Hindi Shayari

Hindi Shayari | शायरी हिंदी में

Hindi Shayari: आज हम आपको इस आर्टिकल में हिंदी शायरी (hindi shayari) सुनाएंगे की आप इन्हें अपने व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर कर सकते हैं | Hindi शायरी यहां पर आपको एक से बढ़कर एक शायरी सुनने को मिलेगी इनसे आपके दिल को राहत महसूस होगी और यह शायरी आप अपने दिल की बात को शब्दों में बयां कर सकते हैं|

Hindi Shayari || शायरी हिंदी में

मंजिल भी तुम हो तलाश भी तुम हो,
उम्मीद भी तुम हो आस भी तुम हो,
इश्क भी तुम हो और जूनूँ भी तुम ही हो,
अहसास तुम हो प्यास भी तुम ही हो।

चेहरे पे मेरे जुल्फों को फैलाओ किसी दिन,
क्यूँ रोज गरजते हो बरस जाओ किसी दिन,
खुशबु की तरह गुजरो मेरी दिल की गली से,
फूलों की तरह मुझपे बिखर जाओ किसी दिन।

ये ज़ुल्फ़ अगर खुलके बिखर जाये तो अच्छा,
इस रात की तकदीर संवर जाए तो अच्छा,
जिस तरह से थोड़ी सी तेरे साथ कटी है,
बाकी भी इसी तरह गुजर जाए तो अच्छा।

मैने कब तुझसे ज़माने की खुशी माँगी है,
एक हल्की-सी मेरे लब पे हँसी माँगी है,
सामने तुझको बिठाकर तेरा दीदार करूँ,
जी में आता हैं जी भर के तुझे प्यार करूँ।

सर्द हवाओं ने गालों को छुआ है,
शायद तुमने मेरा नाम लिया होगा,
दिल की धड़कन रुक सी गयी है सीने में,
शायद तुमने मुझे थाम लिया होगा।

लबों से छू लूँ जिस्म तेरा,
साँसों में साँस जगा जाऊँ,
तू कहे अगर इक बार मुझे,
मैं खुद ही तुझमें समा जाऊँ।

जन्म-जन्म जो साथ निभाए,
तुम ऐसा बंधन बन जाओ,
मैं बन जाऊं प्यार भरा दिल,
तुम दिल की धड़कन बन जाओ।

दिल में है जो बात होंठों पे आने दे,
मुझे जज्बातों की लहरों में खो जाने दे,
आदी हो चुका हूँ मैं तेरी निगाहों का,
अपनी निगाहों के समंदर में डूब जाने दे।

एक पल के लिए जब तू पास आता है,
मेरा हर लम्हा ख़ास बन जाता है,
सँवरने सी लगती है ये ज़िन्दगी अपनी,
जब भी तू मेरी बाहों में मुस्कुराता है।

रख लूं नजर में चेहरा तेरा
दिन रात इसी पे मरता रहूं..
जब तक ये सांसे चलती रहें,
मैं तुझसे मोहब्बत करता रहूं…

फ़िज़ा में महकती शाम हो तुम,
प्यार का छलकता जाम हो तुम,
सीने में छुपाये फिरते हैं तुम्हें,
मेरी ज़िन्दगी का दूसरा नाम हो तुम।

तेज बारिश में कभी सर्द हवाओं में रहा,
एक तेरा ज़िक्र था जो मेरी सदाओं में रहा,
कितने लोगों से मेरे गहरे रिश्ते थे मगर,
तेरा चेहरा ही सिर्फ मेरी दुआओं में रहा।

कुछ नशा तेरी बात का है,
कुछ नशा धीमी बरसात का है,
हमें तुम यूँही पागल मत समझो,
ये दिल पर असर पहली मुलाकात का है!!

तुझसे रु-ब-रु होकर बातें करूँ,
निगाहें मिलाकर वफ़ा के वादे करूँ,
थाम कर तेरा हाथ बैठ जाऊं तेरे सामने,
तेरी हसीन सूरत के नज़ारे करूँ।

कभी लफ्ज़ भूल जाऊं कभी बात भूल जाऊं
तूझे इस कदर चाहूँ कि अपनी ज़ात भूल जाऊं
कभी उठ के तेरे पास से जो मैं चल दूँ
जाते हुए खुद को तेरे पास भूल जाऊं।

छू गया जब कभी ख्याल तेरा
दिल मेरा देर तक धड़कता रहा
कल तेरा ज़िक्र छिड़ गया घर में
और घर देर तक महकता रहा।

मैं तमाम दिन का थका हुआ
तू तमाम शब का जगा हुआ
ज़रा ठहर जा इसी मोड़ पर
तेरे साथ शाम गुज़ार लूँ।

गर मेरी चाहतों के मुताबिक
ज़माने की हर बात होती
तो बस मैं होता तुम होती
और सारी रात बरसात होती।

हक़ीक़त ना सही तुम
ख़्वाब की तरह मिला करो,
भटके हुए मुसाफिर को
चांदनी रात की तरह मिला करो।

तेरे सीने से लगकर तेरी आरजू बन जाऊँ
तेरी साँसो से मिलकर तेरी खुश्बू बन जाऊँ
फासले ना रहें कोई तेरे मेरे दरमिआँ
मैं…मैं ना रहूँ बस तू ही तू बन जाऊँ।

मंजिल भी तुम हो तलाश भी तुम हो
उम्मीद भी तुम हो आस भी तुम हो
इश्क भी तुम हो और जूनूँ भी तुम ही हो
अहसास तुम हो प्यास भी तुम ही हो।

चेहरे पे मेरे जुल्फों को फैलाओ किसी दिन
क्यूँ रोज गरजते हो बरस जाओ किसी दिन
खुशबु की तरह गुजरो मेरी दिल की गली से
फूलों की तरह मुझपे बिखर जाओ किसी दिन।

कुछ सोचूं तो तेरा ख्याल आ जाता है;
कुछ बोलूं तो तेरा नाम आ जाता है;
कब तलक बयाँ करूँ दिल की बात;
हर सांस में अब तेरा एहसास आ जाता है।

हर बार दिल से ये पैगाम आए;
ज़ुबाँ खोलूं तो तेरा ही नाम आए;
तुम ही क्यूँ भाए दिल को क्या मालूम;
जब नज़रों के सामने हसीन तमाम आए.

Hindi Shayari | शायरी हिंदी में

Credit: Untold Scars; Hindi Shayari

दोस्तों अगर आपको यह है आर्टिकल अच्छा लगा हो तो आप इसे अपने सभी दोस्तों के साथ शेयर करना और आप इसे अपने फेसबुक व्हाट्सएप और सभी सोशल मीडिया पर शेयर कर सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.