Bhav Vachak Sangya in Hindi

Bhav Vachak Sangya in Hindi – भाव वाचक संज्ञा किसे कहते है? परिभाषा व उदाहरण।

Bhav Vachak Sangya in Hindi: हेलो स्टूडेंट्स, आज हम इस आर्टिकल में भाव वाचक संज्ञा किसे कहते है? (Bhav Vachak Sangya) के बारे में पढ़ेंगे | यह हिंदी व्याकरण का एक महत्वपूर्ण टॉपिक है जिसे हर एक विद्यार्थी को जानना जरूरी है |

Bhav Vachak Sangya in Hindi

जिन संज्ञा शब्दों से हमें किसी भाव, दशा या अवस्था का पता चले, उसे भाववाचक संज्ञा (Bhav Vachak Sangya) कहते हैं। जैसे – खटास, मिठास, उचाई, नीचता, अपनापन, इत्यादि।

भाव वाचक संज्ञा किसे कहते है?

भाववाचक संज्ञा के कुछ अन्य उदाहरण

  • भारत में गरीबी बढ़ रही है।

गरीबी शब्द से गरीब होने के भाव का बोध हो रहा है। अतः गरीबी एक भाववाचक संज्ञा शब्द है।

  • मेरा बचपन खेलकूद में बीता।

बचपन शब्द से बच्चा होने के भाव का बोध हो रहा है। अतः बचपन एक भाववाचक संज्ञा है।

  • मेरे दोस्त की लम्बाई मेरे से अधिक है।

लम्बाई शब्द से लम्बा होने के भाव का बोध हो रहा है। अतः लम्बाई एक भाववाचक संज्ञा है।

  • रमेश और सुरेश की आपस में दोस्ती है।

दोस्ती शब्द से दोस्त होने के भाव का बोध हो रहा है। अतः दोस्ती एक भाववाचक संज्ञा है।

  • विकास की आवाज़ में बहुत मिठास है।

मिठास शब्द से आवाज़ मीठी होने का बोध हो रहा है। अतः मिठास एक भाववाचक संज्ञा है।

  • तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हे आज़ादी दूंगा।

आज़ादी शब्द से आज़ाद होने के भाव का बोध हो रहा है। अतः आज़ादी एक भाववाचक संज्ञा है।

  • मुझे तुम पर काफी गुस्सा आ रहा है।

इस वाक्य में गुस्सा आना एक भाव को प्रदर्शित करता है, इस कारण यह भाववाचक संज्ञा का उदाहरण है।

  • मैं तुम से प्रेम करता हूँ।

इस वाक्य में ‘प्रेम’ एक भाव यानी अनुभव को जताता है, जिसकी वजह से यह भाववाचक है।

  • इंसानियत के नाते तुम्हें उसकी मदद करनी चाहिए।

उपरोक्त वाक्य भाववाचक संज्ञा का उदाहरण वाक्य है, जिसमें में ‘इंसानियत’ एक भाव है।

  • तुमसे मिलके मेरी बचपन की यादें ताज़ा हो गयी।

ऊपर दिए वाक्य में ‘बचपन’ एवं ‘यादें’ हमें भावों के बोध करा रहें हैं अतः यह वाक्य भाववाचक संज्ञा का उदाहरण है।

  • तुम्हारे बाग़ में फूलो की सुंदरता देखते ही बनती है।

दिए गए वाक्य में सुंदरता एक भाव है अतः यह वाक्य भाववाचक संज्ञा के उदाहरण है।

  • हमें छोटे बच्चों पर गुस्सा नहीं करना चाहिए।

ऊपर दिया वाक्य भाववाचक संज्ञा का  उदाहरण है क्योंकि इसमें ‘गुस्सा’ शब्द हमें एक भाव का बोध कराता है।

  • दौड़ने से मुझे थकान का अनुभव होता है।

थकान शब्द हमें एक थकने के भाव का बोध होता है अतः यह एक भाववाचक संज्ञा का उदाहरण है।

  • आज भी लोग जय और वीरू की दोस्ती का उदाहरण देते हैं।

जातिवाचक संज्ञाओं  से भाववाचक संज्ञा  की रचना  :-

इसे भी पढ़े: सवर्ण दीर्घ सन्धि किसे कहते है?

मनुष्य – मनुष्यता

मित्र – मित्रता

शत्रु – शत्रुता

ईश्वर – ईश्वरत्व

ठग – ठगी

चोर – चोरी

पंडित – पांडित्य

पशु – पशुता / पाश्विकता

स्त्री – स्त्रीत्व

बालक – बालिका

शैतान – शैतानी

विदुषी / विद्वान् – विद्वत्ता

शिशु – शैशव

माता – मातृत्व

पिता – पितृत्व

राष्ट्र – राष्ट्रीयता

प्रान्त – प्रांतीयता

ग्राम – ग्रामीणता

भाई – भाईचारा / भ्रातृत्व

पुरुष – पौरुष

बच्ची / बच्चा – बचपन

बूढा – बुढ़ापा

इंसान – इंसानियत

युवती, युवा – यौवन

सर्वनाम शब्दों से भाववाचक संज्ञाओं की रचना:-

आप – आप

मम – ममत्व

निज – निज / निजत्व

पर – परायापन

स्व – स्वत्व

अहं – अहंकार

विशेषणों से भाववाचक संज्ञा की रचना :-

सच्चा – सच्चाई

महान – महानता

अच्छा – अच्छाई

सज्जन – सज्जनता

बुरा – बुराई

मूर्ख – मूर्खता

अमर – अमरत्व

विषम -विषमता

उचित – औचित्य

सम – समता

प्रसन्न – प्रसन्नता

लाल – लालिमा / लाली

आलसी – आलस्य

काला – कालिमा

साहसी  – सहस

हरा – हरीतिमा, हरापन

कठिन – कठिनाई

खरा – खारापन

कायर – कायरता

विस्तृत – विस्तार

सरस – सरसता

सभ्य – सभ्यता

कुशल – कुशलता

संतोषी – संतोष

सफल – सफलता

संतुष्ट – संतुष्टि

Bhav Vachak Sangya Video

Credit: Gyan Abhiyan; Bhav Vachak Sangya

हम उम्मीद रखते है कि यह Bhav Vachak Sangya kise kahate hain आपकी स्टडी में उपयोगी साबित हुआ होगा | अगर आप लोगो को इससे रिलेटेड कोई भी किसी भी प्रकार का डॉउट हो तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूंछ सकते है | हमारे विषय अध्यापक उसका जवाब देंगे | HindiLearning.in को सोशल मीडिया में शेयर करे, जिससे हमारा मोटिवेशन बढ़ेगा और हम आप लोगो के लिए ऐसे ही और मैटेरियल अपलोड कर पाएंगे |

Leave a Comment

Your email address will not be published.