RBSE Solutions for Class 11 Indian Geography Chapter 1 भारत की स्थिति, विस्तार व अवस्थिति

हेलो स्टूडेंट्स, यहां हमने राजस्थान बोर्ड Class 11 Indian Geography Chapter 1 भारत की स्थिति, विस्तार व अवस्थिति सॉल्यूशंस को दिया हैं। यह solutions स्टूडेंट के परीक्षा में बहुत सहायक होंगे | Student RBSE solutions for Class 11 Indian Geography Chapter 1 भारत की स्थिति, विस्तार व अवस्थिति pdf Download करे| RBSE solutions for Class 11 Indian Geography Chapter 1 भारत की स्थिति, विस्तार व अवस्थिति notes will help you.

Rajasthan Board RBSE Class 11 Indian Geography Chapter 1 भारत की स्थिति, विस्तार व अवस्थिति

RBSE Class 11 Indian Geography Chapter 1 पाठ्य पुस्तक के अभ्यास प्रश्न

RBSE Class 11 Indian Geography Chapter 1 वस्तुनिष्ठ प्रश्न

प्रश्न 1.
कन्याकुमारी से गोआ के बीच के तट को कहते हैं-
(अ) कोंकण तट
(ब) मलाबार तट
(स) सौराष्ट्र तट
(द) कारोमण्डल तटे

प्रश्न 2.
भारत के जिस राज्य की सीमा किसी अन्य देश से नहीं मिलती है वह है-
(अ) पंजाब
(ब) मेघालय
(स) त्रिपुरा
(द) हरियाणा

प्रश्न 3.
निम्नांकित में से उन देशों के समूह को चुनिये जिसमें सम्मिलित सभी देश क्षेत्रफल में भारत देश से छोटे हैं।
(अ) पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया, म्यांमार और अफगानिस्तान
(ब) चीन, ऑस्ट्रेलिया, क्यूबा, और ब्राजील
(स) फ्रांस, कनाडा, अफगानिस्तान और ईराक
(द) म्यांमार, पाकिस्तान, अफगास्तिान और ईराक
उत्तर:
1. (ब) 2. (द) 3. (द)।

RBSE Class 11 Indian Geography Chapter 1 अतिलघुत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 4.
किस देशान्तर रेखा का स्थानीय समय भारत का प्रामाणिक समय माना जाता है?
उत्तर:
82 (frac { 1 }{ 2 })° पूर्वी देशान्तर रेखा का स्थानीय समय भारत का प्रामाणिक समय माना जाता है।

प्रश्न 5.
कौन-सी मुख्य अक्षांश रेखा भारत को लगभग दो बराबर भागों में बांटती है?
उत्तर:
23 (frac { 1 }{ 2 })° उत्तरी अक्षांश (कर्क) रेखा भारत को लगभग दो बराबर भागों में बांटती है।

प्रश्न 6.
हमारे देश के आकार को देखते हुए इसकी जलीय सीमा की लम्बाई कम क्यों है?
उत्तर:
भारत का केवल दक्षिणी प्रायद्वीपीय भाग समुद्र के सहारे फैला हुआ है वह भी प्राय: एक सीधे संकुचित एवं सपाट रूप में है। जबकि उत्तरी भारत का क्षेत्र अधिक विस्तृत है। परन्तु यहाँ सामुद्रिक स्थिति नहीं मिलती इसी कारण जलीय सीमा कम लम्बी मिलती है।

RBSE Class 11 Indian Geography Chapter 1 लघुत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 7.
उत्तर-पूर्वी भारत में किन तीन देशों की सीमाएँ मिलती हैं?
उत्तर:
उत्तर-पूर्वी भारत में चीन, म्यांमार व भारत की सीमाएँ मिलती हैं। इनमें भारत-चीन के बीच मैकमोहने सीमा (हिमालय पर्वत श्रेणी द्वारा) जबकि भारत-म्यांमार के बीच मिशमी, नागा, पटकोई व मिजो पहाड़ियाँ, पूर्वी सीमा का निर्धारण करती हैं।

प्रश्न 8.
भारत का उत्तरी शीर्ष सामरिक व सुरक्षात्मक दृष्टि से क्यों महत्त्वपूर्ण है?
उत्तर:
भारत के उत्तरी शीर्ष पर पाकिस्तान, अफगानिस्तान, चीन के साथ भारत की सीमा मिलती है। साथ ही सोवियत रूस से विघटित ताजिकिस्तान की सीमा भी इस क्षेत्र के निकट ही स्थित है। इसी कारण उत्तरी-शीर्ष का सामरिक व सुरक्षात्मक दृष्टि से महत्त्वपूर्ण स्थान है।

प्रश्न 9.
भारतीय जलीय सीमान्त की क्या विशेषताएँ हैं?
उत्तर:
भारतीय जलीय सीमान्त की निम्नलिखित विशेषताएँ हैं-

  1. भारतीय जलीय सीमान्त पूर्णत: प्राकृतिक है।
  2. जलीय सीमाएँ अरब सागर, बंगाल की खाड़ी व हिन्द महासागर द्वारा निर्धारित की गई हैं।
  3. हिन्द महासागर पर स्थित अन्य किसी भी देश की तट-रेखा भारत जितनी लम्बी नहीं है।
  4. भारत के जलीय सीमान्त की कुल लम्बाई पृथ्वी के अर्द्धव्यास के लगभग बराबर है।
  5. भारतीय तट-रेखा सीधी एवं सपाट स्वरूप को दर्शाती है।

प्रश्न 10.
पड़ोसी देशों के संदर्भ में भारत की अवस्थिति की क्या विशेषताएँ हैं?
उत्तर:
भारत की अवस्थिति पड़ौसी देशों के सन्दर्भ में महत्त्वपूर्ण है जिसमें हिन्द महासागर का मुख्य योगदान है। भारत प्राच्य विश्व से जुड़ा होने के साथ-साथ व्यापारिक व सांस्कृतिक दृष्टिकोण से बैबीलोन, मिस्र, हिन्दचीन व दक्षिणी एशिया से जुड़ा हुआ था। भारत की प्राचीन काल से ही व्यापारिक स्थिति महासागरीय एवं स्थलीय मार्गों के उत्तम स्वरूप को दर्शाती है। विभिन्न आक्रमणकारी व बौद्ध भिक्षु तिब्बत, चीन, कोरिया व जापान तक इन्हीं मार्गों से आवागमन करते थे। इसके लिए पश्चिमी व मध्यपूर्वी एशिया के मध्य सम्पर्क सूत्र वाली भारत की अवस्थिति का महत्त्वपूर्ण योगदान रहा है।

RBSE Class 11 Indian Geography Chapter 1 निबन्धात्मक प्रश्न

प्रश्न 11.
उपमहाद्वीप किसे कहते हैं? भारत को उपमहाद्वीप कहने का क्या औचित्य है?
उत्तर:
उपमहाद्वीप की परिभाषा – एक बड़ी भौगोलिक इकाई, जो शेष महाद्वीप से अलग विशिष्ट पहचान रखती है। उपमहाद्वीप कहलाती है। अर्थात् किसी महाद्वीप के अन्दर स्थित एक ऐसा क्षेत्र जो महाद्वीप का अंग होते हुए भी अत्यधिक विशिष्ट लक्षणों को प्रदर्शित करता है।

भारत को उपमहाद्वीप कहने का औचित्य – भारत एक ऐसा क्षेत्र है जो उपमहाद्वीप होने की समस्त विशेषताएँ रखता है। भारत भौगोलिक सीमाओं द्वारा सीमांकित एक ऐसा विस्तृत क्षेत्र हैं जो प्राकृतिक व सांस्कृतिक दृष्टि से एकता से आबद्ध होकर एक विशिष्ट भौगोलिक इकाई को प्रदर्शित करता है। यह उपमहाद्वीप उत्तर में विशाल हिमालय पर्वत श्रृंखला, पश्चिम में मरुस्थल, पूर्व में सघन वनों से आच्छादित पर्वत श्रेणियों व गहरी घाटियों तथा दक्षिण में हिंद महासागर से सीमांकित एक विशाल भौगोलिक इकाई है जिसे भारतीय उपमहाद्वीप के नाम से जाना जाता है। इस भारतीय उपमहाद्वीप में अनेक प्राकृतिक व सांस्कृतिक भिन्नताएँ पाई जाती हैं।

सर्वोच्च पर्वत श्रेणियाँ व विशाल समतल मैदान, नवीन मोड़दार पर्वत क्रम, उष्ण मरुस्थल व सदाबहार वन, विश्व के सर्वाधिक आर्द्र व अति शुष्क क्षेत्रों की स्थिति, झूमिंग व विकसित यांत्रिक कृषि स्वरूपों का मिलना, हस्तकला की वस्तुओं व आधुनिकतम औद्योगिक उत्पादों के निर्माण, घोड़ा-खच्चर, बैलगाड़ी व आधुनिक आवागमन के साधने, वन-क्षेत्रीय आवास व महानगरीय संस्कृति को मिलना, विभिन्न स्वदेशी एवं विदेशी धर्मों का सहअस्तित्व पाया जाना, तथा भाषा, वेषभूषा, रीति-रिवाजों में प्रादेशिक आधार पर विविधताओं का पाया जाना भारत को सम्पूर्ण एशिया महाद्वीप में एक विशिष्ट भौगोलिक लक्षण प्रदान करते हैं। इन सभी व्यापक भिन्नताओं के बावजूद भारतीय उपमहाद्वीप प्राकृतिक व सांस्कृतिक दृष्टि से एकता के सूत्र में बंधी हुई एक विशिष्ट भौगोलिक इकाई को समाहित करते हुए एक उपमहाद्वीप में मिलने वाली सभी आवश्यक दशाओं को सार्थक सिद्ध करता है।

प्रश्न 12.
भारत की स्थिति एवं अवस्थिति के महत्त्व का विस्तारपूर्वक वर्णन कीजिए।
उत्तर:
भारत एशिया महाद्वीप के दक्षिणी भाग में स्थित है। इसकी स्थिति व अवस्थिति का अत्यधिक महत्त्व है जिसे निम्न बिन्दु के माध्यम से दर्शाया गया है-

भारत की स्थिति का महत्त्व-

  1. भारत की स्थिति उत्तरी गोलार्द्ध में 8°4 से 37°6 उत्तरी अक्षांश के मध्य होने के कारण यहाँ शीतोष्ण व उष्ण कटिबंधीय दोनों जलवायु दशाएँ मिलती हैं जिससे दोनों प्रकार की कृषि फसलें पैदा की जाती हैं।
  2. हिन्द महासागरीय क्षेत्र से आने वाली मानूसनी हवाओं के कारण भारत में एक अनोखे जलवायु स्वरूप का निर्माण होता है।
  3. अपनी स्थिति के कारण ही इस देश में ऋतुगत परिवर्तन की एक विशिष्ट दशा देखने को मिलती है।
  4. भारत के उत्तरी छोर पर स्थित हिमालय पर्वत जो ग्रीष्मकाल में पर्यटकों को आकर्षित करता है वहीं नदियों के उद्गम स्थलों के कारण धार्मिक व सांस्कृतिक लक्षणों का विकास करता है।
  5. भारत के दक्षिणी भाग में मिलने वाली समुद्रतटीय स्थिति इसे बंगाल की खाड़ी, अरब सागर व हिन्द महासागर से जोड़कर विहंगम दृश्य का निर्माण करती है।
  6. पश्चिम में स्थित कच्छ का रन रात्रि में भी धवलता को दर्शाता है वहीं पूर्व में स्थित दलदली क्षेत्र अछूते वनों के स्वरूप को दर्शाते हैं।
  7. समुद्रतटीय भागों पर स्थित बन्दरगाह भारत की सामुद्रिक स्थिति का ही परिणाम हैं जिनके वर्षभर खुले रहने से व्यापार सदैव जारी रहता है।
  8. भारत की स्थिति स्थलीय एवं सामुद्रिक दोनों स्वरूपों को दर्शाती है जिसके कारण यह सुव्यवस्थित रूप से विश्व से सम्पर्क बनाये हुए है।

भारत की अवस्थिति का महत्त्व-

  1. दक्षिणी एशिया में भारतीय उपमहाद्वीप सबसे बड़ा प्रायद्वीप है।
  2. भारत को प्रकृति द्वारा विशिष्ट लक्षण प्रदान किये गये हैं जिसके कारण विश्व में इसकी अलग पहचान बन सकी है।
  3. हिन्द महासागरीय अवस्थिति के कारण यह प्राच्य विश्व के केन्द्रों से जुड़ा रहा है।
  4. भारत अपनी सामुद्रिक अवस्थिति के कारण ही पश्चिम में बेबीलोन, मिस्र आदि देशों तथा पूर्व में हिन्दचीन व दक्षिण पूर्वी एशिया के देशों से चार हजार वर्षों से व्यापारिक दृष्टि से जुड़ा हुआ है।
  5. भारत के स्थलीय मार्गों के रूप में मिलने वाले दरें प्राचीनकाल से ही लोगों के आवागमन के मार्ग रहे हैं जिनसे होकर ही बौद्ध भिक्षुओं ने विश्व के अन्य राष्ट्रों की ओर पलायन करके अपने धर्म का प्रसार किया था।
  6. भारत अपनी अवस्थिति के कारण व्यापारिक मार्गों का संगम स्थल बन पाया है।
  7. भारत की अवस्थिति ही इसे आयात-निर्यात की सुविधाएँ प्रदान करने के साथ-साथ इसे वाणिज्यिक, व्यापारिक व संचार सुविधाओं के विकास में सहायता प्रदान करती है।
  8. भारत की अवस्थिति ही इसे उपमहाद्वीप बनाती है जिससे विश्व में इसका अद्वितीय स्थान बन पाया है।

आंकिक प्रश्न

प्रश्न 13.
पड़ोसी देशों के सन्दर्भ में भारत की अवस्थिति दर्शाने हेतु एक मानचित्र बनाइये।
उत्तर:
भारत के पड़ौसी देशों के सन्दर्भ में भारत की अवस्थिति निम्नानुसार है-
RBSE Solutions for Class 11 Indian Geography Chapter 1 भारत की स्थिति, विस्तार व अवस्थिति 1

प्रश्न 14.
भारत का एक मानचित्र बनाकर उसमें अक्षांशीय व देशान्तरीय विस्तार व तटों के नाम लिखिये।
उत्तर:
RBSE Solutions for Class 11 Indian Geography Chapter 1 भारत की स्थिति, विस्तार व अवस्थिति 2

RBSE Class 11 Indian Geography Chapter 1 अन्य महत्वपूर्ण प्रश्नोतर

RBSE Class 11 Indian Geography Chapter 1 वस्तुनिष्ठ प्रश्न

प्रश्न 1.
रोम वासियों ने सिन्धु नदी को क्या कहा था?
(अ) इण्डोस
(ब) इण्डस
(स) भारत
(द) इण्डिया
उत्तर:
(ब) इण्डस

प्रश्न 2.
भारत के दक्षिणी भाग में कौन-सा महासागर स्थित है?
(अ) हिन्द महासागर
(ब) प्रशान्त महासागर
(स) अटलांटिक महासागर
(द) आर्कटिक महासागर
उत्तर:
(अ) हिन्द महासागर

प्रश्न 3.
उत्तरी पर्वतीय हिमालय एवं दक्षिणी छोर कन्याकुमारी के बीच कितने अक्षांशों का अन्तर है?
(अ) लगभग 10 अक्षांश
(ब) लगभग 20 अक्षांश
(स) लगभग 30 अक्षांश
(द) लगभग 40 अक्षांश
उत्तर:
(स) लगभग 30 अक्षांश

प्रश्न 4.
भारत के मध्य से कौन-सी रेखा गुजरती है?
(अ) भूमध्य रेखा
(ब) कर्क रेखा
(स) मकर रेखा
(द) आर्कटिक वृत्त
उत्तर:
(ब) कर्क रेखा

प्रश्न 5.
कर्क रेखा भारत के कितने राज्यों से गुजरती है?
(अ) 6 राज्यों से
(ब) 7 राज्यों से
(स) 8 राज्यों से
(द) 9 राज्यों से
उत्तर:
(स) 8 राज्यों से

प्रश्न 6.
भारत की प्रामाणिक मानक समय रेखा (82° 30) कितने राज्यों से गुजरती है?
(अ) 4 राज्यों से
(ब) 5 राज्यों से
(स) 6 राज्यों से
(द) 7 राज्यों से
उत्तर:
(ब) 5 राज्यों से

प्रश्न 7.
भारत की स्थलीय सीमा की लम्बाई कितनी है?
(अ) 10000 किमी
(ब) 12000 किमी
(स) 15200 किमी
(द) 7516 किमी
उत्तर:
(स) 15200 किमी

प्रश्न 8.
भारत के पूर्वी तट के दक्षिणी भाग को क्या कहा जाता है?
(अ) उत्तरी सरकार तट
(ब) कारोमण्डल तट
(स) कोंकण तट
(द) सौराष्ट्र तट
उत्तर:
(ब) कारोमण्डल तट

प्रश्न 9.
भारत की सबसे लम्बी स्थलीय सीमा किस देश के साथ है?
(अ) चीन
(ब) भूटान
(स) बांग्लादेश
(द) म्यांमार
उत्तर:
(स) बांग्लादेश

प्रश्न 10.
दक्षिणी एशिया का सबसे बड़ा प्रायद्वीप है-
(अ) भारतीय प्रायद्वीप
(ब) अरब प्रायद्वीप
(स) हिन्दचीन प्रायद्वीप
(द) उपर्युक्त में से कोई नहीं
उत्तर:
(अ) भारतीय प्रायद्वीप

सुमेलन सम्बन्धी प्रश्न

प्रश्न 1.
स्तम्भ अ को स्तम्भ ब से सुमेलित कीजिए

स्तम्भ अस्तम्भ ब
(i) काकी नाड़ा(अ) झूमिंग
(ii) कोजीकोड़(ब) एक प्रायद्वीप
(iii) हिमालय(स) पश्चिमी तटीय बन्दरगाह
(iv) थिम्पू(द) प्राकृतिक सीमा निर्माता
(v) हिन्द-चीन(य) पूर्वी तटीय बन्दरगाह
(vi) आदिम कृषि पद्धति(र) भूटान की राजधानी

उत्तर:
(i) य, (ii) स, (iii) द, (iv) र, (v) ब, (vi) अ।

RBSE Class 11 Indian Geography Chapter 1 अतिलघुत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
भारत को हिन्दुस्तान क्यों कहा जाता है?
उत्तर:
ईरानियों द्वारा सिन्धु नदी के तटीय निवासियों को हिन्दू व हिन्दुस्तान को हिन्दुस्थान कहने के कारण भारत का नाम हिन्दुस्तान पड़ा।

प्रश्न 2.
यूनानियों ने इण्डोस व इण्डिया किसे कहा था?
उत्तर:
यूनानियों ने सिन्धु नदी को इण्डोस वे इसके बहने के स्थान वाले क्षेत्र को इण्डिया कहा था।

प्रश्न 3.
भारत किस गोलार्द्ध में स्थित है?
उत्तर:
भारत उत्तरी-पूर्वी गोलार्द्ध में स्थित है।

प्रश्न 4.
भारत की उत्तर से दक्षिण लम्बाई व पूर्व से पश्चिम में चौड़ाई कितनी है?
उत्तर:
भारत की उत्तर से दक्षिण लम्बाई 3214 किमी व पूर्व से पश्चिम में चौड़ाई 2933 किमी है।

प्रश्न 5.
भारत का उत्तर दक्षिण विस्तार किन क्षेत्रों के बीच मिलता है।
उत्तर:
भारत का विस्तार उत्तर में स्थित जम्मू-कश्मीर राज्य इंदिरा कॉल नामक स्थान से प्रारम्भ होकर दक्षिण में ग्रेट निकोबार द्वीप के इंदिरा पॉइन्ट नामक स्थान के बीच मिलता है।

प्रश्न 6.
भारत का पूर्व से पश्चिम विस्तार किन क्षेत्रों के बीच पाया जाता है?
उत्तर:
भारत का विस्तार पूर्व में अरुणाचल प्रदेश के पूर्वी भाग से प्रारम्भ होकर पश्चिम में गुजरात के द्वारका के मध्य मिलता है।

प्रश्न 7.
भारत का अक्षांशीय व देशान्तरीय विस्तार बताइए।
उत्तर:
भारत का अक्षांशीय विस्तार 84 से लेकर 37°6 उत्तरी अक्षांश जबकि देशान्तरीय विस्तार 68°7 से लेकर 97°25 पूर्वी देशान्तर के बीच मिलता है।

प्रश्न 8.
भारत कौन-कौन से कटिबन्धों में फैला हुआ है?
उत्तर:
भारत में कर्क रेखा से उत्तर का भाग शीतोष्ण कटिबन्ध में जबकि कर्क रेखा से दक्षिण का भाग उष्ण कटिबंध में स्थित है।

प्रश्न 9.
संसार की छत किसे कहा जाता है?
उत्तर:
पामीर के पठार को संसार की छत कहा जाता है।

प्रश्न 10.
कन्याकुमारी से भूमध्य रेखा कितनी दूर है?
उत्तर:
कन्याकुमारी से भूमध्य रेखा 876 किमी दूर दक्षिण में स्थित है।

प्रश्न 11.
भारत को श्रीलंका से कौन अलग करता है?
उत्तर:
भारत को मन्नार की खाड़ी व पाक जलडमरूमध्य श्रीलंका से अलग करते हैं।

प्रश्न 12.
काठियावाड़ में सूर्योदय एवं सूर्यास्त अरुणाचल से दो घण्टे बाद क्यों होता है?
उत्तर:
भारत की पूर्वी सीमा पर अरुणाचल प्रदेश तथा पश्चिमी सीमा पर काठियावाड़ (गुजरात) स्थित हैं। दोनों के मध्य 30° देशान्तर का अंतर है। पूर्व से पश्चिम जाने में एक देशान्तर के मध्य सूर्योदय एवं सूर्यास्त में 4 मिनट का अन्तर पड़ता है। अतएव काठियावाड़ में सूर्योदय एवं सूर्यास्त अरुणाचल से 2 घण्टे बाद (30 x 4 = 120 मिनट अर्थात् दो घण्टे) होता है।

प्रश्न 13.
कर्क रेखा भारत के किन-किन राज्यों से गुजरती है?
उत्तर:
कर्क रेखा भारत के राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश, झारखण्ड, पश्चिमी बंगाल, त्रिपुरा तथा मिजोरम राज्यों से होकर गुजरती है।

प्रश्न 14.
भारत की प्रामाणिक मानक समय रेखा किन-किन राज्यों से गुजरती है?
उत्तर:
भारत की प्रामाणिक मानक समय रेखा आन्ध्र प्रदेश, उड़ीसा, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश व उत्तर प्रदेश राज्यों से होकर गुजरती है।

प्रश्न 15.
भारत की स्थलीय सीमा एवं मुख्य भूमि की जलीय सीमाएँ (द्वीप समूहों को छोड़कर) कितनी है?
उत्तर:
भारत की स्थलीय सीमा की लम्बाई 15,200 किमी तथा मुख्य भूमि की जलीय सीमा 6100 किमी लम्बी है।

प्रश्न 16.
भारत के पूर्वी तट व पश्चिमी तट के द्वीपों के नाम लिखिए।
उत्तर:
भारत के पूर्वी तट पर हेयर द्वीप, पमबन द्वीप और हरिकोटा द्वीप स्थित हैं। भारत के पश्चिमी तट पर लक्षद्वीप व ट्रॉम्बे द्वीप स्थित हैं।

प्रश्न 17.
भारत की तट रेखा को कितने भागों में बाँटा गया है?
उत्तर:
भारत की तट रेखा को मुख्यत: दो भागों-पूर्वी तट रेखा व पश्चिमी तट रेखा में बाँटा गया है।

प्रश्न 18.
भारत का पूर्वी तट कहाँ से कहाँ तक फैला हुआ है?
उत्तर:
भारत का पूर्वी तट गंगा नदी के डेल्टा से कुमारी अन्तरीप तक फैला हुआ है।

प्रश्न 19.
पूर्वी तट को कितने भागों में बाँटा गया है?
उत्तर:
पूर्वी तट को दो भागों, उत्तरी सरकार तट व कारोमण्डल तट में बाँटा गया है।

प्रशन 20.
उत्तरी सरकार तट कहाँ से कहाँ तक फैला हुआ है?
उत्तर:
उत्तरी सरकार तेट गंगा नदी के डेल्टा से कृष्णा नदी के डेल्टा तक फैला हुआ है।

प्रश्न 21.
कारोमण्डल तट कहाँ से कहाँ तक फैला हुआ है?
उत्तर:
कारोमण्डल तट कृष्णा नदी के डेल्टा से कुमारी अन्तरीप तक फैला हुआ है।

प्रश्न 22.
पश्चिमी तट का विस्तार कहाँ से कहाँ तक है?
उत्तर:
पश्चिमी तट खम्भात की खाड़ी से कुमारी अन्तरीप तक फैला हुआ है।

प्रश्न 23.
पश्चिमी तट को किन-किन भागों में बाँटा गया है?
उत्तर:
पश्चिमी तट को तीन भागों-सौराष्ट्र तट, कोंकण तट व मालाबार तट में बाँटा गया है।

प्रश्न 24.
सौराष्ट्र तट का विस्तार कहाँ से कहाँ तक है?
उत्तर:
सौराष्ट्र तट का विस्तार कच्छ से लेकर सूरत तक मिलता है।

प्रश्न 25.
कोंकण तट कहाँ से कहाँ तक फैला हुआ है?
उत्तर:
कोंकण तट सूरत से गोवा तक फैला हुआ है।

प्रश्न 26.
भारत के पड़ौसी देश कौन-कौन से हैं?
उत्तर:
भारत के पड़ोसी देशों में पाकिस्तान, अफगानिस्तान, चीन, नेपाल, भूटान, म्यांमार, बांग्लादेश व श्रीलंका शामिल हैं।

प्रश्न 27.
भारत-पाकिस्तान व भारत-चीन के बीच की सीमा रेखाओं के क्या नाम हैं?
उत्तर:
भारत-पाकिस्तान के बीच रेडक्लिफ जबकि भारत-चीन के बीच मैकमोहन रेखा निर्धारित की गई है।

प्रश्न 28.
भारत-म्यांमार की सीमा का निर्धारण किनसे होता है?
उत्तर:
भारत-म्यांमार के बीच मिशमी, पटकोई, नागा व मिजो पहाड़ियों द्वारा सीमा का निर्धारण होता है।

प्रश्न 29.
भारत के कौन-से राज्य बांग्लादेश की सीमा पर स्थित हैं?
उत्तर:
भारत के पांच राज्य- मिजोरम, त्रिपुरा, मेघालय, असम व पश्चिमी बंगाल बांग्लादेश की सीमा पर स्थित हैं?

प्रश्न 30.
भारत की पाकिस्तान के साथ सीमा किन राज्यों से मिलती है?
उत्तर:
भारत के जम्मू-कश्मीर, पंजाब, राजस्थान व गुजरात राज्यों की सीमाएँ पाकिस्तान से मिलती हैं।

प्रश्न 31.
दक्षिणी एशिया के प्रायद्वीप कौन-कौन से हैं?
उत्तर:
दक्षिणी एशिया में तीन प्रायद्वीप -अरब प्रायद्वीप, भारतीय प्रायद्वीप व हिन्द-चीन प्रायद्वीप, मिलते हैं।

प्रश्न 32.
विविधता में एकता भारत की अनूठी पहचान क्यों है?
उत्तर:
व्यापक भिन्नताओं के बावजूद भारतीय उपमहाद्वीप प्राकृतिक व सांस्कृतिक दृष्टि से एकता के सूत्र में बँधी एक विशिष्ट भौगोलिक इकाई है। इसी कारण इसे विविधता में एकता का क्षेत्र कहते हैं।

प्रश्न 33.
प्राचीनकाल में भारत के व्यापारिक सम्बन्ध किन क्षेत्रों से रहे हैं?
उत्तर:
प्राचीनकाल में भारत के व्यापारिक सम्बन्ध बैबीलोन, मिस्र, हिन्द-चीन व दक्षिणी-पूर्वी एशियाई राष्ट्रों से रहे हैं।

प्रश्न 34.
भारत का उपमहाद्वीप होने का क्या कारण है?
उत्तर:
हिन्द महासागर में भारत की विशिष्ट स्थिति इसे उपमहाद्वीप बनाती है।

प्रश्न 35.
जलयान बनाने का कारखाना कहाँ स्थित है?
उत्तर:
कोचीन में जलयान बनाने का कारखाना स्थित है।

प्रश्न 36.
मिशमी, पटकोई, नागा व मिजो पहाड़ियाँ भारत में कहाँ पर स्थित हैं?
उत्तर:
मिशमी, पटकोई, नागा व मिजो पहाड़ियाँ भारत में उत्तर-पूर्व में स्थित हैं।

प्रश्न 37.
अराकान योमा पहाड़ियाँ कहाँ पर स्थित है?
उत्तर:
अराकान योमा पहाड़ियाँ म्यांमार में स्थित हैं।

RBSE Class 11 Indian Geography Chapter 1 लघुत्तरात्मक प्रश्न Types I

प्रश्न 1.
भारत के नामकरण को स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
भारत के विविध नामों का स्वरूप एक लम्बी प्रक्रिया का प्रतिफल है। भारत नाम आर्यों की भरत नाम् की शाखा की देन है। आर्यों की भूमि के कारण यह आर्यावर्त कहलाया। सिन्धु नदी के प्रवाहन से ईरानियों ने इसे हिन्दुस्तान कहा जबकि रोम व यूनान वासियों द्वारा सिन्धु नदी को इण्डस व इण्डोस कहने के कारण इसका नाम इण्डिया अस्तित्त्व में आया। इन सभी नामों वाला यह क्षेत्र ही वर्तमान में भारत के नाम से जाना जाता है।

प्रश्न 2.
भारत का चहुँमुखी उत्थान कैसे सम्भव है?
उत्तर:
प्राचीन काल से ही भारत का इतिहास स्वर्णिम रहा है किन्तु वर्तमान संक्रमण में है। इस संक्रमण को दूर करने के लिए हमें देश-प्रेम, धार्मिक सहिष्णुता, सूझबूझ, ईमानदारी व कठोर परिश्रम करना आवश्यक है। इनके माध्यम से ही हम एकता के सूत्र में बँधकर एक सुसंस्कृत समाज का निर्माण कर सकते हैं।

प्रश्न 3.
भारत की स्थिति को स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
भारत की स्थिति एशिया महाद्वीप के दक्षिणी भाग में है। यह ग्लोब की दृष्टि से उत्तर-पूर्वी गोलार्द्ध में स्थित है। जिसका अक्षांशीय एवं देशान्तरीय विस्तार क्रमश: 8°4′ – 37°6′ उत्तरी अक्षांश एवं 68°7′ – 97°25′ पूर्वी देशान्तर तक मिलता है। कर्क रेखा इसे लगभग दो बराबर भागों में बाँटती है। कर्क एवं मकर रेखाओं के बीच का भाग उष्ण कटिबन्ध तथा कर्क एवं आर्कटिक वृत्त (66 (frac { 1 }{ 2 })° उत्तरी अक्षांश) तथा मकर एवं अण्टार्कटिक वृत्त (66 (frac { 1 }{ 2 })° दक्षिणी अक्षांश) के मध्य का भाग शीतोष्ण कटिबन्ध कहलाता है। यह राष्ट्र सम्पूर्ण विश्व में विशिष्ट संस्कृति के कारण अपनी अनूठी पहचान रखता है।

प्रश्न 4.
भारत के प्राकृतिक सीमांकन को स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
भारत की सीमाएँ स्थलीय एवं सामुद्रिक दोनों स्वरूपों को प्रदर्शित करती हैं। उत्तरी भाग जहाँ स्थलीय सीमा को दर्शाता है। वहीं दक्षिणी भाग में सीमाओं का निर्धारण जल के द्वारा किया गया है। भारत की उत्तरी सीमा हिमालय पर्वत के द्वारा निर्धारित की गयी है। वहीं पूर्वी सीमा अनेक पहाड़ियों द्वारा निर्धारित है। भारत के दक्षिण में हिन्द महासागर इसकी सीमा बनाता है तो दक्षिण-पूर्व में बंगाल की खाड़ी तथा दक्षिण-पश्चिम में इसकी सीमाओं को अरब सागर के द्वारा सीमांकित किया गया है। इसकी स्थलीय सीमाएँ 15200 किमी जबकि मुख्य तटीय सीमा 6100 किमी है।

प्रश्न 5.
भारत की प्रामाणिक मानक समय रेखा किसे व क्यों माना गया है?
उत्तर:
भारत की प्रामाणिक मानक समय रेखा 82°30 पूर्वी देशान्तर रेखा को माना गया है। इसे प्रामाणिक समय रेखा मानने को मुख्य कारण इसका भारत के पूर्वी छोर व पश्चिमी छोर का मध्य बिन्दु पर (स्थित) होना है। इसके अतिरिक्त 75° पूर्वी देशान्तर से 90° पूर्वी देशान्तर का अन्तर्राष्ट्रीय समय क्षेत्र भारत के मध्य में पड़ता है। अतः 75° पूर्वी व 90° पूर्वी देशान्तरों के बीच की संख्या 82°30 पूर्वी देशान्तर ही आती है। इसी कारण इसे मानक रेखा माना गया है। इसका समय ग्रीनविच रेखा से 5.30 घंटे आगे है।

प्रश्न 6.
पूर्वी तट पर स्थित बन्दरगाहों के नाम लिखिए।
उत्तर:
भारत का पूर्वी तट गंगा के मुहाने से कुमारी अन्तरीप तक फैला हुआ है। इस तट पर उत्तर से दक्षिण तक क्रमशः कोलकाता, हल्दिया, पारादीप, गोपालपुर, विशाखापट्टनम, काकीनाड़ा, मछलीपट्टनम, एन्नोर, चेन्नई, पांडिचेरी, कुड्डालौर, नागापट्टनम, तूतीकोरन, कारीकल, पुत्तुचोरि आदि प्रमुख बन्दगाह स्थित हैं। इस तट के बन्दरगाह व्यापारिक क्रियाओं को सम्पन्न करने में अपना महत्त्वपूर्ण योगदान देते हैं। रामेश्वरम् यहाँ एक प्रमुख तीर्थ स्थल के रूप में विकसित हुआ है।

प्रश्न 7.
पश्चिमी तटीय बन्दरगाहों के नाम लिखिए।
उत्तर:
भारत को पश्चिमी तट कच्छ की खाड़ी से कुमारी अन्तरीप तक फैला है। इस तट पर स्थित बन्दरगाह प्राचीनकाल से ही व्यापार के प्रमुख केन्द्र रहे हैं। इन बन्दरगाहों में मुख्यत: पोरबन्दर, ओखा, कांडला, भावनगर, सूरत, मुम्बई, रत्नागिरी, गोआ, मंगलौर, एलेप्पी, कोजीकोड, तिरुवनन्तपुरम्, मांडवी, सलाया, सिक्का, पिधारा, जफराबाद, जवाहर लाल नेहरू, रेड्डी मार्मगाओ, करबार, होनावर, माल्पे, न्यू मंगलौर, कालीकट, कोच्ची, निन्दाकेरा, क्विलोन प्रमुख बन्दरगाह स्थित हैं।

प्रश्न 8.
भारत के मालाबार तट का वर्णन कीजिए।
उत्तर:
भारत का मालाबार तट गोआ से लेकर कुमारी अन्तरीप तक फैला हुआ है। इस तट की समुद्र तटीय रेखा कटी-फटी होने के कारण यहाँ प्राकृतिक बन्दरगाहों का विकास हुआ है। इस तट पर तेज हवाओं के कारण बालू एकत्रित हो जाती है जिससे मोनाजाइट नामक खनिज मिलता है। इस तट पर अनूप झीलें पायी जाती हैं। कोचीन अनूप झील पर स्थित एक ऐसा ही बन्दरगाह है। इसके अलावा इस तट पर मंगलौर, एलेप्पी, कोजीकोड, तिरुवनन्तपुरम् अन्य बन्दरगाह हैं।

प्रश्न 9.
भारत की उपमहाद्वीपीय अवस्थिति को स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
भारत अपनी विविधता रूपी दशाओं के कारण उपमहाद्वीप के नाम से जाना जाता है। विश्व के सबसे बड़े महाद्वीप एशिया के दक्षिणी-मध्य भाग में स्थित भारत अत्यधिक विषमताओं वाला राष्ट्र है। इसके उत्तर में चीन, नेपाल, भूटान, दक्षिण में श्रीलंका व हिन्द महासागर, पूर्व में बांग्लादेश, म्यांमार व बंगाल की खाड़ी तथा पश्चिम में पाकिस्तान व अरब सागर स्थित है। विश्व में भारत के समान प्रकृति द्वारा इतना स्पष्ट रूप से परिभाषित व सीमांकित क्षेत्र कहीं भी नहीं है। इसलिए इसे उपमहाद्वीप कहा गया है।

RBSE Class 11 Indian Geography Chapter 1 लघुत्तरात्मक प्रश्न Types II

प्रश्न 1.
भारतीय संस्कृति व सभ्यता की विशेषताओं को स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
भारत की संस्कृति व सभ्यता का उदय अतीत काल में ही हो गया था। सम्पूर्ण विश्व में अपने अनूठेपन के लिए पहचानी जाने वाली भारतीय संस्कृति एवं सभ्यता की निम्नलिखित विशेषताएँ हैं-

  1. भारतीय संस्कृति एवं सभ्यता विश्व की प्राचीनतम संस्कृति एवं सभ्यता है।
  2. भारतीय संस्कृति व सभ्यता का विकास उस समय हो गया था जब विश्व के अधिकांश देश असभ्य अथवा अर्द्धसभ्य थे।
  3. भारतीय संस्कृति एवं सभ्यता के कारण संस्कृति व ज्ञान का प्रकाश विश्व के विभिन्न भागों की ओर फैला है।
  4. प्राचीन भारतीय संस्कृति ने भारत को एक महान सुसम्पन्न एवं सुसंस्कृत देश बनाया है।
  5. भारतीय संस्कृति ने ही भारत को एकता प्रदान की है।
  6. भारतीय संस्कृति एवं सभ्यता भारत के भौगोलिक स्वरूप से प्रभावित होकर विकसित हुई है।

प्रश्न 2.
भारतीय संस्कृति व सभ्यता संघर्ष के कारण स्वर्णिम लक्ष्य प्राप्त कर पाई है, कैसे? स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
भारतीय संस्कृति एवं सभ्यता अपने प्रारम्भिक काल से वर्तमान तक अनेक परिस्थितियों से गुजरी है। मध्यकालीन युग में इसे अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ा। इन समस्याओं ने भारतीय संस्कृति को झकझोर कर रख दिया जिनमें विदेशियों के आक्रमण हो या फिर लूटपाट अथवा भारत के ऊपर आधिपत्य की स्थिति। इन सबने भारत की प्रगति व प्रतिष्ठा को कुण्ठित किया है। किन्तु फिर भी शांति व अहिंसा का पथ प्रदर्शन करने वाले महापुरुषों के नेतृत्व में हमें इन सभी समस्याओं से छुटकारा मिला है। भारत की वर्तमान स्थिति स्वतंत्रता-पूर्व के आर्थिक शोषण, तीव्र गति से बढ़ी जनसंख्या व धार्मिक विचारधाराओं के स्वदेशी संस्कृति वं राष्ट्रीय धारा में विलय की कठिन संक्रमण परिस्थिति से गुजरी है। इन सबके बावजूद भारत का अतीत स्वर्णिम, वर्तमान संक्रमण एवं भविष्य सदैव आशातीत होगा जो भारतीय संस्कृति के परिपक्व व स्वर्णिम लक्ष्य को प्राप्त करने के स्वरूप को दर्शाता है।

प्रश्न 3.
भारत में मिलने वाले बन्दरगाहों के महत्त्व को स्पष्ट कीजिए।
अथवा
बन्दरगाह भारत के विकास में किस प्रकार सहायक सिद्ध हुए हैं? स्पष्ट कीजिए।
अथवा
भारत की सामुद्रिक स्थिति ने भारत को सम्पन्न करने में किस प्रकार अपनी भूमिका निभायी है? स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
भारत की दक्षिणी सीमाओं का निर्धारण मुख्यतः जलीय भागों के द्वारा किया गया है। भारत की इस सामुद्रिक स्थिति ने प्राचीन काल से लेकर वर्तमान काल तक भारत को सम्पन्न करने में अपनी महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई है जिसे बन्दरगाहों के विकास व उनसे सम्पन्न हुए निम्न कार्यों के रूप में समझा जा सकता है-

  1. बन्दरगाह प्राचीन काल से ही भारतीय व्यापार के मुख्य केन्द्र रहे हैं जिनसे होकर भारत प्राच्य विश्व के साथ जुड़ा हुआ था।
  2. बन्दरगाहों ने पश्चिमी एशिया से खनिज तेल के आयात में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई है।
  3. बन्दरगाहों से ही सूत, रेशम व सोने-चाँदी व वस्तुओं का आयात-निर्यात होता था।

प्रश्न 4.
पश्चिमी एवं पूर्वी तट की तुलना कीजिए।
अथवा
पश्चिमी तट पूर्वी तट से किस प्रकार भिन्न है? स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
प्रायद्वीपीय भारत के पश्चिमी व पूर्वी तटीय क्षेत्र की तुलना निम्नानुसार है-
RBSE Solutions for Class 11 Indian Geography Chapter 1 भारत की स्थिति, विस्तार व अवस्थिति 3

प्रश्न 5.
भारत की सीमाओं का निर्धारण कैसे किया गया है? स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
भारत की सीमाएँ स्थलीय एवं जलीय दोनों स्वरूपों को प्रदर्शित करती हैं। उत्तरी भारत में स्थलीय सीमाएँ तथा दक्षिणी भारत में जलीय सीमाएँ मिलती हैं। स्थलीय सीमाओं के रूप में पश्चिम में पाकिस्तान, उत्तर-पश्चिम में अफगानिस्तान, उत्तर में चीन, नेपाल एवं भूटान, पूर्व में बांग्लादेश व म्यांमार राष्ट्रों के साथ भारत की सीमाएँ मिलती हैं। जबकि दक्षिण भारत की सीमाएँ जलीय सीमा के रूप में पूर्व की ओर बंगाल की खाड़ी, पश्चिम की ओर अरब सागर तथा दक्षिण में हिन्द महासागर के द्वारा सीमांकित की गई हैं।

प्रश्न 6.
भारत प्राचीन काल से ही एक शांति प्रिय राष्ट्र रहा है। सोदाहरण स्पष्ट कीजिए।
अथवा
भारत की शांतिप्रियता के प्रमाण आज भी विश्व में देखने को मिलते हैं, उपयुक्त उदाहरणों से इस कथन को स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
भारत प्राचीन काल से ही एक शांतिप्रिय राष्ट्र रहा है जिसने सतत् रूप से वैश्विक शांति के प्रयास किए हैं। भारत की प्राचीनकालीन शांतिप्रियता भारतीय संस्कृति का मूल है। जिसके प्रमाणों में मध्य एशिया के कुछ शहरों में खुदाई से प्राप्त वस्तुएँ, चीनी मठों में रखी बौद्ध पांडुलिपियाँ, दक्षिणी-पूर्वी एशिया के कई देशों में मिलने वाले मंदिरों को शामिल किया जाता है। ये सभी तथ्य हमारी शांतिप्रियता और सह-अस्तित्व के प्रमाण दर्शाते हैं। भारत के आज तक के इतिहास में कहीं भी यह नहीं मिलता कि भारतीय सेनाओं ने पहले किसी भी देश पर आक्रमण किया हो। वर्तमान में भी भारत स्थानीय व वैश्विक समस्याओं के समाधान हेतु सदैव शांतिप्रियता का ही पक्षधर रहता है।

RBSE Class 11 Indian Geography Chapter 1 निबन्धात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
भारत के समुद्र तटों के महत्व को स्पष्ट कीजिए।
अथवा
समुद्र तटों की भारत के संदर्भ में क्या उपयोगिता है? स्पष्ट कीजिए।
अथवा
भारत की सामुद्रिक स्थिति इसके लिए कैसे लाभकारी सिद्ध हुई है?
उत्तर:
भारत में मिलने वाले पूर्वी एवं पश्चिमी समुद्र तटीय क्षेत्रों के महत्त्व को निम्न बिन्दुओं के माध्यम से स्पष्ट किया गया है-

  1. भारत के समुद्र तटीय भाग कृषि कार्य में सहायक हैं क्योंकि इन तटों के सहारे उपजाऊ मृदा का जमाव मिलता है। ये तटीय भाग चावल की कृषि हेतु आदर्श दशाएं प्रदान करते हैं।
  2. इन तटों पर अनेक प्राकृतिक एवं कृत्रिम बन्दरगाह मिलते हैं जिनके माध्यम से भारत प्राचीन काल से वर्तमान तक विविध वस्तुओं के आयात-निर्यात के माध्यम से व्यापार की प्रक्रिया को सम्पन्न करता आया है।
  3. इन तटों पर सामुद्रिक स्थिति के कारण सम जलवायु पाई जाती हैं।
  4. ये तटीय भाग अनेक पर्यटन स्थलों के केन्द्र बन गये हैं जिनसे भारत को आर्थिक लाभ मिला है।
  5. इन तटों पर नारियल, काजू, सुपारी, रबड़ व ताड़ की कृषि व्यापक रूप से की जाती है।
  6. इन तटीय भागों में मत्स्य पालन का कार्य किया जाता है।
  7. इन तटों से सागरीय नमक का उत्पादन किया जाता है।
  8. पश्चिमी तटीय भाग पर मोनोजाइट नामक महत्त्वपूर्ण आणविक खनिज की प्राप्ति ने इन तटों के महत्त्व को और बढ़ा दिया है।
  9. इन तटों के सहारे अनेक धर्म व आस्था के केन्द्र विकसित हुए हैं जिन्होंने भारतीय संस्कृति को एकजुट किया है। यथा-पुरी, रामेश्वरम् आदि।

All Chapter RBSE Solutions For Class 11 Geography Hindi Medium

All Subject RBSE Solutions For Class 11 Hindi Medium

Remark:

हम उम्मीद रखते है कि यह RBSE Class 11 Geography Solutions in Hindi आपकी स्टडी में उपयोगी साबित हुए होंगे | अगर आप लोगो को इससे रिलेटेड कोई भी किसी भी प्रकार का डॉउट हो तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूंछ सकते है |

यदि इन solutions से आपको हेल्प मिली हो तो आप इन्हे अपने Classmates & Friends के साथ शेयर कर सकते है और HindiLearning.in को सोशल मीडिया में शेयर कर सकते है, जिससे हमारा मोटिवेशन बढ़ेगा और हम आप लोगो के लिए ऐसे ही और मैटेरियल अपलोड कर पाएंगे |

आपके भविष्य के लिए शुभकामनाएं!!

Leave a Comment

Your email address will not be published.