Fog Computing in Hindi

हेलो स्टूडेंट्स, इस पोस्ट में हम आज Fog Computing in Hindi के बारे में पढ़ेंगे | इंटरनेट में नेटवर्क सुरक्षा और क्रिप्टोग्राफी के नोट्स हिंदी में बहुत कम उपलब्ध है, लेकिन हम आपके लिए यह हिंदी में डिटेल्स नोट्स लाये है, जिससे आपको यह टॉपिक बहुत अच्छे से समझ आ जायेगा |

Fog computing in hindi – फोग कंप्यूटिंग क्या है?

फोग कंप्यूटिंग एक decentralized (विकेंद्रीकृत) computing infrastructure है जिसमें डाटा, स्टोरेज और एप्लीकेशन data source और cloud के बीच स्थित रहते हैं।

fog computing को fog networking या fogging भी कहते हैं. यह एक आर्किटेक्चर है जो स्थानीय स्तर पर computation, storage, communication के लिए पर्याप्त मात्रा में edge device का प्रयोग करता है।

fog जो है वह डिस्ट्रिब्यूटेड नेटवर्क environment है तथा यह cloud computing और internet of things (IOT) से बहुत नजदीक से जुड़ा हुआ है. fog जो है वह IOT डेटा को produce करने वाले तथा उस पर work करने वाले cloud को extend करता है.

Fog computing in hindi
इमेज

इन devices को fog nodes कहते है तथा इन्हें एक नेटवर्क कनेक्शन के साथ कहीं भी deploy किया जा सकता है. जैसे:- रेलवे ट्रैक पर, फैक्ट्री के छत पर, बिजली के pole पर तथा गाडी में आदि.

वह प्रत्येक device जिसमें computation, storage, तथा network connection होता है वह एक fog node हो सकता है. उदाहरण के लिए:- routers, switches, servers, तथा video surveillance camera आदि.

advantage of fog computing in Hindi – फोग कंप्यूटिंग के लाभ

इसके फायदे निम्नलिखित हैं:-

1:- इसमें security (सुरक्षा) बहुत ही अच्छी होती है. fog nodes को IT में प्रयोग की जाने वाली सभी प्रक्रियाओं के द्वारा protect किया जाता है.

2:- यह selected data को cloud में processing के लिए भेजने के बजाय उसे locally प्रोसेस करता है. जिससे network bandwidth की बचत होती है और इसके ऑपरेशन का मूल्य (cost) भी कम हो जाता है.

3:- यह latency requirements (विलंबता आवश्यकताओं) को कम कर देता है जिससे तेजी से निर्णय लिए जाते है.

4:- इसमें users की privacy भी बहुत अच्छी होती है. क्योंकि यह users के data को locally (स्थानीय रूप से) प्रोसेस करता है. इसके साथ साथ IT team डिवाइसों को मैनेज तथा कण्ट्रोल कर सकती है.

5:- fog applications को सही tools का प्रयोग करके विकसित करना बहुत ही आसान है.

6:- fog nodes की प्रकृति (nature) मोबाइल की तरह होता है. इसलिए ये network को कभी भी join तथा leave कर सकते है.

7:- fog nodes को बहुत ही कठिन जगह भी स्थापित कर सकते है जैसे:- समुन्द्र के नीचे, फैक्ट्री की छत पर, रेलवे ट्रैक्स पर आदि. तथा इसके अलावा इन्हें दूर के स्थानों में भी स्थापित किया जा सकता है।

disadvantage of fog computing (फोग कंप्यूटिंग की हानियाँ)

इसकी हानियाँ निम्नलिखित हैं:-

  1. इसमें encryption algorithms तथा security policy के कारण devices के मध्य data को exchange करना बहुत मुश्किल होता है. security algorithms में कोई भी गलती होती है तो hackers इसका फायदा उठा सकते है. इसके जो अन्य security issues है वह हैं:- IP address spoofing, man in the middle अटैक, वायरलेस नेटवर्क सिक्यूरिटी आदि.
  2. फोग कंप्यूटिंग में उच्च data consistency को प्राप्त करना बहुत ही मुश्किल होता है.
  3. इसमें data को मैनेज करना बहुत ही difficult होता है.
  4. इसमें विश्वास (trust) और प्रमाणीकरण (authentication) प्रमुख चिंताएं हैं।
  5. fog nodes में power का consumption (खपत) बहुत ही अधिक होता है.

हम आशा करते है कि यह Network Security & Cryptography के हिंदी में नोट्स आपकी स्टडी में उपयोगी साबित हुए होंगे | अगर आप लोगो को इससे रिलेटेड कोई भी किसी भी प्रकार का डॉउट हो तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूंछ सकते है | आप इन्हे अपने Classmates & Friends के साथ शेयर करे |

Leave a Comment

Your email address will not be published.