सी भाषा में पॉइंटर क्या है? Pointer in Hindi

हेलो स्टूडेंट्स, इस पोस्ट में हम आज ointer in Hindi के बारे में पढ़ेंगे | इंटरनेट में सी भाषा के नोट्स हिंदी में बहुत कम उपलब्ध है, लेकिन हम आपके लिए यह हिंदी में डिटेल्स नोट्स लाये है, जिससे आपको यह टॉपिक बहुत अच्छे से समझ आ जायेगा |

‘C’ Pointer in hindi (पॉइंटर):-

pointer वह variable है जो कि array के address को contain किये रहता है.
या
पॉइंटर वह variable है जो कि दूसरें variable के address को contain किये रहता है.

address किसी भी साधारण वेरिएबल में सुरक्षित नहीं हो सकते, इनको सुरक्षित करने के लिए केवल pointers ही प्रयोग में लाये जाते हैं.

pointer पर किये जा सकने वाले वैध कार्य निम्नलिखित हैं:-

1:- एक cast ऑपरेटर को प्रयुक्त करके समान डेटा प्रकार के पॉइंटर्स को assign करना.

2:- एक pointer को किसी integer के साथ जोड़ना अथवा घटाना.

3:- किन्ही दो pointers का अन्तर ज्ञात करना अथवा उनकी तुलना करना जोकि एक ही array को point करते हों.

4:- किसी भी पॉइंटर को NULL assign करना अथवा NULL से तुलना करना.

pointer को प्रयोग करने हेतु विशेष निर्देश:-

‘C’ भाषा में पॉइंटर का विशेष महत्व है, pointer के प्रयोग से हम variable द्वारा used bytes की स्थितियां सुनिश्चित कर सकते हैं, जिससे प्रोग्राम की जटिलता और कम हो जाती है.

‘C’ प्रोग्रामिंग भाषा में pointers के प्रयोग से प्रोग्राम के कार्यान्वयन अधिक हो जाती है. साथ ही यदि pointer का सही प्रयोग ना किया जाए तो यह बहुत बड़ी गलती का कारण बन सकते हैं.
अतः पॉइंटर को किसी प्रोग्राम में प्रयोग करने से पहले यह सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि पॉइंटर प्रोग्राम में सही स्थान पर प्रयोग किया है अथवा नहीं.

यहाँ पर प्रोग्रामिंग के दौरान pointer के प्रयोग में सामन्यतया होने वाली गलतियों तथा सावधानियों के बारें में बताया गया है. जो निम्न है:-

1:- पॉइंटर variable को घोषित करने के लिए हम पॉइंटर variable से पहले स्टार का प्रयोग करते है.

2:- जब तक पॉइंटर variable को मान प्रदान नहीं किया जाता वह garbage है अर्थात् उस पॉइंटर variable के मान का कोई महत्व नहीं है.

3:- पॉइंटर मेमोरी में used bytes का address कहलाता है.

4:- सामन्यतया कंप्यूटर में मैमोरी address शून्य से शुरू होते हैं. मैमोरी में सेलों की अधिक संख्या कंप्यूटर के प्रकार पर निर्भर करती है.

5:- सामन्यतया पॉइंटर में मुख्य गलती ampersand (&) ऑपरेटर की पायी जाती है जब पॉइंटर variable को मान प्रदान करते है तो हम सामान्य वेरिएबल से ampersand (&) का प्रयोग करना भूल जाते हैं. जिससे pointer में variable का address स्टोर नहीं हो पाता.

हम आशा करते है कि यह C Language के हिंदी में नोट्स आपकी स्टडी में उपयोगी साबित हुए होंगे | अगर आप लोगो को इससे रिलेटेड कोई भी किसी भी प्रकार का डॉउट हो तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूंछ सकते है | आप इन्हे अपने Classmates & Friends के साथ शेयर करे |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *