UP Board Solutions for Class 10 English Poetry Chapter 1 The Fountain (James Russell Lowell)

यहां हमने यूपी बोर्ड कक्षा 10वीं की अंग्रेजी एनसीईआरटी सॉल्यूशंस को दिया हैं। यह solutions स्टूडेंट के परीक्षा में बहुत सहायक होंगे | Student up board solutions for Chapter 1 The Fountain (James Russell Lowell) pdf Download करे| up board solutions for Chapter 1 The Fountain (James Russell Lowell) notes will help you. NCERT Solutions for Chapter 1 The Fountain (James Russell Lowell) pdf download, up board solutions for Class 10 English.

Comprehension Questions 

In the examination paper, there are asked only two questions from each paragraph. Given below are some more questions for extra practice.

Read the following stanzas and answer the questions put there upon :

(1) Into the sunshine, ……….. From morn till night ! [2011]

Question .
1. How does the fountain appear in the sunshine ?
(धूप में फव्वारा कैसा प्रतीत होता है ?)
                   Or
When is the fountain full of the light ?
(फव्वारा प्रकाश से भरा हुआ कब होता है ?)
2. What does the poet describe in the above lines ?
(उपर्युक्त पंक्तियों में कवि क्या वर्णन करता है ?) ।
                   Or
What does the fountain do from morning till night?
(सुबह से रात्रि तक फव्वारा क्या करता है ?)
Answer:
1. The fountain looks full of light in the sunshine.
(फव्वारा धूप में प्रकाश से भरा हुआ प्रतीत होता है।)
2. In the above lines the poet describes that a fountain is leaping and flashing
from morning till night. (उपर्युक्त पंक्तियों में कवि वर्णन करता है कि सुबह से शाम तक एक फव्वारा उछलता रहता है और चमकता रहता है।)

(2) Into the moon light, …………….. When the winds blow ! [2010, 11, 12, 14, 15, 16, 17, 18]

Question .
1. How does the fountain look like in the moon light ?
(चन्द्रमा की रोशनी में फव्वारा कैसा दिखाई देता है ?)
2. What kind of movement does the word ‘waving’ suggest ? What is meant by the word ‘so used in the third line?
(शब्द ‘waving’ किस प्रकार की गति को बताता है ? तीसरी पंक्ति में ‘so’ शब्द का क्या तात्पर्य है ?)
3. What colour is the fountain in moonlight ? What is the significance of the Word into in first line?”
(चन्द्रमा की रोशनी में फव्वारे का रंग कैसा होता है ? पहली पंक्ति में ‘into’ शब्द का क्या महत्त्व है ?)
4. What is the effect of the moon light on the fountain ?
(फव्वारे पर चन्द्रमा की रोशनी का क्या प्रभाव पड़ता है ?)
5. what happens when the winds blow?
(जब हवाएँ चलती हैं तब क्या होता है ?)
                      Or
How does the fountain look when the winds blow?
(जब हवाएँ चलती हैं तब फव्वारा कैसा लगता है ?)
                     Or
What is the effect of the winds on the fountain ?
(फव्वारे पर हवाओं का क्या प्रभाव होता है ?)
Answer:
1. In the moon light the fountain looks whiter than snow.
(चन्द्रमा की रोशनी में फव्वारा बर्फ से भी अधिक सफेद दिखाई देता है।)
2. Waving suggests the movement to and fro. So’ means like’. |
(Waving’ इधर-उधर (दाएँ-बाएँ) की गति को बताता है। ‘So’ का अर्थ है ‘समान।)
3. In the moonlight the colour of the fountain is white. The word ‘into’ in first line denotes to move eternally in every condition.
(चन्द्रमा की रोशनी में फव्वारे की रंग सफेद होता है। पहली पंक्ति का शब्द ‘into’ प्रत्येक दशा में ‘लगातार आगे बढ़ने का संकेत दे रहा है। )
4. Moonlight makes the fountain whiter than snow.
(चन्द्रमा की रोशनी फव्वारे को बर्फ से भी अधिक सफेद बना देती है।)
5. When the winds blow, the fountain waves like a flower.
(जब हवाएँ चलती हैं तब फव्वारा फूल के समान लहराता हुआ दिखाई देता है।)

(3) Into the starlight,…………………Happy by day! [2009]

Question .
1. How do you know that the fountain is always happy?
(आप कैसे जानते हैं कि फव्वारा सदैव प्रसन्न रहता है ?)
2. Which quality of the fountain affects the poet?
(फव्वारे का कौन-सा गुण कवि को प्रभावित कर रहा है ?)
3. What do you understand by the word ‘spray used in the poem ?
(कविता में प्रयुक्त ‘spray शब्द से क्या अभिप्राय है ?)
Answer:
1. The fountain is joyfully busy in moving up and up all the whole day and night. It indicates that it is always happy.
(फव्वारा दिन-रात खुशी-खुशी ऊपर और ऊपर उठने में व्यस्त रहता है। अत: कहा जा सकता है कि
वह सदैव प्रसन्न रहता है।)
2. The poet affects much with the pleasure of the fountain as it is always happy in all conditions. It sprays at midnight or by day in all directions.
(कवि फव्वारे की प्रसन्नता से अधिक प्रभावित होता है, क्योकि यह प्रत्येक परिस्थिति में प्रसन्न रहता है। यह आधी रात में भी और दिन में भी अपनी फुहार रूपी प्रसन्नता सभी दिशाओं में छोड़ता रहता है।)

3. ‘Spray suggests that the fountain spreads its happiness in all directions.
(Spray’ शब्द से अभिप्राय है कि फव्वारा अपनी प्रसन्नता सभी दिशाओं में फैलाना चाहता है।)

(4) Ever in motion, ……Never a weary; [2014, 16, 18]

Question .
1. From which poem has the above stanza been taken? Who is the author of the
(उपर्युक्त पद्यांश किस कविता से लिया गया है? इस कविता के रचयिता कौन हैं?)
2. How does the fountain remain in motion?
(फव्वारा चलते समय कैसा रहता है ?)
3. In which direction does the fountain climb ?
(फव्वारा किस दिशा में ऊपर जाता है ?)
4. What lesson can we learn from the constantly ‘heavenward’ moving | fountain ?
(लगातार आकाश की ओर उठते हुए फव्वारे से हम क्या सीख सकते हैं ?)
5. Why has the fountain been called ever in motion’ ? ।
(फव्वारे को सदैव गतिशील क्यों कहा गया है ?)
6. Describe the qualities of fountain as mentioned in the above noted stanza.
(उपर्युक्त पद्यांश में वर्णित फव्वारे के गुणों का वर्णन कीजिए।)
7. Point out the rhyming words in the above stanza.
(उपर्युक्त पद्यांश में से समान तुक वाले शब्द छाँटिए।)
Answer:
1. The above stanza has been taken from the poem “The Fountain’. The author
of the poem os James Russell Lowell.
(उपर्युक्त पद्यांश The Fountain’ नामक कविता से लिया गया है। इसके रचियता James Russell Lowell हैं।)
2. The fountain remains blithesome and cheery in motion.
(फव्वारा जब चलता है, प्रसन्न और प्रफुल्लित रहता है।)
3. The fountain climbs heavenward.
(फव्वारा ऊपर की ओर ही जाता है। )
4. We can learn from the fountain that we should also work hard constantly to achieve higher goals of life.
(फव्वारे से हम सीख सकते हैं कि हमें जीवन के उच्च लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए सतत प्रयत्न करना चाहिए।)
5. The fountain has been called ‘ever in motion’ because it never stops and always moves upward.
(फव्वारे को ‘सदा गति में कहा गया है, क्योंकि यह कभी रुकता नहीं और सदा ऊपर की ओर चलता है।)
6. The qualities of the fountain as mentioned in the above stanza are :
(उपर्युक्त पद्यांश में वर्णित फव्वारे के गुण इस प्रकार हैं )
(a) always active,
(b) happy and cheerful,
(c) going upward,
(d) never tired.
7. The rhyming words are: cheery and aweary.

(5) Glad of all weathers, ……………. Motion the rest; [2009, 12, 16]

Question .
1. What is the condition (state) of the fountain in all weathers ?
(प्रत्येक मौसम में फव्वारे की क्या दशा होती है ?)
                    Or
How does the fountain look in all weathers ?
(प्रत्येक मौसम में फव्वारा कैसा दिखाई देता है ?)
2. How does the fountain move?
(फव्वारा कैसे गतिमान होता है ?)
3. What does the poet mean by the line motion the rest’ ?
(Motion thy rest’ पंक्ति से कवि का क्या आशय है ?)
4. What lesson does the poet want to give us in the above stanza ?
|(उपर्युक्त पद्यांश में कवि हमें क्या शिक्षा देना चाहता है ?)
Answer:
1. The fountain looks glad in all weathers.
(फव्वारा सभी मौसमों में प्रसन्न प्रतीत होता है।) ।
2. The fountain moves upward and downward (for rest).
(फव्वारा ऊपर की ओर तथा नीचे की ओर (आराम के लिए) गतिमान रहता है।)
3. The fountain never takes rest. It always moves upward and downward. It always remains in motion. Motion is its rest.
(फव्वारा कभी विश्राम नहीं करता है। यह हमेशा कभी ऊपर तो कभी नीचे की ओर बहता रहता है। यह हमेशा गतिमान रहता है। गति ही इसका विश्राम है।)
4. The poet teaches us always to be active to achieve higher goals of life.
(कवि हमें शिक्षा देता है कि जीवन के उच्च लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए हमें सदा गतिशील रहना चाहिए।)

(6) Full of nature……………………….. Ever the same; [2009]

Question .
1. What do the first two lines of the given stanza mean?
(पद्यांश की पहली दो पंक्तियों का क्या अर्थ है ?)
                        Or
Why can nothing ‘tame’ (control) the fountain ?
(कोई भी फव्वारे को क्यों नहीं रोक सकता ?) ”
2. What is the nature of the fountain?
(फव्वारे की प्रकृति क्या है ?)
3. What do the words ‘Changed every moment, ever the same’ indicate about the Fountain?
(Changed every moment, every the same’ शब्द फव्वारे के बारे में क्या बताते हैं ?)
4. How is the fountain ever the same ?
(फव्वारा सदैव एक-सा कैसे रहता है ?)
Answer:
1. The fountain has a natural instinct and power to go up and up and nothing can stop it from doing so.
(फव्वारे में एक प्राकृतिक शक्ति होती है जिससे वह ऊपर और ऊपर उठना चाहता है। उसे कोई नहीं रोक सकता।)
2. The nature of the fountain is uncontrollable.
(फव्वारे की प्रकृति अनियन्त्रणीय है।)
3. These words indicate that the fountain always remains the same in every moment. It never changes.
(ये शब्द बताते हैं कि फव्वारा हमेशा हर स्थिति में ज्यों-का-त्यों रहता है। यह कभी भी बदलता नहीं है।)
4. The fountain keeps on changing every moment but looks ever the same. .
(यद्यपि फव्वारा परिवर्तनशील है फिर भी सदैव एक समान ही प्रतीत होता है।)

(7) Ceuseless aspiring, ……. The element; [2009, 11, 13, 16]

Question .
What qualities of the fountain have been described ?
(फव्वारे के कौन-से गुणों का बखान किया गया है ?)
2. What are the elements of the fountain?
(फव्वारे के तत्त्व कौन-कौन से हैं ?)
3. What is the nature of the fountain ? What do the words ‘darkness and ‘sunshine’ indicate?
(फव्वारे का क्या स्वभाव होता है ? ‘darkness’ तथा ‘sunshine’ शब्द क्या प्रकट करते हैं ?)
4. What lesson does the poet want to give us in the above stanza ?
(उपर्युक्त पद्यांश में हमें कवि क्या सन्देश देना चाहता है ?
5. Point out the rhyming words in the above stanza.
(उपर्युक्त पद्यांश में से समान तुक वाले शब्द छाँटिए।)
Answer:
1. The quality of the fountain is that it is always eager to go up but is always
satisfied.
(फव्वारे का यह गुण है कि यद्यपि यह सदैव ऊपर और ऊपर उठना चाहता है तथापि उसमें सन्तोष होता है।)
2. Darkness and sunshine are the elements of the fountain.
(अन्धकार और प्रकाश अथवा रात और दिन फव्वारे के तत्त्व हैं।)
3. The nature of the fountain is always to go up without stopping. ‘Darkness’ indicates night’ and ‘sunshine’ indicates “day’.
(फव्वारे का स्वभाव है बिना रुके सदा ऊपर की ओर जाना। darkness रात्रि को और sunshine दिन को प्रकट करते हैं।)
4. In the above stanza, the poet wants us to keep ourselves always fresh and changing but steady. We should always look towards higher things. We should work hard from morning till night and should never feel tired.
(उपर्युक्त पद्यांश में कवि चाहता है कि हम स्वयं को सदा तरोताजा और परिवर्तनशील रखें, किन्तु दृढ़ रहें। हम सदा उच्च बातों की ओर देखें। हमें प्रात:काल से सायंकाल तक परिश्रम करना चाहिए
और थका हुआ अनुभव नहीं करना चाहिए।
5. The rhyming words are: : content and element.

(8) Glorious fountain! ……Upward like thee! [2009, 10, 12, 14, 16, 17]

Question .
From which poem has the above stanza been taken? Who is the author of the poem?
(उपर्युक्त पद्यांश किस कविता से लिया गया है? इस कविता के रचयिता कौन हैं?)
2. Why has the fountain been addressed as glorious ?
(फव्वारे को शानदार कहकर क्यों सम्बोधित किया गया है ?)
3. What qualities of the fountain does the poet wish to have ?
(फव्वारे के कौन-से गुण कवि भी ग्रहण करना चाहता है ?)
                             Or
What kind of heart does the poet wish to have ?
(कवि किस प्रकार का हृदय चाहता है ?)
4. The poet has called the fountain changeful’ and ‘constant. Why has he used these contradictory words for the fountain ? (कवि ने फव्वारे को ‘changeful’ तथा ‘constant’ कहा है। उसने फव्वारे के लिए परस्पर विरोधी
शब्द क्यों प्रयोग किये हैं ?)
5. What qualities of the fountain have been mentioned by the poet in these lines ?
(इन पंक्तियों में कवि ने फव्वारे के किन गुणों का वर्णन किया है ?)
6. Point out the rhyming words in the above. stanza. ?
(उपर्युक्त पंद्याश में से समान तुक वाले शब्द छाँटिए।)
Answer:
1. The above stanza has been taken from the poem ‘The Fountain’. The author of the poem is James Russell Lowell.
(उपर्युक्त पद्यांश The Fountain’ नामक कविता से लिया गया है। इसके रचयिता James Russell Lowell हैं।)
2. The fountain looks very beautiful when it goes up. So the poet addresses it as glorious.
(फव्वारा जब ऊपर को जाता है तब अत्यन्त सुन्दर लगता है। इसीलिए कवि इसे glorious कहकर सम्बोधित कर रहा है।)
3. The poet wishes to be fresh, changeful, constant and upward like the fountain.
(कवि भी फव्वारे की भाँति ताजा, परिवर्तनशील, सतत और प्रगतिशील बनना चाहता है।)
4. Like the changeful fountain, we have ups and downs in our life, but we should move forward with firmness like the constant fountain.
(हमारे जीवन में changeful फव्वारे की तरह उतार-चढ़ाव आते हैं, परन्तु हमें constant फव्वारे
की तरह सदैव अडिग भाव से आगे बढ़ते रहना चाहिए।)
5. The poet has described in these lines that the fountain is fresh, changeful and constant.
(इन पंक्तियों में कवि ने बताया है कि फव्वारा ताजा, परिवर्तनशील और सतत प्रगतिशील है।)”
6. The words be’ and ‘thee’ rhyme.

APPRECIATION OF THE POEM

Question 1.
Who is addressing and to whom in this poem ?
(इस कविता में कौन किसे सम्बोधित कर रहा है ?)
Answer:
In this poem the poet is addressing to the fountain.
(इस कविता में कंवि फव्वारे को सम्बोधित कर रहा है।)

Question 2.
What qualities of the fountain does the poet wish to have ?
(कवि फव्वारे के कौन-से गुण प्राप्त करना चाहता है ?)
Answer:
The poet wishes to have the qualities of freshness, changefulness and constancy.
(कवि ताजगी, परिवर्तनशीलता और निरन्तरता जैसे गुण प्राप्त करना चाहता है।)

CENTRAL IDEA OF THE POEM

[2009, 10, 11, 12, 13, 14, 15, 16, 17, 18]
The fountain is a source of inspiration for the poet. It looks charming day and night. It remains glad in all weathers. Its movements are natural and it cannot be trained. It is untiring, ever-happy, ceaselessly aspiring, ever fresh and glorious. The poet also wishes to remain fresh, constant and upward like the fountain.
(फव्वारा कवि के लिए प्रेरणा का स्रोत है। यह पूरे दिन और रात् को सुन्दर दिखाई देता है। यह सभी मौसमों में प्रसन्न रहता है। इसकी गतियाँ स्वाभाविक हैं और इसे प्रशिक्षित नहीं किया जा सकता। यह थकता नहीं, सदा प्रसन्न रहता है, अविरत ऊँचा उठने की महत्त्वाकांक्षा रखता है, सदैव ताजा और यशस्वी रहता है। कवि भी फव्वारे के समान तरोताजा, दृढ़ और प्रगतिशील बनना चाहता है।)

ADVICE OF THE POET

We learn from the fountain to keep ourselves always fresh and changing but steady. We should always look towards higher things. We should work hard from morning till night and should never feel tired.
(हम फव्वारे से सीखते हैं कि हम स्वयं को सदा तरोताजा और परिवर्तनशील रखें, किन्तु दृढ़ रहें। हम सदा उच्च बातों की ओर देखें। हमें प्रात:काल से सायंकाल तक परिश्रम करना चाहिए और थका हुआ अनुभव नहीं करना चाहिए।)

————————————————————

All Chapter UP Board Solutions For Class 10 English

All Subject UP Board Solutions For Class 10 Hindi Medium

Remark:

हम उम्मीद रखते है कि यह UP Board Class 10 English NCERT Solutions in Hindi आपकी स्टडी में उपयोगी साबित हुए होंगे | अगर आप लोगो को इससे रिलेटेड कोई भी किसी भी प्रकार का डॉउट हो तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूंछ सकते है |

यदि इन नोट्स से आपको हेल्प मिली हो तो आप इन्हे अपने Classmates & Friends के साथ शेयर कर सकते है और HindiLearning.in को सोशल मीडिया में शेयर कर सकते है, जिससे हमारा मोटिवेशन बढ़ेगा और हम आप लोगो के लिए ऐसे ही और मैटेरियल अपलोड कर पाएंगे |

आपके भविष्य के लिए शुभकामनाएं!!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *