UP Board Class 3 Hindi व्याकरण

यहां हमने यूपी बोर्ड कक्षा 3वीं की हिंदी एनसीईआरटी सॉल्यूशंस को दिया हैं। यह solutions स्टूडेंट के परीक्षा में बहुत सहायक होंगे | Student up board solutions for Class 3 Hindi व्याकरण pdf Download करे| up board solutions for Class 3 Hindi व्याकरण notes will help you. NCERT Solutions for Class 3 Hindi व्याकरण pdf download, up board solutions for Class 3 Hindi.

यूपी बोर्ड कक्षा 3 Hindi के सभी प्रश्न के उत्तर को विस्तार से समझाया गया है जिससे स्टूडेंट को आसानी से समझ आ जाये | सभी प्रश्न उत्तर Latest UP board Class 3 Hindi syllabus के आधार पर बताये गए है | यह सोलूशन्स को हिंदी मेडिअम के स्टूडेंट्स को ध्यान में रख कर बनाये गए है |

UP Board Class 3 Hindi व्याकरण

प्रश्न:
व्याकरण क्या है?
उत्तर:
भाषा की शुद्धता और अशुद्धता का ज्ञान कराने वाला शास्त्र व्याकरण कहलाता है;

जैसे-

  • रानी स्कूल जाती है। (शुद्ध)
  • रानी स्कूल जाता है। (अशुद्ध)

प्रश्न:
भाषा क्या है?
उत्तर:
भाव या विचार प्रकट करने का माध्यम ही भाषा कहलाता है; जैसे- हिन्दी, अंग्रेजी, पंजाबी, तेलुगू, मराठी, तमिल, मैथिली आदि।

प्रश्न:
वर्ण या अक्षर किसे कहते हैं?
उत्तर:
वह छोटी-से-छोटी ध्वनि, जिसके और टुकड़े न हो सकें, वर्ण या अक्षर कहलाती है;
जैसे- अ, इ, उ, ऋ, क्, च्, ट्, त्, प् आदि।

उदाहरण-
जब हम ‘आम’ शब्द कहते हैं, तब ‘आ’, ‘म्+अ’ दो ध्वनियों को एक साथ मिलाकर बोलते हैं। इन ध्वनियों को ही वर्ण या अक्षर कहते हैं।

अक्षया वणों के भेद

प्रश्न:
वर्ण के कितने भेद होते हैं?
उत्तर:
वर्ण के दो भेद होते हैं-

  • स्वर
  • व्यंजन।

प्रश्न:
स्वर किसे कहते हैं?
उत्तर:
स्वर-जो वर्ण या अक्षर बिना दूसरे वर्ण की सहायता के बोला जाए, उसे स्वर कहते हैं। हिन्दी भाषा में ग्यारह (11) स्वर होते हैं;
जैसे- अ, आ, इ, ई, उ, ऊ, ऋ, ए, ऐ, ओ, औ। ‘अं’ और ‘अः’ को अयोगवाह कहते हैं।

स्वर के दो रूप होते हैं-

  • ह्रस्व स्वर-जिस स्वर के उच्चारण में कम समय लगता है, उसे ‘ह्रस्व स्वर’ कहते हैं; जैसे- अ, इ, उ और ऋ।।
  • दीर्घ स्वर-जिस स्वर के उच्चारण में ह्रस्व स्वर से अधिक समय लगता है, उसे ‘दीर्घ स्वर’ कहते हैं; जैसे- आ, ई, ऊ, ए, ऐ, ओ और औ।

प्रश्न:
व्यंजन किसे कहते हैं?
उत्तर:
जिन वर्णों या अक्षरों के उच्चारण में स्वरों की सहायता ली जाए, उन्हें व्यंजन कहते हैं;

जैसे- क, ख, च, छ, ट, ठ, त, थ, प, फ, य, र, स, ह आदि।

हिन्दी भाषा में तैंतीस (33) व्यंजन होते हैं-

  • क वर्ग – क, ख, ग, घ, ङ
  • च वर्ग – च, छ, ज, झ, ञ
  • ट वर्ग – ट, ठ, ड, ढ, ण
  • त वर्ग – त, थ, द, ध, न
  • प वर्ग – प, फ, ब, भ, म
  • अंतस्थ – य, र, ल, व
  • ऊष्म – श, ष, स, ह

संयुक्त व्यंजन- जो व्यंजन दो व्यंजनों के योग से बनते हैं, वे संयुक्त व्यंजन कहलाते हैं, जैसे-

  • क्ष = क् + ष् + अ
  • त्र = त् + र् + अ
  • ज्ञ = ज् + ञ् + अ
  • श्र= श् + र् + आ
  • अतिरिक्त व्यंजन – ड़, ढ़.

अनुस्वार (अं)- इसे शिरोरेखा के ऊपर बिन्दु (.) के रूप में लिखा जाता है। इसका उच्चारण करते समय हवा नाक से बाहर निकलती है; जैसे- गंगा, मंगल, कलंक आदि।
विसर्ग (अः)- यदि ‘अ’ के आगे दो बिन्दु (:) लगें, तो वे विसर्ग कहलाते हैं; जैसे- प्रातः, अतः, स्वतः आदि।

प्रश्न:
मात्रा किसे कहते हैं?
उत्तर:
स्वरों के चिह्न, जो व्यंजनों पर लगाए जाते हैं, मात्राएँ कहलाते हैं। अ स्वर की कोई मात्रा नहीं होती है।
UP Board Class 3 Hindi व्याकरण

UP Board Class 3 Hindi व्याकरण

प्रमुख विराम चिह्न- हिन्दी में लिखते समय निम्नलिखित चिह्न प्रमुख रूपों में प्रयुक्त किए जाते हैं

  1. अल्पविराम (,)
  2. अर्धविराम (;)
  3. पूर्णविराम (।)
  4. प्रश्नवाचक चिह्न (?)
  5. विस्मयादिबोधक चिहन (!)
  6. लाघव चिह्न (०)
  7. विवरण (विसर्ग) चिह्न (:)
  8. संयोजक चिह्न (-)
  9. निर्देशक चिह्न (-)
  10. उद्धरण या अवतरण चिह्नः (” “) (‘ ‘)

प्रश्न:
शब्द किसे कहते हैं?
उत्तर:
शब्द की परिभाषा- वर्णों के सार्थक समूह को शब्द कहते हैं; जैसे- रेखा, पानी, आगरा आदि।

शब्द के प्रकार- अर्थ के आधार पर शब्द दो प्रकार के होते हैं-

  • सार्थक शब्द- जिस शब्द का कुछ अर्थ समझ में आए, उसे ‘सार्थक शब्द’ कहते हैं; जैसे- राम, आम, आगरा, कमल आदि।
  • निरर्थक शब्द- जिस शब्द से कोई अर्थ प्रकट न हो. उसे ‘निरर्थक शब्द’ कहते हैं; जैसे- मआ, रागआ, लमक आदि।

प्रश्न:
वाक्य किसे कहते हैं?
उत्तर:
शब्दों का सार्थक समूह ही वाक्य कहलाता है; जैसे- सोनम पढ़ रही है।

प्रश्न:
शब्द और वाक्य में क्या अन्तर है?.
उत्तर:
शब्द वर्णों अथवा अक्षरों के सार्थक समूह को कहते हैं; जबकि वाक्य शब्दों के सार्थक समूह को। .

प्रश्न:
व्याकरण के अनुसार शब्द के कितने भेद हैं?
उत्तर:
व्याकरण के अनुसार शब्द के दो भेद होते हैं

  • विकारी
  • अविकारी

विकारी शब्द- वे शब्द जिनमें लिंग, वचन, कारक आदि के कारण परिवर्तन आ जाता है, विकारी शब्द कहलाते हैं। ये चार प्रकार के होते हैं-

  • संज्ञा
  • सर्वनाम
  • विशेषण
  • क्रिया

अविकारी शब्द (अव्यय)- वह शब्द, जिसका रूप हमेशा एक-सा रहे, उसे ‘अविकारी शब्द या अव्यय’ कहते हैं, जैसे- इधर-उधर, नित्य, धीरे-धीरे आदि।

प्रश्न:
संज्ञा किसे कहते हैं?
उत्तर:
संज्ञा- किसी वस्तु, स्थान, प्राणी या भाव के नाम को ‘संज्ञा’ कहते हैं; जैसे- राम, सीता, दिल्ली, दया, सभा, चावल आदि।

संज्ञा के पाँच भेद होते हैं

  1. व्यक्तिवाचक संज्ञा- जिस शब्द से किसी विशेष वस्तु व्यक्ति अथवा स्थान का पता चले उसे व्यक्तिवाचक संज्ञा कहते हैं; जैसे- भारत, यमुना, अंकित, लखनऊ आदि।
  2. जातिवाचक संज्ञा- जिस शब्द से एक जैसी अनेक वस्तुओं, व्यक्तियों अथवा स्थानों का पता चले, उसे जातिवाचक संज्ञा कहते हैं; जैसे- मनुष्य, घर, शहर, पशु, पक्षी आदि।
  3. समूहवाचक संज्ञा- वह शब्द, जिससे व्यक्तियों या प्राणियों, वस्तुओं आदि के इकट्ठे होने या एक साथ होने का ज्ञान हो, उसे समूहवाचक संज्ञा कहते हैं; जैसे- सभा, कक्षा, झुण्ड, दल, गुच्छा आदि।
  4. द्रव्यवाचक संज्ञा- वह शब्द जिससे मापे या तौले जाने वाले पदार्थ का ज्ञान हो, उसे द्रव्यवाचक संज्ञा कहते हैं; जैसे- चावल, आटा, चीनी, दाल, दूध, कपड़ा, नमक, तेल आदि।
  5. भाववाचक संज्ञा- जो शब्द किसी के गुण, दोष आदि को प्रकट करें, उन्हें भाववाचक संज्ञा कहते हैं; जैसे- अच्छाई, बुराई, भलाई, सुन्दरता आदि।

प्रश्न:
सर्वनाम किसे कहते हैं?
उत्तर:
सर्वनाम- जो शब्द संज्ञा के स्थान पर प्रयोग किए जाते हैं, उन्हें ‘सर्वनाम’ कहते हैं; जैसे- मैं, हम, तुम, वह, वे आदि।

उदाहरण-
राहुल अमेरिका में रहता है। वह वहाँ इंजीनियर है। ऊपर दिए गए उदाहरण में राहुल (संज्ञा) के स्थान पर वह (सर्वनाम) शब्द का प्रयोग हुआ है।

अन्य सर्वनाम- मैं, हम, तुम, वह, वे, तू, आप, कोई, कौन, कुछ, जो, सो आदि।

प्रश्न:
विशेषण किसे कहते हैं?
उत्तर:
विशेषण- जो शब्द किसी संज्ञा या सर्वनाम की विशेषता बताए, उसे ‘विशेषण’ कहते हैं, जैसे- सफेद, काला, सुन्दर, मोटा आदि।

लिंग

प्रश्न:
लिंग किसे कहते हैं? इसके भेद बताओ।
उत्तर:
लिंग- संज्ञा के जिस रूप से स्त्री या पुरुष जाति का बोध हो, उसे ‘लिंग’ कहते – हैं। इसके दो भेद होते हैं-

  1. पुल्लिग
  2. स्त्रीलिंग।

(1) पुल्लिग- जिस शब्द से पुरुष जाति का बोध हो, उसे पुल्लिग कहते हैं; जैसे-राम, घोड़ा, लोटा आदि।
(2) स्त्रीलिंग- जिस शब्द से स्त्री जाति का बोध हो, उसे स्त्रीलिंग कहते हैं; जैसेसीता, घोड़ी, लुटिया, रोटी आदि।

कुछ अन्य उदाहरण-
UP Board Class 3 Hindi व्याकरण 1

UP Board Class 3 Hindi व्याकरण 1
UP Board Class 3 Hindi व्याकरण 2
UP Board Class 3 Hindi व्याकरण 2

वचन

प्रश्न:
वचन किसे कहते हैं? इसके भेद बताओ।
उत्तर:
वचन- शब्द के जिस रूप से उसके एक या एक से अधिक होने का बोध हो, उसे ‘वचन’ कहते हैं।

वचन के दो भेद होते हैं-

  1. एकवचन
  2. बहुवचन

(1) एकवचन- जिस शब्द से एक वस्तु का बोध हो, उसे एकवचन कहते हैं; जैसे.. राम, लड़का, पेंसिल, पुस्तक आदि। .
(2) बहुवचन- जिस शब्द से एक से अधिक वस्तुओं का बोध हो, उसे बहुवचन कहते हैं; जैसे- लड़के, पेंसिलें, पुस्तकें, लड़कियाँ आदि।
UP Board Class 3 Hindi व्याकरण 3

UP Board Class 3 Hindi व्याकरण 3

विलोम शब्द (विपरीतार्थक शब्द)

विलोम शब्द (विपरीतार्थक शब्द )- जो शब्द एक-दूसरे का विपरीत अर्थ देते हैं, वे विलोम या विपरीतार्थी शब्द कहलाते हैं; जैसे- बड़ा-छोटा, आगे-पीछे आदि।
UP Board Class 3 Hindi व्याकरण 4

UP Board Class 3 Hindi व्याकरण 4

तत्सम तथा तद्भव शब्द

तत्सम शब्द- शब्दों के शुद्ध संस्कृत रूप को ‘तत्सम शब्द’ कहते हैं। तद्भव शब्द- संस्कृत शब्दों के बिगड़े हुए रूप को ‘तद्भव शब्द’ कहते हैं।
UP Board Class 3 Hindi व्याकरण 5

UP Board Class 3 Hindi व्याकरण 5

पर्यायवाची शब्द

  1. आकाश = गगन, नभ, अम्बर, शून्य, व्योम
  2. कमल = पंकज, नीरज, अरविन्द, सरोज, जलज
  3. चन्द्रमा = शशि, राकेश, इन्द्र, सुधाकर
  4. राजा = नरेश, नृप, भूप, महीप, नरेन्द्र
  5. सूर्य = भास्कर, रवि, भानु, दिनकर, सूरज
  6. पर्वत = गिरि, शैल, भूधर, पहाड़

मुहावरों का वाक्यों में प्रयोग

दंग रह जाना = चकित रह जाना – राम अपना परीक्षा-परिणाम देखकर दंग रह गया।
हाथ-पाँव मारना = प्रयास करना – रमेश ने बहुत हाथ-पाँव मारे; किन्तु वह नदी में डूब ही गया।
आँखें फेरना = साथ न देना – मुसीबत के समय मित्र भी आँखें फेर लेते हैं।
आँखें दिखाना = डराना – तुम मुझे आँखें मत दिखाओ, अपना काम करो।

अनेक शब्दों के लिए एक शब्द

जो सदा सत्य बोले – सत्यवादी
जो सबका कहना माने – आज्ञाकारी
जो सबको प्यारा लगे – सर्वप्रिय
प्रतिदिन होने वाला – दैनिक
प्रतिमाह होने वाला – मासिक
वर्ष में एक बार होने वाला – वार्षिक
अपनी हत्या अपने आप करना – आत्महत्या
परमात्मा को मानने वाला – आस्तिक
परमात्मा को न मानने वाला – नास्तिक

————————————————————

All Chapter UP Board Solutions For Class 3 Hindi

All Subject UP Board Solutions For Class 3 Hindi Medium

Remark:

हम उम्मीद रखते है कि यह UP Board Class 3 Hindi NCERT Solutions in Hindi आपकी स्टडी में उपयोगी साबित हुए होंगे | अगर आप लोगो को इससे रिलेटेड कोई भी किसी भी प्रकार का डॉउट हो तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूंछ सकते है |

यदि इन नोट्स से आपको हेल्प मिली हो तो आप इन्हे अपने Classmates & Friends के साथ शेयर कर सकते है और HindiLearning.in को सोशल मीडिया में शेयर कर सकते है, जिससे हमारा मोटिवेशन बढ़ेगा और हम आप लोगो के लिए ऐसे ही और मैटेरियल अपलोड कर पाएंगे |

आपके भविष्य के लिए शुभकामनाएं!!

Leave a Comment

Your email address will not be published.