Parameter Passing & Passing Arguments in Hindi

हेलो स्टूडेंट्स, इस पोस्ट में हम आज Parameter Passing & Passing Arguments in Hindi के बारे में पढ़ेंगे | इंटरनेट में सी भाषा के नोट्स हिंदी में बहुत कम उपलब्ध है, लेकिन हम आपके लिए यह हिंदी में डिटेल्स नोट्स लाये है, जिससे आपको यह टॉपिक बहुत अच्छे से समझ आ जायेगा |

Parameter Passing in Hindi – पैरामीटर पासिंग क्या है?

जब प्रोग्राम में किसी function को execute किया जाता है तो execution control जो है वह calling function से called function पर ट्रान्सफर हो जाता है और वहां function definition को execute करता है, और अंत में वह वापस calling function में आ जाता है.

जब execution control को calling function से called function में ट्रान्सफर किया जाता है तो यह एक या उससे ज्यादा data values को ले जा सकता है. इन data values को parameters कहते हैं.

तो हम कह सकते है कि “Parameters वो data values होती है जो calling function से called function में pass होती हैं.”

C में, दो प्रकार के parameters होते हैं:-

  1. Actual parameter
  2. formal parameter

actual parameter वे पैरामीटर होते हैं जिन्हें calling function में specify किया जाता है। formal parameter वे पैरामीटर होते हैं जिन्हें called function में declare किया जाता है.

C programming भाषा में, parameters को pass करने के दो तरीके होते हैं, जो कि निम्नलिखित हैं:-

  1. Call by value
  2. Call by reference

Call by value

Call by value में, actual parameters की values को formal parameter में copy किया जाता है और इन formal parameters का प्रयोग called function में किया जाता है.
“इसमें formal parameters में अगर कोई बदलाव किया जाता है तो उसका प्रभाव actual parameters पर नहीं पड़ता है.” इसका मतलब यह है कि जब execution control वापस calling function में जाएगा तो actual parameters की values समान रहेंगी, उनमे कोई बदलाव नही होगा.

इसका उदाहरण:-

#include <stdio.h>
int sum (int n);
void main()
{
int a = 5;
printf(“n The value of ‘a’ before the calling function is = %d”, a);
a = sum(a);
printf(“n The value of ‘a’ after calling the function is = %d”, a);
}
int sum (int n)
{
n = n + 20;
printf(“n Value of ‘n’ in the called function is = %d”, n);
return n;
}

Call by reference in Hindi

Call by reference में, actual parameter के मैमोरी एड्रेस को formal parameter में copy किया जाता है. इस address का प्रयोग called function में actual parameter के memory location को एक्सेस करने के लिए किया जाता है.
“इसमें अगर formal parameter में कोई बदलाव किया जाता है तो उसका प्रभाव actual parameters पर पड़ता है.”

इसका उदाहरण:-

#include <stdio.h>
int sum (int *n);
void main()
{
int a = 5;
printf(“n The value of ‘a’ before the calling function is = %d”, a);
sum(&a);
printf(“n The value of ‘a’ after calling the function is = %d”, a);
}
int sum (int *n)
{
*n = *n + 20;
printf(“n value of ‘n’ in the called function is = %d”, n);
}

Difference between call by value and call by reference in Hindi

call by valuecall by reference
value की copy को फंक्शन में pass किया जाता है.variable के address को फंक्शन में pass किया जाता है.
formal parameters की values को change करने पर actual parameters की value में कोई बदलाव नही आता है.formal parameter में बदलाव करने पर actual parameter की values भी change हो जाती हैं.
इसमें actual और formal arguments को अलग अलग memory location पर create किया जाता है.इसमें actual और formal arguments को एक ही memory location पर create किया जाता है.
actual arguments जो है वह variable या constant कुछ भी हो सकता है.actual arguments जो है वह केवल variable हो सकता है.

हम आशा करते है कि यह C Language के हिंदी में नोट्स आपकी स्टडी में उपयोगी साबित हुए होंगे | अगर आप लोगो को इससे रिलेटेड कोई भी किसी भी प्रकार का डॉउट हो तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूंछ सकते है | आप इन्हे अपने Classmates & Friends के साथ शेयर करे |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *