Simple & Easy Rangoli Designs Ideas

Simple & Easy Rangoli Designs: रंगोली का मतलब है रंगो से बनी हुई कोई आकृति। रंगोली एक हिंदू लोक कला(art) है, जिसे आम तौर पर विशेष उत्सव के अवसरों पर फर्श (floor)पर बनाया जाता है। रंगोली का डिजाइन (Rangoli Designs) लोगो में उनकी नकारात्मक ऊर्जा(negative power)के स्तर को कम करने में सकारात्मक(Positive)ऊर्जा को बढ़ाने मे मदद करता है। रंगोली बनाने के लिए अक्सर सफेद चावल पाउडर,अनाज, चाॅक,फूल-पंखुडिया, सफेद और विभिन्न कलर के पाउडर का उपयोग होता है। रंगोली भारत मे,महाराष्ट्र की प्रमुख लोक कला है।

गुजरात में, जब भगवान कृष्ण द्वारिका में बस गए, उनकी पत्नी रुक्मणी ने रंगोली बनाने की शुरूआत की।

रंगोली घर के बाहर और अंदर दोनो ही जगह बना सकते है।आंगन (बरामदा) मे बनाई हुई रंगोली मेहमानो का मन मोह लेती है और आंगन को आकर्षक बना देती है। ऐसा माना जाता है कि यह घर और परिवार में अच्छी किस्मत, समृद्धि और सौभाग्य का स्वागत करने के लिए बनाई जाती है। रंगोली को दक्षिण भारत में कोलम या मुग्गू के नाम से भी जाना जाता है।

रंगोली बनाने के फायदे:

💥रंगोली की सुंदरता सभी को आकर्षित करती है।घर/आंगन को खुबसूरती प्रदान करती है।
दिपावली,पोगंल, सक्रांति आदि त्यौहारो पर रंगोली बनाना सुख, समृद्धिदायक होता है।
💥रंगो के संपर्क मे आने से सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है।जिससे शारीरिक एवं मानसिक स्वास्थ्य बेहतर होता है।
💥विभिन्न रंगो और फूलो से बनाई रंगोली से मन फ्रेश हो जाता है।फूलो की सुगंध आसपास के वातावरण को भी महका देती है।
💥रंगोली बनाते समय हमारी उंगलियो मे सहज ही ज्ञान मुद्रा बन जाती है। जिससे मस्तिष्क की कार्य करने की क्षमता बढ जाती है और मस्तिष्क संबंधित बीमारियो मे लाभ मिलता है।
💥हाइब्लड प्रेशर को नियंत्रित करती है।

रंगोली बनाना हमारी कला है,संस्कृति है।हमने रंगोली बनाने के महत्व को जाना,समझा।रोजमर्रा से लेकर त्यौहार तक के लिए भिन्न -भिन्न प्रकार की रंगोली बनाई जाती है।आइए हम भी जाने विभिन्न प्रकार की रंगोली की डिजाइन से ताकि त्यौहार अनुसार डिजाइन का चुनाव कर सके।

👉Simple and Easy Rangoli Designs

rangoli designs

फूल और पत्ती डिजाइंस वाली रंगोली बनाने मे बहुत ही आसान और सरल होती है।इसे रंगबिरंगे कलर से भर दे,देखने मे बहुत ही सुंदर दिखती है।चाहे तो आप इसे गेदें के फूल, गुलाब की पखुंडियो आदि से भी बना सकते है। समय की कमी के कारण कितनी ही गृहिणीया रोज लाल गेरू के ऊपर सफेद चाॅक या सफेद पाउडर से भी रंगोली बनाती है।जो पांच मिनट से भी कम समय मे बन जाती है।

👉Diwali Rangoli Designs

दिवाली पर रंगोली डिजाइंस मे सबसे ज्यादा गणेश जी,लक्ष्मी जी के चित्र,सोने से भरा घड़ा,चरण पादुका,हैप्पी दिवाली (अक्षर मे लिखा हुआ)आदि फेमस रंगोली डिजाइंस है।
दिवाली पर रंगोली में कमल का फूल बनाया जाता है क्योंकि कमल के फूल को देवी लक्ष्मी का आसन माना गया है।
दिवाली पर बड़े आकार वाली और बहुत सारे रंगो से भरी हुई गोलाकार आकार वाली रंगोली भी बनाते है।इस तरह की रंगोली को पेन,चम्मच या कांटा चम्मच से स्पेशल इफेक्ट दे सकते है। दिवाली पर रंगोली को दियो(Diya) से सजाना ना भूले।

👉Peacock Rangoli Designs

मोर हमारे देश का राष्ट्रीय पक्षी है।मोर के आकार वाली रंगोली बनाने मे थोडी मुश्किल होती है।पर इसमे भरे जाने वाले रंग-बिरंगे रंग सभी का मन मोह लेते है।मोर आकार वाली रंगोली दिखने मे बहुत ही सुंदर होती है।मोर के पंखो को सजाने के लिए मोती या रंगबिरंगे पत्थर का भी उपयोग कर सकते है।

👉Rangoli Designs With Dots

डाॅट(बिंदु) से बनाई रंगोली डिजाइंस:
इस प्रकार की रंगोली बनाने के लिए सबसे पहले जमीन के ऊपर लाल गेरू कर दे।फिर पूरी जगह पर सफेद पाउडर या चाॅक से डाॅट कर दे।एक बिंदु को दूसरे बिंदु से मिलाते जाए और आकृति बन जाएगी। मुख्यतया ज्योमेट्रिकल डिजाइंस बनाने के लिए बिंदु और लकीरे बनाई जाती है।बाजार मे डाॅट पेपर आसानी से उपलब्ध है।इस तरह की रंगोली ज्यादातर वर्गाकार (Square shape) होती है।

👉Border Rangoli Designs

बार्डर रंगोली डिजाइंस:
यह मुख्य दरवाजे या पास वाली दीवार की बॉर्डर पर बनाई जाती है।बॉर्डर को सफेद कलर से बनाया जाता है फिर उसमें दूसरे रंग भर देते हैं।बार्डर रंगोली देखने में काफी सुंदर दिखाई देती है। कोई भी उत्सव या मेहमान का स्वागत करने के लिए बेस्ट रंगोली है।

👉Flower Rangoli Designs

फ्लावर रंगोली डिजाइंस: फ्लावर रंगोली डिजाइंस में गुलाब, गेंदे या बेला के फूलों का इस्तेमाल किया जाता है। पूरे फूल या फूलों की पंखुड़ियों से भी रंगोली बनाई जा सकती है। यह बहुत ही कम समय में बन जाती है और दिखने में बहुत ही आकर्षक होती है। बडो के साथ बच्चे भी फूलों की रंगोली को आसानी से बना सकते हैं।

👉Unique Door Rangoli Designs

यूनिक डोर रंगोली डिजाइंस: यूनिक रंगोली दरवाजे के बाहर बनाई जाती हैं। यूनिक रंगोली के लिए यूनिक डिजाइन का चयन अत्यंत आवश्यक है। रंगोली के साथ, दरवाजे के पास बॉर्डर भी बना सकते हैं। दिए और मोमबत्ती से रंगोली को जरूर सजाए। यह रंगोली देखने में बहुत ही आकर्षक होती है और आने वाले मेहमानों का ध्यान अपनी ओर खींचती है। इस रंगोली को आप रंग और फूल दोनों ही सामग्री से बना सकते हैं।

👉Rangoli Kolam Designs

कोलम रंगोली डिजाइंस:
यह एक बहुत ही अनूठी तरह की रंगोली डिजाइंस है। इसमें कलरफुल बेस(base) के ऊपर सफेद कलर से रंगोली बनाई जाती हैं। यह देखने में कुछ अलग और मनमोहक लगती है। इस तरह की रंगोली की प्रतियोगिता भी आयोजित की जाती है।कोलम रंगोली दक्षिण भारत के अधिकांश घरों में साल भर बनाया जाता है।

👉Ganesh Rangoli Designs

गणेश रंगोली डिजाइंस:
इस प्रकार की रंगोली में भगवान गणेश जी, मां लक्ष्मी जी, कुबेर जी,लक्ष्मी पादुका ,तुलसी आदि पूजनीय के फोटो रंगोली मे बनाए जाते हैं। यह बहुत ही आकर्षित होती है। विशेष त्यौहारों पर इस प्रकार की रंगोली बनाई जाती है।

👉Diya Rangoli Designs

दिया रंगोली डिजाइंस:
इस तरह की रंगोली में छोटे-छोटे जलते हुए दियो को रंगोली के आकार में रखे जाते हैं।बहुत ही सुंदर और जगमगाहट वाली रंगोली होती है। दिए के आसपास रंगों का भी प्रयोग कर सकते हैं।

👉Corner Rangoli Designs

कार्नर रंगोली डिजाइंस:
इस तरह की रंगोली घर के बाहर किसी भी कोने में बना सकते हैं। कम जगह हो तो इस तरह की रंगोली बहुत ही सुंदर दिखती है। कॉर्नर रंगोली में “हैप्पी दिवाली” “वेलकम” जैसे शब्द लिखकर इसे और आकर्षित बना सकते हैं।

👉Square Rangoli Designs

वर्गाकार रंगोली डिजाइंस:
इस प्रकार की रंगोली वर्गाकार आकार में बनाते हैं। यह बहुत ही बड़ी और सुंदर दिखती है इसमें बहुत से कलर के रंगों का इस्तेमाल किया जा सकता है। डॉट( बिंदु) या लकीरों से बनने वाली रंगोली मुख्यतः वर्गाकार आकार में ही होती है।

👉Pongal Rangoli Designs

पोंगल रंगोली डिजाइंस: किसानों का प्रमुख पर्व पोंगल तमिलनाडु ,केरल और आंध्र प्रदेश में मनाया जाता है। पोंगल रंगोली में अनाज से भरा कलश या घड़े का होना और कोलम डिजाइन का होना बहुत ही शुभ माना जाता है।

निष्कर्ष

उपरोक्त आर्टिकल मे हमने जाना रंगोली का महत्व, फायदे और विभिन्न प्रकार की रंगोली के बारे मे जानकारी।घर को सुंदर और आकर्षक बनाने के लिए रंगोली का हमारे जीवन मे बहुत ही उपयोगिता है।रंगोली से हम आंगन, बरामदा,कार्नर को सजा सकते है।कम जगह मे रंगोली बार्डर से सभी को लुभा सकते है। पूजा स्थल को रंगोली से और भी खुबसूरत और समृध्दिदायक बना सकते है। रोज नए डिजाइंस बनाए और अपने घर आंगन को सुन्दर बनाए!!

Leave a Comment

Your email address will not be published.