Firewall Configuration in Hindi

हेलो स्टूडेंट्स, इस पोस्ट में हम आज Firewall Configuration in Hindi के बारे में पढ़ेंगे | इंटरनेट में नेटवर्क सुरक्षा और क्रिप्टोग्राफी के नोट्स हिंदी में बहुत कम उपलब्ध है, लेकिन हम आपके लिए यह हिंदी में डिटेल्स नोट्स लाये है, जिससे आपको यह टॉपिक बहुत अच्छे से समझ आ जायेगा |

Firewall Configuration in Hindi

firewall को हम configure कर सकते है. यहाँ पर हम 5 steps के द्वारा इसे configure करेंगे. यह हमारी network security के लिए बहुत जरुरी है.

1:- firewall को सुरक्षित करना

यदि कोई attacker आपके firewall के admin को access कर ले तो वही पर ही आपकी network security खत्म हो जाती है. इसलिए फ़ायरवॉल को सुरक्षित करना इस प्रक्रिया का सबसे पहला और सबसे महत्वपूर्ण step है.

अपने firewall को निम्न तरीके से update करें:-

  • यदि फ़ायरवॉल में कोई default user account है तो delete, rename या disable कर दें. और password को बदल दे. password को बहुत कठिन रखें. जिससे कि कोई पासवर्ड को guess ना कर पाए.
  • यदि बहुत सारें admin फ़ायरवॉल को manage करते हो तो, प्रत्येक user को उनकी जिम्मेदारी के अनुसार limited privileges ही दें. कभी भी shared user account का प्रयोग ना करें.
  • SNMP (simple network management protocol) को disable कर दें.

2:- IP Addresses

Internet में प्रत्येक मशीन को एक unique address दिया जाता है जिसे हम ip address कहते हैं. ip address जो है वह 32 bit संख्या होती है. उदाहरण के लिए:- यदि company के बाहर का कोई IP address सर्वर से बहुत सारीं files को read कर रहा है तो ऐसे मे firewall इस ip address से आने वाले traffic को block कर सकता है.

3:- access control list को configure करना

traffic को access control list (ACL) के द्वारा permit किया जाता है. इसमें हमें ip address और port numbers को specify करना होता है. और प्रत्येक ACL के अंत में “deny all” rule लगा दे जिससे कि अनावश्यक traffic बाहर हो जाए.

जहाँ तक संभव हो आप public access से firewall admin interface को disable कर दें, यह आपके firewall configuration को बाहरी खतरों से बचाने में मदद करेगा। firewall management के लिए सभी unencrypted protocols को disable करें।

4:- दूसरे firewall services और logging को configure करें

यदि आपका फ़ायरवॉल DHCP (dynamic host configuration protocol) सर्वर, NTP सर्वर आदि की तरह काम करने में सक्षम है तो आप अपनी इच्छानुसार services को configure कर सकते हो. और उन सभी services को disable कर दें जिन्हें आप use नही करते हैं.

5:- अपने firewall configuration को test करें.

test environment में यह verify करें कि firewall सही काम कर रहा है. यह भी check करें कि आपने जो traffic block किया है वो सही से work कर रहा है या नहीं.

हम आशा करते है कि यह Network Security & Cryptography के हिंदी में नोट्स आपकी स्टडी में उपयोगी साबित हुए होंगे | अगर आप लोगो को इससे रिलेटेड कोई भी किसी भी प्रकार का डॉउट हो तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूंछ सकते है | आप इन्हे अपने Classmates & Friends के साथ शेयर करे |

Leave a Comment

Your email address will not be published.