IPSec in Hindi, IP Security क्या है?

हेलो स्टूडेंट्स, इस पोस्ट में हम आज IPSec in Hindi के बारे में पढ़ेंगे | इंटरनेट में नेटवर्क सुरक्षा और क्रिप्टोग्राफी के नोट्स हिंदी में बहुत कम उपलब्ध है, लेकिन हम आपके लिए यह हिंदी में डिटेल्स नोट्स लाये है, जिससे आपको यह टॉपिक बहुत अच्छे से समझ आ जायेगा |

IP security (IPSec) in Hindi

IP Security को IPSec भी कहते हैं. इसका पूरा नाम internet protocol security है. इसका प्रयोग networking system की network layer पर सुरक्षा प्रदान करने के लिए किया जाता है।

IPSec एक IP network पर data packet को authenticate करता है और encrypt करता है।

दूसरे शब्दों में कहें तो, “IPSec एक secure network protocol suite है जो कि इन्टरनेट में data की integrity (अखंडता), confidentiality (गोपनीयता), और authentication (प्रमाणीकरण) को सुनिश्चित करता है.”

Features of IPSec in Hindi

इसकी विशेषताएं निम्नलिखित हैं:-

  1. यह application layer data को encrypt करता है.
  2. इन्टरनेट में routing data भेजने वाले router को यह सुरक्षा प्रदान करता है.
  3. IPSec दो अलग-अलग networks के बीच में कार्य करता है, इसलिए, चल रहे applications में बदलाव किये बिना security features को आसानी से implement किया जा सकता है.
  4. IPSec का ज्यादातर कार्य दो अलग-अलग network के बीच में VPN को सुरक्षित करना है.
  5. यह encryption के बिना ही authentication की सुविधा प्रदान करता है. यह उस data को authenticate करता है जो known sender ने भेजा हो

Components of IP security in Hindi

इसके components निम्नलिखित हैं:-

1:- Encapsulating Security Payload (ESP) –यह data integrity, encryption, authentication और anti-replay प्रदान करता है. यह payload के लिए authentication भी प्रदान करता है.

2:- Authentication Header (AH) –
यह भी data integrity, authentication और anti-replay प्रदान करता है परन्तु यह encryption प्रदान नही करता है. Anti-replay protection जो है वह packets के unauthorized transmission से protect करता है. यह data की confidentiality को protect नही करता है.

3:- Internet Key Exchange (IKE)-
यह एक नेटवर्क सिक्यूरिटी प्रोटोकॉल है इसे दो devices के बीच encryption keys को exchange करने और Security Association (SA) पर रास्ता ढूंडने के लिए डिज़ाइन किया गया है। Secure Association (SA) दो नेटवर्कों के मध्य communication को secure करने के लिए shared security attributes को स्थापित करता है.

Internet Key Exchange (IKE) जो है वह message content protection प्रदान करता है और standard algorithm जैसे कि – MD5 और SHA को implement करने के लिए open frame भी प्रदान करता है. इन algorithm के IPSec users प्रत्येक packet के लिए यूनिक identifier उत्पन्न करते है. इस identifier के द्वारा device यह निर्धारित करती है packet सही है या नहीं. वे packets जो authorize नही है उन्हें discard कर दिया जाता है और receiver को नही दिए जाते हैं.

Working of IPSec in Hindi

  1. Host यह check करता है कि packet को IPSec का प्रयोग करके transmit करना चाहिए या नहीं. आने वाले packets को भी host के द्वारा check किया जाता है कि वे ठीक से encrypt हुए हैं या नही.
  2. इसके बाद IKE phase 1 शुरू होता है जिसमें 2 hosts सुरक्षित channel शुरू करने के लिए एक दूसरे को authenticate करते है. इसके दो modes होते है. Main mode बहुत ही उच्च security प्रदान करता है और aggressive mode होस्ट को IPsec circuit को अधिक तेज़ी से स्थापित करने में सक्षम बनाता है।
  3. IKE phase 2 को एक secure channel पर conduct किया जाता है जिसमें दोनों होस्ट cryptographic algorithm के type पर बातचीत (negotiate) करते हैं और इन algorithm के साथ प्रयोग किए जाने के लिए secret key पर सहमत होते हैं।
  4. इसके बाद data packets को नये बनाए गए IPsec encrypted tunnel में exchange किया जाता है। इन packets को IPSec SA का प्रयोग करके encrypt और decrypt किया जाता है.
  5. जब दो hosts के मध्य communication पूरा हो जाता है, तब दोनों hosts के द्वारा keys को discard करके IPsec tunnel को समाप्त कर दिया जाता है।
IPsec in hindi - ip security
image

हम आशा करते है कि यह Network Security & Cryptography के हिंदी में नोट्स आपकी स्टडी में उपयोगी साबित हुए होंगे | अगर आप लोगो को इससे रिलेटेड कोई भी किसी भी प्रकार का डॉउट हो तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूंछ सकते है | आप इन्हे अपने Classmates & Friends के साथ शेयर करे |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *