vakya kise kahate hain

Vakya Kise Kahate Hain – वाक्य की परिभाषा, भेद, उदाहरण

Vakya Kise Kahate Hain: हेलो स्टूडेंट्स, आज हम इस आर्टिकल में वाक्य की परिभाषा, प्रकार और उदाहरण ( Vakya in hindi) के बारे में पढ़ेंगे | यह हिंदी व्याकरण का एक महत्वपूर्ण टॉपिक है जिसे हर एक विद्यार्थी को जानना जरूरी है |

Vakya Kise Kahate Hain

सार्थक शब्द या शब्दों का वह समूह जिससे वक्ता का भाव स्पष्ट हो जाए, वाक्य कहलाता है।

वाक्यांश किसे कहते हैं ? – vakyansh kise kahate hain

शब्दों के ऐसे समूह जिनका अर्थ तो निकलता है, लेकिन पूरा पूरा अर्थ नहीं निकलता, तो ऐसे समूह को वाक्यांश कहा जाता है। जैसे :- छत पर, पेड़ के नीचे, घर के अंदर आदि।

वाक्य की परिभाषा – Vakya Ki Paribhasha

दो या दो से अधिक शब्दों के समूह जिसका कोई अर्थ हो उसे वाक्य कहा जाता है। एक सामान्य वाक्य को बनाने के लिए कर्ता, कर्म और क्रिया का इस्तेमाल किया जाता है।

जैसे :-

  1. मनुष्य का कर्म ही उसका धर्म है।
  2. जीत सदैव सत्य की होती है।

वाक्य के भेद – Vakya Ke Bhed Kitne Hote Hain

वाक्य का विभाजन दो आधार पर किया गया है|

  • रचना के आधार पर
  • अर्थ के आधार पर

रचना के आधार पर – Rachna ke Aadhar Par Vakya Bhed

  1. साधारण वाक्य
  2. संयुक्त वाक्य
  3. मिश्रित वाक्य

1:- साधारण वाक्यSaral Vakya Kise kahate hai

ऐसे वाक्य जिन्हें एक ही विधेय और एक ही क्रिया होती है, इन्हें साधारण वाक्य कहा जाता है।

Saral Vakya Ke Udaharan

जैसे :-

  1. राहुल पड़ता है।
  2. मैंने भोजन कर लिया।
  3. रीना घर जा रही है।

2:- संयुक्त वाक्यSanyukt Vakya Kise Kahate Hai

जब दो या दो से अधिक साधारण वाक्य समानाधिकरण समुच्चयबोधको से जुड़े होते हैं, तो ऐसे वाक्य को संयुक्त वाक्य कहा जाता है।

Sanyukt Vakya Ke Udaharan

जैसे :-

  1. राहुल चला गया और गीता आ गई।
  2. मैं जा रहा हूं लेकिन तुम आ रहे हो।
  3. मैंने एक काम कर लिया पर दूसरा काम छोड़ दिया।

यह भी पढ़े: अलंकार की परिभाषा, प्रकार, उदाहरण

3:- मिश्रित वाक्यMishra Vakya Kise Kahate hai

ऐसे वाक्य जिनमें एक वाक्य मुख्य हो और दूसरा वाक्य उस पर आश्रित हो या उपवाक्य हो, तो ऐसे वाक्यों को मिश्रित वाक्य कहा जाता है।

Mishra Vakya Ke Udaharan

जैसे:-

  1. ज्यों ही अध्यापक मैं कक्षा में प्रवेश किया वैसे ही छात्र शांत हो गए।
  2. यदि परिश्रम करोगे तो तुम अवश्य सफल हो जाओगे।
  3. मैं जानता हूं कि तुम्हें क्या अच्छा लगता है।

अर्थ के आधार पर – Arth Ke Aadhar Par Vakya Bhed

अर्थ के आधार पर वाक्य के आठ भेद होते हैं।

  1. विधानवाचक वाक्य
  2. निषेधवाचक वाक्य
  3. आज्ञावाचक वाक्य
  4. प्रश्नवाचक वाक्य
  5. विस्मयादिबोधक वाक्य
  6. इच्छावाचक वाक्य
  7. संदेहवाचक वाक्य
  8. संकेतवाचक वाक्य

विधानवाचक वाक्य

ऐसे वाक्य जिनमें किसी भी कार्य के होने का या किसी के अस्तित्व का पता चलता है या बोध होता है, उन वाक्य को विधानवाचक वाक्य कहते हैं।

विधानवाचक वाक्य को दूसरे शब्दों में विधि वाचक वाक्य भी कहा जाता है।

विधानवाचक वाक्य के उदाहरण

  • राजस्थान मेरा राज्य है।
  • विशाल ने आम खा लिया।
  • पवन के पिता का नाम किशोर सिंह है।

निषेधवाचक वाक्य

ऐसे वाक्य जिनमें किसी भी कार्य के निषेध का बोध होता है, उन वाक्यों को निषेधवाचक वाक्य कहा जाता है।

निषेधवाचक वाक्य के उदाहरण

  • राधा आज स्कूल नहीं जाएगी।
  • आज मैं फिल्म देखने नहीं जाऊंगा।
  • हम आज कहीं पर भी घूमने नहीं जाएंगे।

आज्ञावाचक वाक्य

वह वाक्य जिनमें आदेश, आज्ञा या अनुमति का पता चलता हो, उन वाक्य को आज्ञा वाचक वाक्य कहा जाता है।

आज्ञावाचाक वाक्य के उदाहरण

  • कृपया वहां पर बैठ जाइए।
  • कृपया करके शांति बनाए रखें।
  • आपको अपनी मदद स्वयं करनी पड़ेगी

प्रश्नवाचक वाक्य

ऐसे वाक्य जिनमें किसी प्रश्न का बोध हो, उन्हें प्रश्नवाचक वाक्य कहा जाता है। प्रश्नवाचक वाक्य के नाम से ही पता चलता है कि इस वाक्य में प्रश्नों का बोध होने वाला है।

इन वाक्यों के माध्यम से प्रश्न पूछकर वस्तु या किसी अन्य के बारे में जानकारी जानने की कोशिश की जाती है। इसके अलावा इन वाक्यों के पीछे (?) यह चिन्ह लगता है।

प्रश्नवाचक वाक्य के उदाहरण

  • तुम्हारा कौन सा देश है?
  • तुम कौन से गांव में रहते हो?
  • तुम्हारा नाम क्या है?
  • तुम्हारी बहन क्या काम करती है?

विस्मयादिबोधक वाक्य

जिन वाक्य में आश्चर्य, घृणा, अत्यधिक, खुशी, शौक का बोध होता हो, उन वाक्य को विस्मयादिबोधक वाक्य कहा जाता है। इसके अलावा इन वाक्यों में विस्मय शब्द होते हैं और इन शब्दों के पीछे (!) विस्मयसूचक लगता है और इसी से इन वाक्य की पहचान बनती है। मतलब यह है कि इसी सूचक चिन्ह के आधार पर इन वाक्यों को आसानी से पहचाना जाता है।

विस्मयादिबोधक वाक्य के उदाहरण

  • ओह! आज दिन कितना ठंडा है।
  • बल्ले बल्ले! हमें जीत मिल गई।
  • अरे! तुम यहां कब पहुंचे।

यह भी पढ़े: क्रिया किसे कहते हैं, भेद, उदाहरण

इच्छावाचक वाक्य

वे वाक्य जिसमें हमें वक्ता की कोई इच्छा, आकांक्षा, आशीर्वाद, कामना इत्यादि का पता चलता है, उन वाक्य को इच्छा वाचक वाक्य कहते हैं।

इच्छावाचक वाक्य के उदाहरण

  • सदा खुश रहो।
  • दीपावली की आपके परिवार को शुभकामनाएं।
  • तुम्हारा कल्याण हो।

संदेहवाचक वाक्य

जिन वाक्य में किसी भी प्रकार की संभावना और सदेंह का बोध होता हो, उन वाक्य को संदेहवाचक वाक्य कहा जाता है।

संदेहवाचक वाक्य के उदाहरण

  • लगता है राम अब ठीक हो गया है।
  • शायद आज बारिश हो सकती है।
  • शायद मेरा भाई इस काम के लिए मान गया है।

संकेतवाचक वाक्य

वह वाक्य जिनमें एक क्रिया या दूसरी क्रिया पर पूरी तरह से निर्भर हो, उन वाक्य को संकेतवाचक वाक्य कहा जाता है।

संकेतवाचक वाक्य के उदाहरण

  • अच्छे से प्रैक्टिस करते,तो मैडल मिल जाता।
  • अच्छी तैयारी की होती, तो सिलेक्शन हो जाता।
  • कार को धीरे चलाते, तो पेट्रोल खत्म नहीं होता।

यह भी पढ़े: सर्वनाम की परिभाषा, भेद और उदाहरण

Vakya in Hindi Video

Credit: Silent Writer

FAQs

  1. वाक्य किसे कहते हैं उसके कितने भेद हैं?

    आधुनिक व्याकरण की दृष्टि से वाक्य के तीन भेद होते हैं—सरल वाक्य, मिश्रित वाक्य और संयुक्त वाक्य

  2. वाक्य का उदाहरण क्या है?

    दो या दो से अधिक पदों के सार्थक समूह को, जिसका पूरा पूरा अर्थ निकलता है, वाक्य कहते हैं। उदाहरण के लिए ‘सत्य की विजय होती है। ‘ एक वाक्य है क्योंकि इसका पूरा पूरा अर्थ निकलता है किन्तु ‘सत्य विजय होती।

  3. वाक्य के मुख्यतः कितने तत्व होते हैं?

    वाक्य-गठन में दो प्रकार के तत्व निहित होते है : (1) मुख्य तत्व (2) विशेषक तत्व। मुख्य तत्व भी दो हैं : (1) संज्ञा या उद्देश्य (2) क्रिया या विधेय। यह वाक्य का सर्वप्रमुख तत्व होता है। सरल भाषा में कह सकते हैं कि जिसके विषय में कुछ कहा जाए उसे उद्देश्य कहते हैं

  4. वाक्य के प्रमुख गुण कितने हैं?

    वाक्य में प्रमुख गुण निम्नलिखित होते हैं
    सार्थकता या पूर्णता
    योग्यता या सामर्थ्य
    आसन्ति या निकटता
    आकांक्षा या उद्देश्य
    पदक्रम या संयोजन
    अन्वय या मेल

  5. संयुक्त वाक्य क्या होते हैं?

    सयुंक्त वाक्य की परिभाषा: ऐसे वाक्य जिनमें दो या दो से अधिक उपवाक्य शामिल हो एवं सभी उपवाक्य प्रधान हो, उन वाक्य को संयुक्त वाक्य कहा जाता है। संयुक्त वाक्य जिसमें दो या दो से अधिक सरल वाक्य या मिश्र वाक्य शामिल होते हैं। यह वाक्य एक दूसरे पर आश्रित नहीं होते हैं एवं संयोजक अव्यय इन वाक्यों को मिलाता है।

1 thought on “Vakya Kise Kahate Hain – वाक्य की परिभाषा, भेद, उदाहरण”

  1. Pushpendra Raghuwanshi

    वाक्य रचना किसे कहते है उदहारण सहित समझाइए।

Leave a Comment

Your email address will not be published.