Constructor Overloading in C++ in Hindi

हेलो स्टूडेंट्स, इस पोस्ट में हम आज Constructor Overloading in C++ in Hindi के बारे में पढ़ेंगे | इंटरनेट में C++ भाषा के नोट्स हिंदी में बहुत कम उपलब्ध है, लेकिन हम आपके लिए यह हिंदी में डिटेल्स नोट्स लाये है, जिससे आपको यह टॉपिक बहुत अच्छे से समझ आ जायेगा |

हेल्लो दोस्तों! आज हम इस पोस्ट में Constructor Overloading in C++ in Hindi (सी.प्लस.प्लस में कंस्ट्रक्टर ओवरलोडिंग क्या है?) के बारें में पूरे विस्तार से पढेंगे. इसे मैंने बहुत ही आसान भाषा में लिखा है. आप इसे पूरा पढ़िए आपको यह आसानी से समझ में आ जायेगा. तो चलिए start करते हैं:-

Constructor Overloading in C++ in Hindi

C++ में, एक class में एक ही name के बहुत सारें constructor हो सकते हैं परन्तु उनके argument list अलग-अलग होते हैं. इसे ही constructor overloading कहते हैं. यह function overloading की तरह ही समान होता है.

दूसरे शब्दों में कहें तो, “Constructor overloading एक तकनीक है जिसके द्वारा हम अलग-अलग arguments के साथ एकसमान नाम के बहुत सारें constructors को create कर सकते हैं.”

  • overload किये जाने वाले constructor का नाम class के नाम की तरह समान होना चाहिए.
  • constructor को, arguments के type और number के आधार पर call किया जाता है.
  • object को create करते समय, arguments को अवश्य pass करना चाहिए. जिससे compiler को पता चल सकें कि किस constructor call करना है.
  • constructor के पास return type नहीं होता है.
  • constructors को हमेशा public के रूप में declare करना चाहिए.

Also read : Function Overloading in C++ in Hindi

Constructor overloading का example –

// C++ program to demonstrate constructor overloading
#include <iostream>
using namespace std;

class Student {
private:
int age;

public:
// 1. Constructor with no arguments
Student() {
age = 25;
    }

// 2. Constructor with an argument
Student(int x) {
age = x;
 }

int getAge() {
return age;
    }
};

int main() {
Student student1, student2(35);

cout << "Student1 Age = " << student1.getAge() << endl;
cout << "Student2 Age = " << student2.getAge() << endl;

return 0;
}

इसका आउटपुट
Student1 Age = 25
Student2 Age = 35

ऊपर दिए गए program में हमने Student नाम की class को create किया है जिसके पास age नाम का एक variable है. इसमें हमने Student() और Student(int x) दो constructors को भी define किया है.

जब student1 ऑब्जेक्ट को create किया जाता है तो पहला कंस्ट्रक्टर call होता है क्योंकि हमने इसमें किसी भी argument को पास नहीं किया है. और यह कंस्ट्रक्टर, age 20 को initialize करता है.

जब student2 को create किया जाता है तो दूसरा कंस्ट्रक्टर, call होता है क्योंकि हमने इसमें 45 को argument के रूप में pass किया है. यह कंस्ट्रक्टर age 45 को initialize करता है.

References:- https://www.geeksforgeeks.org/constructor-overloading-c/

हम आशा करते है कि यह Constructor Overloading in C++ in Hindi के हिंदी में नोट्स आपकी स्टडी में उपयोगी साबित हुए होंगे | अगर आप लोगो को इससे रिलेटेड कोई भी किसी भी प्रकार का डॉउट हो तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूंछ सकते है | आप इन्हे अपने Classmates & Friends के साथ शेयर करे |

Leave a Comment

Your email address will not be published.