष्ट विकार का निदान करने के लिए psychologist जिम्मेदार हैं। कई बार रोगी को विभिन्न समस्याओं का सामना करना पड़ता है। psychologist इसे किसी विशेषज्ञ से अलग तरीके से मानते हैं।

Career In Psychology in Hindi

आजकल लोग अपने जीवन में विभिन्न कारणों से मानसिक समस्याओं का सामना करते हैं। दिन-प्रतिदिन बढ़ती प्रतिस्पर्धा के कारण लोगों में तनाव आम हो गया है। किसी भी तरह का तनाव जो लंबे समय तक बना रहता है, वह depression का रूप ले सकता है।

WHO के अनुसार, भारत की छह प्रतिशत से अधिक आबादी किसी न किसी रूप में मानसिक बीमारी से पीड़ित है। जनसंख्या की दृष्टि से अवसाद से प्रभावित जनसंख्या 70 मिलियन से अधिक है।

यह कहा जा सकता है कि यह चिंता का विषय है कि देश में इतनी बड़ी आबादी मानसिक विकारों के कारण उत्पादन नहीं कर रही है। इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि ऐसे मरीजों को अपनी मानसिक समस्या का अहसास भी नहीं होता है। देश में उनके इलाज के लिए psychiatrists और psychiatrists की भारी कमी का एक कारण यह भी है। ऐसे में छात्र करियर का बेहतरीन विकल्प साबित हो सकता है।

Career scope in Hindi

मनोविज्ञान तेजी से छात्रों का पसंदीदा विषय बनता जा रहा है, जो इस क्षेत्र में अपार संभावनाओं के कारण भी है। हर साल लाखों छात्र इस क्षेत्र को अपने पेशे के रूप में चुनते हैं। धीरे-धीरे इस सेक्टर का विस्तार हो रहा है। start up से लेकर companies इस क्षेत्र में कदम रख रही हैं।

इस क्षेत्र में जाने के लिए स्नातक करने वालों के पास अस्पतालों, गैर सरकारी संगठनों, उपचार केंद्रों, परामर्श केंद्रों, विश्वविद्यालयों, स्कूलों (Hospitals, NGOs, Treatment Centers, Counseling Centers, Universities, Schools )आदि में सलाहकार के रूप में नौकरी के अवसर हैं।

इसके अलावा ऐसे प्रशिक्षुओं की भर्ती समाज कल्याण संस्थानों, सुरक्षा विभाग, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों और जेलों में भी की जाती है. हालांकि, यहां हम आपको बताते हैं कि career के शुरुआती दौर में आप किसी प्रतिष्ठित psychologist/consultant के पास रहकर ढेर सारी व्यावहारिक Training ले सकते हैं।

मनोवैज्ञानिक (Psychologist) कितने प्रकार के होते है ?

साइकोलॉजी (Psychology) या साइकोलोजिस्ट (Psychologist) पांच प्रकार के होते है ?

(1) व्यक्तिगत मनोविज्ञान (Personal Psychology) – मनोविज्ञान के इस भाग में व्यक्ति के व्यक्तित्व, विचार पैटर्न, व्यवहार परिवर्तन, वर्तमान और पिछले परिवर्तन और उसके कारणों और विशेषताओं की जांच की जाती है।

(2) सामाजिक मनोविज्ञान (Social Psychology) – इस शाखा में एक महान मनुष्य या समग्र रूप से समाज के विकास, व्यवहार, सोच आदि को समझने का प्रयास किया जाता है।

(3) जैविक साइकोलॉजी (Biological Psychology) – इस शाखा में, हम अध्ययन करते हैं कि शरीर में जैविक प्रक्रियाएं हमारे दिमाग को कैसे प्रभावित करती हैं।

(4) नैदानिक मनोविज्ञान (Clinical Psychology) – यह मनोविज्ञान मानसिक विकारों, मनोचिकित्सकों को समझने और उनका इलाज करने में मदद करता है। यह आज व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है।

(5) सज्ञानात्मक साइकोलॉजी (Cognitive Psychology) – इस शाखा में मानव सोच, निर्णय लेने, समस्याओं और समस्या समाधान विधियों का अध्ययन किया जाता है।

इसके अलावा कुछ अन्य मनोविज्ञान भी हैं जैसे : फोरेंसिक मनोविज्ञान, भारतीय मनोविज्ञान, तुलनात्मक मनोविज्ञान आदि।( Forensic psychology, Indian psychology, comparative psychology etc.)

मनोविज्ञान के फायदे (Benefits Of Psychology in Hindi)

मनोविज्ञान की मदद से मानसिक समस्या पागलपन (mental problem insanity) को समझने में मदद करती है।

मनोविज्ञान की मदद से यह जानने में मदद मिलती है कि किसी व्यक्ति का मस्तिष्क कैसे काम करता है और उसके विकास और विकास में आने वाली बाधाओं को समझने में मदद करता है।

मनोविज्ञान के माध्यम से, बड़ी companies लोगों से संबंधित आदतों के आधार पर अपनी projects और अपनी विज्ञापन विधियों का निर्माण करती हैं।

अपराधी आतंकवादी समूहों के मनोविज्ञान (Psychology) का अध्ययन कर और उनके खिलाफ बेहतर रणनीति बनाकर, लोगों की कमजोरियों को जानकर और उन्हें मनोवैज्ञानिक(Psychology)  रूप से strong बनाकर मनोविज्ञान कर सकते हैं। Psychology Me Career Kaise Banaye

मनोवैज्ञानिक की सैलरी कितनी होती है ? (Salary Of Psychologist in Hindi)

एक मनोवैज्ञानिक का वेतन अलग-अलग विशेषज्ञों और विभिन्न क्षेत्रों में काम करने के आधार पर भिन्न हो सकता है, लेकिन शुरुआत में यह न्यूनतम 25,000 rupees से 50,000 रुपये प्रति माह तक होता है।

अगर आप किसी संगठित कंपनी में हैं तो आपका package बहुत ज्यादा हो सकता है। यदि आप अपनी राष्ट्रीय योग्यता परीक्षा उत्तीर्ण करते हैं, तो आपको उच्च वेतन मिलेगा और यदि आपने अपने क्षेत्र में PHD की है, तो आपको उच्च वेतन मिलेगा। इससे आपको 25,000 rupees से 2 lakh rupees प्रतिमाह वेतन मिल सकता है। Psychology Me Career Kaise Banaye

निष्कर्ष

जैसा हमने आपको ऊपर बताया मनोविज्ञान वास्तव में एक बहुत ही नया विज्ञान है और इसमें पिछले 150 वर्षों में सबसे अधिक प्रगति हुई है। वैसे इसकी उत्पत्ति 400-500 ईसा पूर्व में प्राचीन ग्रीस में हो चुकी थी।

तो दोस्तों हमने Psychology में करियर कैसे बनाए ? कैसे करें की सम्पूर्ण जानकारी आपको इस लेख से देने की कोशिश की है उम्मीद है आपको यह लेख पसंद आया होगा अगर आपको हमारी post अच्छी लगी हो तो प्लीज कमेंट सेक्शन में हमें बताएँ और अपने दोस्तों के साथ शेयर भी करें।

Ye bhi pde: जर्नलिस्ट कैसे बने |

Source: Study Sector

FAQs

मनोवैज्ञानिक क्या होता है ?

मनोविज्ञान (Psychology) एक educational व experimental विद्या है जो प्राणी (man, animal etc.) के मानसिक प्रक्रियाओं (mental  processes), experiences, practices का एक क्रमबद्ध तथा वैज्ञानिक अध्ययन करती है।

भारत में मनोविज्ञान विभाग की स्थापना कब हुई ?

Kolkata University में सबसे पहले 1916 में मनोविज्ञान विभाग की स्थापना हुई थी।

भारत के पहले मनोवैज्ञानिक कौन थे ?

भारत की प्रथम मनोविज्ञान प्रयोगशाला की स्थापना Narendranath Sengupta ने किया।

मनोविज्ञान के प्रकार Types of psychology

behavioral, cognitive, developmental और educational psychology ।

Psychology में क्या आता है ?

Psychology व्यक्ति के व्यवहार की पढ़ाई है, जहां व्यक्ति की मानसिक, विचारात्मक परेशानियों का निदान करने के लिए वैज्ञानिक नियमों और थ्योरी का प्रयोग किया जाता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.