Vidhiling Lakar

Vidhiling Lakar – विधिलिङ्ग् लकार किसे कहते है?

Vidhiling Lakar: हेलो स्टूडेंट्स, आज हम इस आर्टिकल में विधिलिङ्ग् लकार किसे कहते है? (Vidhiling Lakar) के बारे में पढ़ेंगे | यह हिंदी व्याकरण का एक महत्वपूर्ण टॉपिक है जिसे हर एक विद्यार्थी को जानना जरूरी है |

Vidhiling Lakar

विधिनिमन्त्रणामन्त्रणाधीष्टसंप्रश्नप्रार्थनेषु लिङ् – विधि (चाहिये), निमन्त्रण, आदेश, विधान, उपदेश, प्रश्न तथा प्रार्थना आदि अर्थों का बोध कराने के लिये विधि लिङ् लकार का प्रयोग किया जाता है;जैसे-

पठ् धातु       एकवचन    द्विवचन     बहुवचन

प्रथमः पुरुषः   पठेत्     पठेताम्।      पठेयुः

मध्यमः पुरुषः  पठेः       पठेतम्।      पठेत

उत्तमः पुरुषः   पठेयम्     पठेव         पठेम

इसे भी पढ़े: लिख् धातु के रूप  बताइये।

उदाहरण

  • विधि- सत्यं ब्रूयात। (सत्य बोलना चाहिये), प्रियं ब्रूयात्। (प्रिय बोलना चाहिये।)
  • निमन्त्रण- भवान अद्य अत्र भक्षयेत्। (आप आज यहाँ भोजन करें।)
  • आदेश- भृत्यः क्षेत्रे गच्छेत्। (नौकर खेत पर जाये।)
  • प्रश्न- त्वंम् किम कुर्याः? (तुम्हें क्या करना चाहिये?)
  • इच्छा- यूयं सुखी भवेत्। (तुम खुश रहो।)

Vidhiling Lakar Video

Credit SANSKRIT TEACHER

आर्टिकल में अपने पढ़ा कि विधिलिङ् लकार् क्या है?हमे उम्मीद है कि ऊपर दी गयी जानकारी आपको आवश्य पसंद आई होगी। इसी तरह की जानकारी अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करे ।

Leave a Comment

Your email address will not be published.