What is intrusion detection system (IDS) In Hindi

हेलो स्टूडेंट्स, इस पोस्ट में हम आज What is intrusion detection system (IDS) In Hindi के बारे में पढ़ेंगे | इंटरनेट में नेटवर्क सुरक्षा और क्रिप्टोग्राफी के नोट्स हिंदी में बहुत कम उपलब्ध है, लेकिन हम आपके लिए यह हिंदी में डिटेल्स नोट्स लाये है, जिससे आपको यह टॉपिक बहुत अच्छे से समझ आ जायेगा |

IDS का पूरा नाम intrusion detection system है। IDS एक प्रकार का security सॉफ्टवेयर है जिसका प्रयोग सिस्टम तथा नेटवर्क को unwanted तथा unauthorized access से सुरक्षित करने के लिए किया जाता है। यह हैकर, attacker तथा अन्य खतरनाक attacks से सिस्टम को बचाता है।

जैसा कि इसका नाम है यह नेटवर्क तथा सिस्टम में intrusions को detect करने के लिए प्रयोग किया जाता है और जैसे ही कोई intrusions मिलता है तो यह alert कर देता है।

IDS का प्रयोग विभिन्न तरीके से malicious traffic को डिटेक्ट करने के लिए किया जाता है। IDS के दो प्रकार निम्न है:-
1:-Host based IDS
2:-Network based IDS.

Also Check: Types of virus in Hindi

1:-Host based IDS(HIDS):- HIDS होस्ट(host) में इनस्टॉल रहता है और यह केवल उस traffic को देखता है जो उस होस्ट में उत्पन्न होता है या उस होस्ट से होकर गुजरता है। अगर कोई malicious activity दिखाई देती है तो यह केवल इसी होस्ट में detect करता है।

image

2:-Network based IDS(NIDS):- NIDS उन सभी hosts को देखता है जो नेटवर्क में उपस्थित होते है तथा इनमें होने वाले सभी malicious traffic को डिटेक्ट करता है। NIDS सम्पूर्ण नेटवर्क को monitor करता है।

image

हम आशा करते है कि यह Network Security & Cryptography के हिंदी में नोट्स आपकी स्टडी में उपयोगी साबित हुए होंगे | अगर आप लोगो को इससे रिलेटेड कोई भी किसी भी प्रकार का डॉउट हो तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूंछ सकते है | आप इन्हे अपने Classmates & Friends के साथ शेयर करे |

Leave a Comment

Your email address will not be published.