RBSE Solutions for Class 9 English Insight Chapter 3 The Heritage of India

हेलो स्टूडेंट्स, यहां हमने राजस्थान बोर्ड Class 9 English Insight Chapter 3 The Heritage of India सॉल्यूशंस को दिया हैं। यह solutions स्टूडेंट के परीक्षा में बहुत सहायक होंगे | Student RBSE solutions for Class 9 English Insight Chapter 3 The Heritage of India pdf Download करे| RBSE solutions for Class 9 English Insight Chapter 3 The Heritage of India notes will help you.

Rajasthan Board RBSE Class 9 English Insight Chapter 3 The Heritage of India

RBSE Class 9 English Insight Chapter 3 The Heritage of India Textual Questions

Activity 1: Comprehension
(A) Tick the correct alternative :

Question 1.
The essay ‘The Heritage of India’ has been extracted from
(a) The Wonder That Was India
(b) United India
(c) Divided India
(d) India of People’s Hope
Answer:
(a) The Wonder That Was India

Question 2.
The essay “The Heritage of India’ clarifies that Indian culture is
(a) all-inclusive
(b) non-assimilatory
(c) inherited
(d) wonderful
Answer:
(a) all-inclusive

(B) Answer the following questions in not more than 30-40 words each :

Question 1.
How did Gandhi look at the theme of social service ?
गाँधीजी समाज-सेवी के विषय को किस रूप में देखते थे?
Answer:
Gandhiji looked at the theme of social service as a religious duty and the development continues under Gandhi’s successors.
गाँधीजी समज – सेवा के विषय को एक धार्मिक कर्तव्य के रूप में देखते थे और वह विकास गाँधीजी के आगे आने वाली पीढ़ियों के नेतृत्व में जारी है।

Question 2.
Why can’t according to the author, Gandhi be considered the epitome of Hindu tradition?
लेखक के अनुसार गाँधीजी को भारतीय परंपरा का प्रतीक क्यों नहीं माना जा सकता है?
Answer:
According to the author, Gandhi’cannot be considered the epitome of Hindu tradition as he was much influenced by Western ideas.
लेखक के अनुसार गाँधीजी को भारतीय परंपरा का प्रतीक इसलिए नहीं माना जा सकता है क्योंकि वह पाश्चात्य विचारों से अधिक प्रभावित थे।

Question 3.
Who influenced Gandhi in his pacifism?
गाँधीजी अपने शान्तिवाद में किससे प्रभावित थे?
Answer:
In his pacifism, Gandhi was incluenced by Jesus Christ and Tolstoy.
अपने शान्तिवाद में गाँधीजी जीसस क्राइस्ट और टॉलस्टॉय से प्रभावित थे।

Question 4.
How, according to the author, will the Hindu civilization retain its continuity ?
लेखक के अनुसार हिन्दू सभ्यता अपनी निरंतरता किस प्रकार बनाये रखेगी?
Answer:
According to the author, Hindu civilization will retain its continuity as our holy books will continue to inspire us towards good thoughts and deeds.
लेखक के अनुसार हिन्दू सभ्यता इस प्रकार अपनी निरंतरता बनाये रखेगी कि हमारे पवित्र ग्रंथ हमें अच्छे विचारों व अच्छे कार्यों की ओर प्रेरित करते रहेंगे।

Question 5.
What were the main sources of Gandhiji’s philosophy of life?
गांधीजी के जीवन-दर्शन के मुख्य स्रोत क्या थे?
Answer:
Gandhiji’s philosophy of life was very much influenced by Western ideas. His antipathy to caste was influenced by 19th century European liberalism. His pacifism was inspired by the Sermon on the Mount and Tolstoy.
गाँधीजी का जीवन-दर्शन पाश्चात्य विचारों से अत्यधिक प्रभावित था। जातिप्रथा के प्रति उनकी उदासीनता पर यूरोप के 19वीं शताब्दी के उदारवाद का प्रभाव था। उनका शान्तिवाद Sermon on the Mount और टॉलस्टॉय से प्रेरित था।

Question 6.
What important changes have taken place in India after independence ? स्वतंत्रता के पश्चात् भारत में क्या महत्त्वपूर्ण परिवर्तन हुए हैं?
Answer:
The feelings of national self-destruction and extreme patriotism regarding culture have disappeared. Caste system is getting weaker day by day in free India.
राष्ट्रीय आत्म-विनाश तथा संस्कृति के संबंध में आवश्यकता से अधिक देशभक्ति की भावनाएँ गायब हो चुकी हैं। स्वतंत्र भारत में जातिप्रथा दिन-प्रतिदिन कमजोर होती जा रही है।

Question 7.
What evidence does A. L. Basham cite to prove that Indian culture has changed a lot ?
भारतीय संस्कृति में आये बड़े परिवर्तन को सिद्ध करने के लिए ए.एल. बाशम क्या प्रामाणिक बात बताते हैं?
Answer:
He tells that now. Brahmans travel alongwith the people of so called lowest castes in buses and trains without any thought of pollution. Today temples are open to all. This is an evidence that Indian culture has changed a lot.
वह कहते हैं कि अब ब्राह्मण बसों व रेलगाड़ियों में तथाकथित निम्नतम जातियों के लोगों के साथ बिना किसी प्रदूषण की परवाह किए यात्रा करते हैं। आज मंदिर सभी के लिए खुले हैं। यह इस बात की गवाही है कि भारतीय संस्कृति में बड़ा परिवर्तन आया है।

(C) Answer the following questions in 60-80 words each:

Question 1.
How have Raja Ram Mohan Roy, Vivekananda and Gandhi viewed social service ?
राजा राम मोहन रॉय, विवेकानन्द और गाँधीजी ने समाजसेवा को किस रूप में देखा है?
Answer:
Raja Ram Mohan Roy propagated that social reform is true social service. He sounded the theme with his passionate advocacy of social reform. Vivekananda also viewed social service as social reform but he gave it a nationalistic tone. He declared that the highest form of service of the Great Mother was social service. Mahatma Gandhi developed the theme of social service as a religious duty.

राजा राम मोहन रॉय ने प्रचार किया कि समाज-सुधार सच्ची समाज-सेवा है। उन्होंने समाज-सुधार के जोरदार समर्थन के साथ इस विषय का डंका बजाया। विवेकानन्द ने भी समाज-सेवा को समाज-सुधार के रूप में देखा परंतु उन्होंने उसे एक राष्ट्रवादी लहजा दे दिया। उन्होंने घोषणा की कि भारतमाता की सेवा का सबसे बड़ा रूप है-समाजसेवा। महात्मा गाँधी ने समाजसेवा के मुद्दे को एक धार्मिक कर्तव्य के रूप में विकसित किया।

Question 2.
Hindu civilization constitutes the culture of synthesis.
हिन्दू सभ्यता जोड़ने वाली संस्कृति का निर्माण करती है। समझाइए।
Answer:
Hindu civilization, in the past, has received, adapted and digested elements of many different cultures; Indo-European, Mesopotamian, Iranian, Greek, Roman, Turkish, Persian and Arab. With each new influence, it has somewhat changed. Now it is on the way to assimilate the culture of the West. Influenced with good Western ideas, Hindu civilization has already given up its evil practices. Thus it is performing an act of synthesis : synthesis of our age old traditions with the high ideas of other cultures.

हिन्दू सभ्यता ने, अतीत में, बहुत-सी भिन्न-भिन्न संस्कृतियों के तत्वों को ग्रहण किया है, अपने अनुकूल बनाया है और अपने में समाहित किया है जैसे -इन्डो-यूरोपीय, मेसोपोटामियन, ईरानी, ग्रीक, रोमन, तुर्की, फारसी और अरब। प्रत्येक नये प्रभाव के साथ इसमें कुछ परिवर्तन आया है। अब यह पश्चिम की संस्कृति को आत्मसात् करने के मार्ग पर है। अच्छे पाश्चात्य विचारों से प्रभावित होकर हिन्दू सभ्यता पहले ही अपनी कुप्रथाएँ त्याग चुकी है। इस प्रकार यह जोड़ने का कार्य कर रही है । हमारी युगों पुरानी परंपराओं को अन्य संस्कृतियों के श्रेष्ठ विचारों से जोड़ना।

(D) Say whether the following are True or False. Write ‘T’ for True and ‘F’ for False in the bracket :

  1. Gandhi’s championing of Women’s right is the result of Western influence. [ ]
  2. The writer believes that the Indians of coming generations will not be unconvincing and self-conscious copies of Europeans. [ ]
  3. The author’s firm belief is that Indian tradition continues and it will never be lost. [ ]
  4. The Indian way of life is much affected by the labour saving devices of the West.[ ]

Answer:

  1. True
  2. True
  3. True
  4. False

Activity 2 : Vocabulary
(A) Match Column ‘A’ with Column ‘B’:
RBSE Solutions for Class 9 English Insight Chapter 3 The Heritage of India 1
Answer:
RBSE Solutions for Class 9 English Insight Chapter 3 The Heritage of India 2


(B) ‘culture’ शब्द का अर्थ है किसी एक देश या समूह विशेष इत्यादि की जीवनशैली, प्रथाएँ और विश्वास, कला, सामाजिक संगठन। इसका अर्थ कला/संगीत/साहित्य, विश्वास/दृष्टिकोण, बढ़ना/पनपना, कोशिकाएँ/बैक्टीरिया इत्यादि भी हो सकता है। अब नीचे दिए वाक्यों/वाक्यांशों को पढ़िए और पहचानिए कि ‘culture’ शब्द किस अर्थ में प्रयुक्त हुआ है?

  1. The political cultures of the United States and Europe are very different.
  2. The popular culture of India is different from the West.
  3. The culture of sikworms.
  4. Yogurt is made from active cultures.

Answer:

  1. Beliefs/attitudes
  2. Art/music/ literature
  3. Growing/breeding
  4. Cells/ bacteria

Activity 3 : Grammar
Present tense
अंग्रेजी में present tense forms चार प्रकार के हैं।

The simple present
Simple present tense में कर्ता बहुवचन का होने पर क्रिया अपने मूल रूप में प्रयुक्त होती है और कर्ता third person एकवचन का होने पर मूल रूप+s रूप में प्रयुक्त होती है।
उदाहरणार्थ : We eat rice. (stem)
She loves chocolates. (stem+s)
Ashok eats rice. (stem+s)
I love bananas. (stem)
They love chocolates. (stem)
शाश्वत सत्यों के संदर्भ में simple present tense का प्रयोग होता है। (शाश्वत सत्य वे चीजें हैं जो सदा सत्य मानी जाती हैं) निम्नलिखित वाक्यों को पढ़िए :
The sun rises in the east.
Hydrogen is lighter than air.
Arteries carry blood from the heart to different parts of the body.
Hard work leads to success.

simple present tense का प्रयोग दैनिक या आदतन कार्यों (नियमित रूप से या प्रतिदिन किए जाने वाले कार्यों) के संदर्भ में होता है। उदाहरणार्थ : Hari gets up at 6.00 a.m. He brushes his teeth and drinks a glass of milk.
और, simple present tense का प्रयोग वस्तुओं, स्थानों, लोगों इत्यादि का वर्णन करने में होता है। उदाहरणार्थ :
A pressure-cooker is a metal vessel with a tight-fitting lid, through which steam cannot escape. The lid has a tiny opening, called a vent, over which a valve sits. Pressure cookers help us to cook food quickly. Simple present tense का प्रयोग वर्तमान में चल रहे। कार्य या गतिविधि का वर्णन करने में भी होता है। उदाहरणार्थः Shoaib Akhtar bowls.

Tendulkar hits the ball towards the square leg boundary. यहाँ simple present tense का प्रयोग एक ऐसे कार्य के बारे में बताने के लिए हुआ है जो वास्तव में बोलने के समय चल रहा है। (आप देख सकते हैं कि उदाहरण एक क्रिकेट मैच की चलती हुई कमेन्ट्री से लिए गए हैं। हालांकि, इस काम के लिए अधिकांशत present progressive tense का प्रयोग होता है।) आप यह टी. वी. पर भी देख सकते हैं, उदाहरण के लिए, जब कोई विशेषज्ञ दर्शकों को कोई व्यंजन बनाना सिखाता है।

उदाहरणार्थः
Today, I will show you how to make fish curry. First, I chop some onions and fry them in oil until they are brown. Then, I add some curry powder to the onions and heat the mixture over a low flame. Then I put in.

The present progressive tense
Present progressive tense में क्रिया का मूल क्रिया +ing रूप प्रयोग होता है और ‘be’ क्रिया का कोई रूप (is, am, are) सहायक क्रिया के रूप में मुख्य क्रिया से पहले प्रयुक्त होता है। उदाहरणार्थ: My father is playing a game of chess. My friends are walking to the post office. Present progressive tense का प्रयोग ऐसे कार्य को बताने के लिए किया जाता है जो बोलने के समय चल रहा हो। The two Pakistani opening batsmen are going out to start the innings. The Indian fielders are taking up their positions. कभी-कभी present progressive का प्रयोग भविष्य के कार्य को सूचित करने के लिए होता है। उदाहरणार्थ : I am starting a new business next year. जैसा कि पहले बताया जा चुका है, भविष्य के कार्य को सूचित करने के कई अलग-अलग तरीके हैं, और present progressive का प्रयोग उनमें से एक है। इसका एक विशेष अर्थ होता है, जिसको हम बाद में जाँचेंगे-परखेंगे जब हमें भविष्य के कार्य को बताने के अलग-अलग तरीकों के विषय में बात करेंगे।

The present perfect tense
Present perfect tense foney at past participle रूप प्रयुक्त होता है। इसके पहले सहायक क्रिया के रूप में has या have का प्रयोग होता है। उदाहरणार्थ :
The child has eaten a biscuit.
The boys have gone to school.
I have given away all the books.

Present perfect tense का प्रयोग दिखाता है कि कोई कार्य अतीत में किसी समय पूर्ण हुआ, इसके बाद, यह कि पूर्ण हुए कार्य की बोलने के वर्तमान समय में कोई प्रासंगिकता है। (Perfect’ शब्द से पता चलता है कि कार्य पूर्ण हो चुका है।)

The present perfect progressive tense
जैसा कि नाम से ही पता चलता है, present perfect progressive tense रूप में व अर्थ में, दोनों में ही present perfect sit present progressive tenses का योग है। उदाहरणार्थ : ।। ध्यान दीजिए कि ‘teach’ क्रिया progressive tense के समान ing रूप में प्रयुक्त है, लेकिन इससे पहले दो सहायक क्रियाएँ आई हैं। पहली ‘have’ का एक रूप है। और इसके बाद ‘been’ प्रयुक्त हुआ है जो ‘be’ का past participle रूप है। Progressive रूप ‘teaching’ का प्रयोग दर्शाता है कि कार्य चल रहा है, जबकि participle ‘have been’ का प्रयोग दर्शाता है कि कार्य पूर्ण हो चुका है। Present progressive और present perfect के योग से पता चलता है कि

  • कार्य भूतकाल में किसी समय प्रारंभ हुआ।
  • वह कार्य बिना रुके वर्तमान में (बोलने के समय) जारी है।

Present perfect progressive tense में क्रियाओं से पहले प्रायः ‘since’ और ‘for prepositions का प्रयोग होता है। Since का प्रयोग अतीत में कार्य शुरू होने के समयबिन्दु के लिए होता है, जबकि ‘for’ का प्रयोग उस समयावधि के लिए होता है जिस समय कार्य चल रहा है। उदाहरणार्थ :
I have been living in Delhi since 1988.
I have been living in Delhi for 18 years.
‘He is playing tennis’ (present progressive) और
‘He has been playing tennis’ (present perfect progressive) के बीच अंतर पर ध्यान दीजिए। Present progressive बताता है कि कार्य अभी चल रहा है, यह इस विषय में कुछ नहीं बताता कि कार्य कब प्रारंभ हुआ। दूसरी ओर, present perfect progressive बताता है कि कार्य भूतकाल में प्रारंभ हुआ और वर्तमान तक चल रहा है।

Activity 4: Speech Activity
‘The Wonder that was India’ reveals many important aspects of Indian culture and history. Divide the class into groups and discuss among the groups some such aspects of Indian culture and history that make it distinct.

“The Wonder that was India’ भारतीय संस्कृति और इतिहास के बहुत से महत्त्वपूर्ण पक्षों को उजागर करता है। कक्षा को समूहों में बाँटिए और भारतीय संस्कृति और इतिहास के कुछ ऐसे पक्षों पर चर्चा कीजिए जो इसे विशिष्ट बनाते हैं।
Answer:
A few such aspects could be : ऐसे कुछ पक्ष हो सकते हैं :

1. Simple living and high thinking.
सादा जीवन उच्च विचार

2. Respect for Nature.
प्रकृति के लिए सम्मान

3. Assimilating the elements of other cultures.
दूसरी संस्कृतियों के तत्वों को आत्मसात् करना।

4. Tolerance towards all religions.
सभी धर्मों के प्रति सहिष्णुता ।

5. Peaceful co existence with all elements of nature.

Composition
The heritage of India fascinates the foreigners. The foreigners are interested in Indian heritage but we do not know much about ourselves. Enlist the ways which would enable us to have a deeper understanding of it.
भारत की विरासत विदेशियों को मोहित करती है। विदेशी भारत की विरासत में रुचि रखते हैं लेकिन हम स्वयं के विषय में अधिक नहीं जानते हैं। उन तरीकों की सूची बनाइए जिनसे हमें इसकी अधिक गहरी समझ हो सके।
A few such ways could be :
ऐसे कुछ तरीके हो सकते हैं :

1. Study of History
इतिहास का अध्ययन

2. Study of Our Scriptures
हमारी धार्मिक पुस्तकों का अध्ययन

3. Visiting Historical Places
ऐतिहासिक स्थलों का भ्रमण।

4. Visiting History Museums
ऐतिहासिक संग्रहालयों का भ्रमण

RBSE Class 9 English Insight Chapter 3 The Heritage of India Additional Questions

Short Answer Type Questions
Answer the following questions in 30 words each :

Question 1.
What is a false judgement about Mahatma Gandhi ? Why ?
महात्मा गांधी के विषय में क्या निर्णय गलत है? क्यों?
Answer:
Mahatma Gandhi is generally considered as the epitome of Hindu tradition. This is a false judgement. It is because he was much influenced with Western ideas.
महात्मा गांधी को प्रायः हिन्दू परम्परा का प्रतीक माना जाता है। यह एक गलत निर्णय है। ऐसा इसलिए है क्योंकि वह पाश्चात्य विचारों से काफी प्रभावित थे।

Question 2.
What changes does the lesson mention in the condition of women ?
यह पाठ महिलाओं की स्थिति में आए कौन से परिवर्तनों का उल्लेख करता है?
Answer:
The lesson mentions that burning of women on their husbands pyres has long before been stopped. Besides, now they cannot be married in childhood. Thus, their condition has improved.
यह पाठ उल्लेख करता है कि महिलाओं को उनके पतियों की चिताओं पर जलाया जाना बहुत पहले बन्द हो चुका है। इसके अलावा, अब बचपन में उनका विवाह नहीं किया जा सकता है। इस प्रकार, उनकी स्थिति में सुधार आया है।

Question 3.
“Caste is vanishing.” Elaborate. “Gilfagen गायब हो रही है।” समझाइये।।
Answer:
Today we can see people of all castes travelling together in buses and trains. Temples are open to the people of all castes. Thus, it can be said that caste is vanishing.
आज हम सब जातियों के लोगों को बसों व रेलगाड़ियों में साथ-साथ यात्रा करते देख सकते हैं। मन्दिर सभी जातियों के लोगों के लिए खुले हैं। इस प्रकार यह कहा जा सकता है कि जातिप्रथा गायब हो रही है।

Long Answer Type Questions
Answer the following questions in 60 words each :

Question
Describe the main elements of Gandhian philosophy as mentioned in the lesson.
इस पाठ में किए उल्लेख के अनुसार गांधीजी के जीवन-दर्शन के मुख्य तत्वों का वर्णन कीजिए।
Answer:
The lesson describes the main elements of Gandhian philosophy as under :

  • Gandhiji had passionate love for the underdog.
  • He hated caste system. He had deep faith in non-violence.
  • Violence in any form whether in words, in thoughts or in deeds was unacceptable to him.
  • He loved and wanted to see peace in the whole world.
  • He was a champion of women’s rights. To be precise, he was an innovator in the field of social service.

यह पाठ गांधीजी के जीवन दर्शन के मुख्य तत्वों का निम्न रूप से वर्णन करता है :

  • गांधीजी को दलितों के गहरा- प्रेम था
  • जातिप्रथा से उन्हों घृणा थी
  • अहिंसा में उनकी गहरी आस्था थी। शब्दों में, विचारों में अथवा कार्यों में, किसी भी रूप में हिंसा उन्हें Falcaref het ei
  • उन्हें शान्ति से प्रेम था और वह सारे संसार में शान्ति देखना चाहते थे।
  • वह महिलाओं के अधिकारों के अग्रणी समर्थक थे। ठीक-ठीक रूप में कहा जाये तो वह समाजसेवा के क्षेत्र में एक नवाचारी थे।

Passages for Comprehension

Read the following passages carefully and answer the questions that follow :

Passage 1
Ram Mohan Roy had sounded the theme with his passionate advocacy of social reform: Vivekananda repeated it with a more nationalist timbre, when he declared that the highest form of service of the Great Mother was social service. Other great Indians chief of who was Mahatma Gandhi developed the theme of social service as a religious duty and the development continues under Gandhi’s successors.

Mahatma Gandhi was looked on by many, both Indian and European, as the epitome of Hindu tradition, but this is a false judgement for he was much influenced by Western ideas. Gandhi believed in the fundamentals of his ancient culture, but his passionate love of the underdog and his antipathy to caste though not unprecedented in ancient India, were unorthodox in the extreme, and owed more to European 19th century liberalism than to anything Indian. His faith in non-violence was. as we have seen by no means typical of Hinduism-his predecessor in revolt, the able Maratha Brahman B.G. Tilak, and Gandhi’s impatient lieutenant Subhas Chandra Bose were far more orthodox in this respect.

For Gandhi’s pacifism we must look to the Sermon on the Mount and to Tolstoy. His championing of women’s right is also the result of Western influence. In his social context he was always rather an innovator than a conservative. He succeeded in shifting the whole emphasis of Hindu thought towards a popular and equalitarian social order, in place of the hierarchy of class and caste.

1. What did Vivekananda repeat with a more nationalist timbre ?
विवेकानन्द ने और अधिक राष्ट्रवादी लहजे से क्या दोहराया?

2. What did Vivekananda declare ?
विवेकानन्द ने क्या घोषणा की ?

3. How can it be said that Gandhi was not an epitome of Hindu tradition ?
ऐसा कैसे कहा जा सकता है कि गाँधीजी हिन्दू परम्परा के प्रतीक नहीं थे?

4. What was unorthodox about Gandhi ?
गाँधीजी के बारे में गैर-रूढ़िवादी बात क्या थी?

5. What was Gandhi’s pacifism inspired by ?
गाँधीजी का शान्तिवाद किससे प्रभावित था?

6. Who, according to the passage, was the champion for women’s right ?
गद्यांश के अनुसार, महिलाओं के अधिकारों का पक्षधर कौन था?

7. Who are called more orthodox than Gandhi?
गाँधीजी से भी ज्यादा रूढ़िवादी किसे बताया गया है?

8. What theme did Gandhi develop ?
गाँधीजी ने किस मुद्दे को विकसित किया?

9. Find from the passage the word opposite in meaning to: right

10. Find from the passage the word which means : basic elements
Answers:
1. Vivekananda repeated the theme of social reform with a more nationalist timbre.
विवेकानन्द ने समाज सुधार के मुद्दे को और अधिक राष्ट्रवादी लहजे में दोहरायी।

2. Vivekananda declared that the highest form of service of the Great Mother was social service.
विवेकानन्द ने घोषणा की कि भारत माता की सेवा का सर्वोच्च रूप समाज सेवा है।

3. Gandhi cannot be said an epitome of Hindu tradition as he was much influenced by Western ideas.
गाँधीजी को हिन्दू परंपरा का प्रतीक इसलिए नहीं कहा जा सकता है क्योंकि वह पाश्चात्य विचारों से अधिक प्रभावित थे।

4. Gandhi’s love for the underdog and his antipathy to caste were unorthodox about him.
दलितों व पिछड़ों के प्रति गाँधीजी का प्रेम और जातिप्रथा के प्रति उनकी उदासीनता, उनके विषय में गैर रूढ़िवादी बात थी।

5. Gandhi’s pacifism was inspired by the Sermon on the Mount and Tolstoy.
गाँधीजी का शान्तिवाद Sermon on the Moun तथा टॉयस्टॉय से प्रभावित था।

6. Gandhi was the champion for women’s right.
गाँधीजी महिलाओं के अधिकारों के पक्षधर थे।

7. Maratha Brahman B.G. Tilak and Subhas Chandra Bose are called more orthodox than Gandhi.
मराठा ब्राह्मण बी.जी. तिलक और सुभाष चंद बोस को गाँधीजी से अधिक रूढ़िवादी बताया गया है।

8. Gandhi developed the theme of social service as a religious duty.
गाँधीजी ने समाज सेवा के मुद्दे को धार्मिक कर्तव्य के रूप में विकसित किया था।

9. duty
10. fundamentals

Passage 2
Following up the work of many less well known 19th century reformers Gandhi and his followers of the Indian National Congress have given new orientation and new life to Hindu culture, after centuries of stagnation. Today there are few Indians, whatever their creed, who do not look back with pride on their ancient culture, and there are few intelligent Indians who are not willing to sacrifice some of its effete elements so that India may develop and progress.

Politically and economically India faces many problems of great difficulty, and no one can forecast her future with any certainty. But it is safe to predict that, whatever the future may be, the Indians of coming generations will not be unconvincing and self-conscious copies of Europeans, but will be men rooted in their traditions, and aware of the continuity of their culture.

Already, after only seven years of independence, the extremes of national selfdenigration and fanatical cultural chauvinism are disappearing. We believe that Hindu civilization is in the act of performing its most spectacular feat of synthesis. In the past it has received, adapted and digested elements of many different cultures Indo-European, Mesopotamian, Iranian, Greek, Roman, Scythian, Turkish, Persian and Arab. With each new influence it has somewhat changed. Now it is well on the way to assimilating the culture of the West.

1. Who has given new life to Hindu culture?
हिन्दू धर्म को किसने नया जीवन प्रदान किया है।

2. What can be assimilated by the Hindu religion ?
हिन्दू धर्म के द्वारा क्या आत्मसात् किया जा सकता है?

3. Name the different cultures that Hindu religion has digested.
उन विभिन्न संस्कृतियों के नाम बताइये जिनको हिन्दू धर्म ने आत्मसात् किया है।

4. What can no one forecast about India ?
भारत के बारे में कोई भी क्या भविष्यवाणी नहीं कर सकता है?

5. How do Indians look back on their ancient culture ?
भारतीय लोग अपनी प्राचीन संस्कृति को किसी प्रकार से याद करते हैं?

6. What is needed for India’s development ?
भारत के विकास के लिए क्या आवश्यक है?

7. What basic quality of Indian culture is mentioned here ?
यहाँ भारतीय संस्कृति की किस आधारभूत विशेषता का उल्लेख है?

8. What is the most spectacular feat of Hindu civilization ?
भारतीय सभ्यता का सर्वाधिक विशिष्ट कार्य क्या है?

9. Find from the passage the word opposite in meaning to: solutions
10. Write the past forms of the following:
(a) develop
(b) belive
Answers:
1. Gandhi and his followers of the Indian National Congress have given new life to Hindu culture.
गाँधीजी और भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस के उनके अनुयायियों ने हिन्दू धर्म को नया जीवन दिया।

2. The culture of the West can be assimilated by the Hindu religion.
पश्चिमी संस्कृति को हिन्दू धर्म के द्वारा आत्मसात् किया जा सकता है।

3. The Hindu religion has digested – Indo European, Mesopotamian, Iranian, Greek, Roman, Scythian, Turkish, Persian and Arab cultures.
हिन्दू धर्म ने – इण्डो-यूरोपियन, मेसोपोटेमियन, ईरानी, ग्रीक, रोमन, सीथियन, तुर्की, फारसी और अरब की संस्कृतियों को आत्मसात किया है।

4. No one can forecast the future of India with any certainty..
किसी भी निश्चितता के साथ भारत के भविष्य के विषय में कोई भी भविष्यवाणी नहीं कर सकता है।

5. Indians look back on their ancient culture with pride.
भारतीय अपनी प्राचीन संस्कृति को गर्व से याद करते हैं।

6. It is needed for India’s development that the effete elements in Indian culture are given up.
भारत के विकास के लिए आवश्यक है कि भारतीय संस्कृति के आडम्बरपूर्ण तत्वों को त्याग दिया जाए।

7. It is the continuity of Indian culture.
यह है। भारतीय संस्कृति की निरन्तरता।

8. It is the feat of synthesis.
यह है जोड़ने का कार्य।

9. problems
10. (a) developed, (b) believed

Passage 3
Hindu civilization will, we believe, retain its continuity. The Bhagavad Gita will not cease to inspire men of action, and the Upanishads, men of thought. The charm and graciousness of the Indian way of life will continue, however, much affected it may be by the labour-saving devices of the West. People will still love the tales of the heroes of the Mahabharata and the Ramayana and of the loves of Dushyanta and Shakuntala and Pururavas and Urvasi. The quiet and gentle happiness which has at all times pervaded Indian life where oppression, disease and poverty have not over clouded. It will surely not vanish before the more hectic ways of the West.

Much that was useless in ancient Indian culture has already perished. The extravagant and barbarous hecatombs of the Vedic age have long since been forgotten, though animal sacrifice continues in some sects. Widows have long ceased to be burnt on their husbands’ pyres. Girls may not by law be married in childhood. In buses and trains all over India Brahmans rub shoulders with the lowest castes without consciousness of grave pollution and the temples are open to all by law. Caste is vanishing; the process began long ago, but its pace is now so rapid that the more objectionable features of caste may have disappeared within a generation or so. The old family system is adapting itself to presentday conditions. In fact the whole face of India is altering, but the cultural tradition continues, and it will never be lost.

1. Which Indian scripture preaches action ?
कौनसा भारतीय धर्मग्रंथ कर्म का उपदेश देता है?

2. Whom do Upanishads inspire ?
उपनिषद किसे प्रेरित करते हैं?

3. How has the Indian way of life been called?
भारतीय जीवन शैली को कैसा बताया गया है?

4. What will never vanish ?
कभी भी गायब क्या नहीं होगा?

5. Name any two evil practices of ancient India.
प्राचीन भारत की किन्हीं दो कुप्रथाओं के नाम बताईये।

6. Which system prevented Brahmans from travelling with so called lower castes ? कोन सी प्रथा ब्राह्मणों को तथाकथित निम्न जातियों के साथ यात्रा करने से रोकती थी?

7. How have child marriages been stopped ?
बाल विवाहों को किस प्रकार से रोका गया है?

8. In spite of so many changes, what continues in India ?
भारत में इतने सारे परिवर्तनों के बावजूद क्या जारी है?

9. Find from the passage the word opposite in meaning to: modern

10. Make singular forms of the following:
(a) widows
(b) heroes
Answers:
1. The Bhagavad Gita preaches action.
भगवत गीता कर्म का उपदेश देती है।

2. Upanishads inspire the men of thought.
उपनिषद विचारशील लोगों को प्रेरित करते हैं।

3. The Indian way of life has been told charming and graceful.
भारतीय जीवन शैली को आकर्षक व सुंदर बताया गया है।

4. The quiet and gentle happiness of Indian life will never vanish.
भारतीय जीवन की शांत व मृदु प्रसन्नता कभी गायब नहीं होगी।

5. These practices were – widow burning or sati pratha, child marriage, ये प्रथाएँ थी –
विधवाओं को जलाया जाना या सती प्रथा, बाल विवाह।

6. It was caste system.
यह थी जाति प्रथा।

7. Child marriages have been stopped by law.
बाल विवाहों को कानून के द्वारा रोका गया है।

8. It is the cultural tradition that continues.
सांस्कृतिक परंपरा जारी है।

9. widow
10. (a) widow, (b) hero

Word-meanings and Hindi Translation

Ram Mohan ………………………. successors. (Page 14)

Word-meanings : theme (थीम) = विषय। passionate (पैशनिट) = मजबूत। advocacy (एड्वॉकसि) = समर्थन। social reform (सोशल रिफ़ॉ:म) = समाज सुधार। nationalist (नेशनलिस्ट) = राष्ट्रवादी। timbre (टिम्बॅ) = लहजा। developed (डिवेलप्ट) = विकसित किया। religious (रिलीजस) _ = धार्मिक। duty (ड्यूटि) = कर्तव्य। development (डिवेलप्मण्ट) = विकास। continues (कन्टिन्यूज़) = जारी है। successors (सक्सेजें:ज़) = उत्तराधिकारी, आगे आने वाली पीढ़ियाँ।

हिन्दी अनुवाद-राम मोहन रॉय ने समाज-सुधार के अपने मजबूत समर्थन के साथ इस विषय (मुद्दे) का डंका बजाया था : विवेकानन्द ने एक अधिक राष्ट्रवादी लहजे में इसे दोहराया, जब उन्होंने घोषणा की कि भारत माता की सेवा का सर्वोच्च रूप है समाज-सेवा। अन्य महान भारतवासियों ने, जिनके प्रमुख थे महात्मा गाँधी, समाज-सेवा के मुद्दे को धार्मिक कर्त्तव्य के रूप में विकसित किया और वह विकास गाँधी जी के आगे आने वाली पीढ़ियों के नेतृत्व में जारी है।

Mahatma Gandhi ………………………. stagnation. (Page 14)

Word-meanings : was looked on (वॉज़ लुक्ट ऑन) = समझा गया, माना गया। epitome (एपिटोम) = प्रतीक। tradition (ट्रडिशन) = परम्परा। influenced (इन्फ्लयन्स्ट) = प्रभावित। western (वेस्टॅन) = पाश्चात्य। fundamentals (फण्डमण्टल्ज़) = आधारभूत मूल्य। ancient (एन्शण्ट) = पुरातन, प्राचीन। culture. (कल्चे) = संस्कृति। underdog (अण्डॅडॉग) = सामाजिक रूप से पिछड़े लोग, दलित। antipathy (एण्टिपथि) = उदासीनता। caste (कास्ट) · = जातिप्रथा। unprecedented (अन्प्रिसिडण्टिड) = बिल्कुल नया, अभूतपूर्व। unorthodox (अन्ऑथडॉक्स) = रूढ़िवादिता से रहित, गैर-रूढ़िवादी। extreme (इक्स्ट्रीम) = अत्यधिक। owed (ओउड) = लिया था, ग्रहण किया था। liberalism (लिब्रलिज्म) = उदारवाद। faith (फेइथ) = trust, विश्वास। non-violence (नॉन-वॉइअलन्स) = अहिंसा। by no means (बाइ नो मीन्ज़) = किसी भी प्रकार नहीं। typical (टिपिकल) = विशिष्ट गुण। Hinduism (हिन्दुइज़्म) = हिन्दूवाद। predecessor (प्रीडिसेसँ) = पूर्वज, पूर्ववर्ती। revolt (रिवॉल्ट) = विद्रोह। impatient (इम्पेशण्ट) = अधीर। orthodox (ऑथडॉक्स) = रूढ़िवादी। respect (रिस्पेक्ट) = मामला। pacifism (पेसिफिज़्म) = शान्तिवाद। championing (चैम्प्यनिंग) = समर्थन। context (कॉन्टेक्स्ट) = संदर्भ। rather (रा) = अपेक्षाकृत। innovator (इनोवेटॅ) = नवाचारी। conservative = रूढ़िवादी। shifting (शिफ्टिंग) = दिशा परिवर्तित करना। emphasis (इम्फसिस) = जोर। equalitarian (इक्वलिटरियन) = समानतावादी। order (ऑडर) = व्यवस्था। heirarchy (हाइरैर्कि) = ऊँच-नीच। following up (फॉलोइंग अप) = अनुसरण करना। followers (फॉलोअ:ज़) = अनुयायी। orientation (ओरिएण्टेइशन) = दिशा। stagnation (स्टैग्नइशन) = स्थिरता।

हिन्दी अनुवाद-महात्मा गांधी को भारतीय और यूरोपीय, दोनों ही प्रकार के बहुत से लोगों द्वारा हिन्दू परम्परा के प्रतीक के रूप में देखा गया, परंतु यह एक गलत निर्णय है क्योंकि वह पाश्चात्य विचारों से अधिक प्रभावित थे। गाँधीजी अपनी प्राचीन संस्कृति के आधारभूत मूल्यों में विश्वास रखते थे, लेकिन दलितों के लिए उनका तीव्र प्रेम और जातिप्रथा के प्रति उनकी उदासीनता हालांकि प्राचीन भारत में अभूतपूर्व तो नहीं, पर अत्यधिक गैर-रूढ़िवादी थे, और उन्होंने किसी भारतीय सिद्धांत से अधिक यूरोप के 19वीं शताब्दी के उदारवाद से अधिक ग्रहण किया था। जैसा कि हमने देखा है अहिंसा में उनका विश्वास किसी भी प्रकार से हिन्दूवाद का विशिष्ट गुण नहीं था-विद्रोह में उनके पूर्ववर्ती, योग्य मराठा ब्राह्मण बी.जी.तिलक और गाँधी जी के अधीर लेफ्टिनेन्ट सुभाष चन्द्र बोस इस मामले में कहीं अधिक रूढ़िवादी थे। गाँधीजी के शान्तिवाद के लिए हमें Sermon on the Mount तथा टॉलस्टॉय का परीक्षण करना होगा। महिलाओं के अधिकारों का उनका समर्थन भी पाश्चात्य प्रभाव का परिणाम है। अपने सामाजिक संदर्भ में वह हमेशा रूढ़िवादी की अपेक्षा एक नवाचारी थे। वह हिन्दू सोच के पूरे जोर की दिशा, वर्ग व जाति को ऊँच-नीच के स्थान पर एक प्रचलित व समानतावादी सामाजिक व्यवस्था की ओर परिवर्तित करने में सफल रहे। 19वीं शताब्दी के बहुत से कम प्रसिद्ध सुधारकों के काम का अनुसरण करते हुए गांधीजी और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के उनके अनुयायियों ने हिन्दू संस्कृति को शताब्दियों की स्थिरता के बाद नई दिशा और नया जीवन प्रदान किया है।

Today there ………………………. the West. (Pages 14-15)

Word-meanings : creed (क्रीड) = वर्ग। look back = मुड़कर देखना। sacrifice (सक्रिफाइस) = त्यागना। effete (इफीट) = दिखावटी, आडम्बरपूर्ण। elements (इलिमण्ट्स) = तत्व। economically (इकॉनॅमिक्लि ) = आर्थिक रूप से। forecast (फोरकास्ट) = भविष्यवाणी करना। predict (प्रिडिक्ट) = भविष्यवाणी करना। unconvincing (अन्कन्विन्सिंग) = आश्वासनरहित। self-conscious (सेल्फ कॉन्शस) = स्वयं के बारे में सशंकित। rooted (रूटिड) = जड़ें जमाये हुए। extremes (इक्स्ट्रीम्ज़) = चरम शक्तियाँ। self-denigration (सेल्फ-डेनिग्रेइशन) = आत्म-विनाश। fanatical (फैनटिक्ल) = उन्मादपूर्ण । chauvinism (चॉविनिज़्म) = आवश्यकता से अधिक देशभक्ति। disappearing (डिपिअरिंग) = गायब हो रही। civilization (सिविलाइजे इशन) = सभ्यता। performing (प:फ़ॉमिंग) = करना। spectacular (स्पेक्टक्यलें) = प्रभावशाली। feat (फ़ीट) = कार्य। synthesis (सिन्थसिस) = जोड़ना। adapted (अडप्टिड) = अनुकूलित किया। digested (डाइजस्टिड) = पचाया, आत्मसात् किया। influence (इन्फ्ल्यू अन्स) = प्रभाव। somewhat (सम्व्हॉट) = कुछ। assimilating (असिमिलेटिंग) = आत्मसात् करना।

हिन्दी अनुवाद-आज ऐसे कोई भी भारतीय नहीं हैं, चाहे वे किसी भी वर्ग के हों, जो मुड़कर अपनी प्राचीन संस्कृति को गर्व के साथ नहीं देखते हैं, और ऐसे कोई बुद्धिमान भारतीय नहीं हैं जो इसके (अपनी प्राचीन संस्कृति के) कुछ आडम्बरपूर्ण तत्वों को त्यागने को तैयार नहीं हैं जिससे कि भारत विकास व उन्नति कर सके। राजनीतिक और आर्थिक रूप से भारत बहुत सी अत्यधिक कठिन समस्याओं का सामना कर रहा है, और कोई भी किसी भी निश्चितता के साथ उसके (भारत के) भविष्य के विषय में भविष्यवाणी नहीं कर सकता है। लेकिन यह भविष्यवाणी करना सुरक्षित है कि, भविष्य जो भी हो, आने वाली पीढ़ियों के भारतीय यूरोपवासियों की आश्वासनरहित और स्वयं के बारे में सशंकित नकल नहीं होंगे, बल्कि अपनी परम्पराओं में जड़े जमाए और अपनी संस्कृति की निरंतरता के प्रति जागरूक लोग होंगे। पहले ही, स्वतंत्रता के केवल सात वर्ष बाद ही राष्ट्रीय-आत्म-विनाश और आवश्यकता से अधिक उन्मादपूर्ण सांस्कृतिक देशभक्ति की चरम सीमाएँ गायब हो रही हैं। हम मानते हैं कि हिन्दू सभ्यता जोड़ने का अपना सर्वाधिक प्रभावशाली कार्य करने में रत (लगी हुई) है। अतीत में इसने भारोपीय, मेसोपोटेमियन, ईरानी, ग्रीक, रोमन, सीथियन, तुर्की, फारसी और अरब बहुत सी अलग-अलग संस्कृतियों के तत्वों को ग्रहण किया, अनुकूलित किया और आत्मसात् किया है। प्रत्येक नये प्रभाव के साथ यह कुछ परिवर्तित हुई है। अब यह अच्छी तरह से पश्चिम की संस्कृति को आत्मसात् करने के मार्ग पर है।

Hindu civilization ………………………. the West. (Page 15)

Word-meanings : retain (रिटेन) = बनाये रखना। cease (सीज़) = रुकना, बन्द करना। charm (चा:म) = आकर्षण। way (वे) = तरीका, शैली। devices (डिवाइसिज़) = उपकरण। tales (टेइल्ज़) = कहानियाँ। pervaded (प:वेडिड) = व्याप्त रही। oppression (ऑप्रशन) = अत्याचार, दमन। poverty (पा:वटि) = गरीबी। over clouded (ओ क्लाउडिड) = छाये रहे। surely (श्युअर्लि) = निश्चित रूप से। vanish (वैनिश) = गायब होना। hectic (हेक्टिक) = जल्दबाजीपूर्ण।

हिन्दी अनुवाद-हमें विश्वास है कि हिन्दू सभ्यता अपनी निरन्तरता बनाये रखेगी। भगवद्गीता कर्म करने वाले लोगों को और उपनिषद् विचारकों को प्रेरित करना बन्द नहीं करेंगे। भारतीय जीवनशैली का आकर्षण और सौंदर्य जारी रहेगा, भले ही यह पश्चिम के परिश्रम बचाने वाले उपकरणों से कितना ही प्रभावित क्यों न हो। लोग महाभारत और रामायण के नायकों की कहानियों और दुष्यन्त व शकुन्तला तथा पुरुरवा व उर्वशी की प्रेमकथाओं को हमेशा पसंद करेंगे। लोग हमेशा उस शान्त व मृदु प्रसन्नता को पसंद करेंगे जो भारतीय जीवन में हमेशा व्याप्त रही है जहाँ दमन, बीमारी और गरीबी कभी नहीं छाये रहे हैं। यह निश्चित रूप से पश्चिम के अधिक जल्दबाजीपूर्ण तरीकों के सामने गायब नहीं होगी।

Much that ………………………. never be lost. (Page 15)

Word-meanings: perished (पेरिश्ट) = नष्ट हो गया। extravagant (एक्स्ट्रावेगण्ट) = दिखावटी, आडम्बरपूर्ण। barbarous (बा:बरस) = अत्याचारपूर्ण, निर्दयी। hecatombs (हेकटॉम्ब्ज़) = सार्वजनिक सामूहिक बलियाँ। sects (सेक्ट्स) = सम्प्रदाय। ceased (सीज़्ड) = बन्द हो गया, रूक गया। pyres (पायर्ज़) = चिताएँ। rub shoulders (रब शोल्डॅज़) = कन्धे से कन्धा मिलाकर चलना। consciousness (कॉन्शस्नस) = जागरुकता। grave (ग्रेव) = गम्भीर। process (प्रोसेस) = प्रक्रिया। pace (पेस) = गति। rapid (रैपिड) = तीव्र। objectionable (ऑब्जेक्शनब्ल) = आपत्तिजनक। features (फीच:ज़) = विशेषताएँ। altering (ऑल्टरिंग) = परिवर्तित हो रहा।

हिन्दी अनुवाद-प्राचीन भारतीय संस्कृति में जो चीजें निरर्थक थीं, उनमें से बहुत कुछ पहले ही नष्ट हो चुकी हैं। वैदिक युग की आडम्बरपूर्ण व अत्याचारपूर्ण सार्वजनिक सामूहिक बलियाँ बहुत पहले ही भुलाई जा चुकी हैं, हालांकि कुछ सम्प्रदायों में पशुबलि जारी है। विधवाओं को उनके पतियों की चिताओं पर जलाया जाना बहुत पहले बन्द हो चुका है। लड़कियों का बचपन में विवाह कानून द्वारा निषिद्ध है। पूरे भारतवर्ष में बसों व रेलगाड़ियों में ब्राह्मण किसी गम्भीर प्रदूषण की जागरुकता के बिना निम्नतम जातियों के लोगों के साथ कन्धे से कन्धा मिलाकर चलते हैं और कानून के आदेश से मंदिर सबके लिए खुले हुए हैं। जातिप्रथा गायब हो रही है; यह प्रक्रिया बहुत पहले प्रारंभ हो गई थी लेकिन अब इसकी गति इतनी तीव्र है कि जातिप्रथा की अधिक आपत्तिजनक विशेषताएँ संभवतः लगभग एक पीढी में ही गायब हो गई हैं। पुरानी परिवार-व्यवस्था वर्तमान की परिस्थितियों के अनुसार अनुकूलित हो रही है। वास्तव में, भारत का संपूर्ण चेहरा परिवर्तित हो रहा है, लेकिन सांस्कृतिक परंपरा बनी हुई है, और यह कभी नहीं खोयेगी।

All Chapter RBSE Solutions For Class 9 English Hindi Medium

All Subject RBSE Solutions For Class 9 Hindi Medium

Remark:

हम उम्मीद रखते है कि यह RBSE Class 9 English Solutions in Hindi आपकी स्टडी में उपयोगी साबित हुए होंगे | अगर आप लोगो को इससे रिलेटेड कोई भी किसी भी प्रकार का डॉउट हो तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूंछ सकते है |

यदि इन solutions से आपको हेल्प मिली हो तो आप इन्हे अपने Classmates & Friends के साथ शेयर कर सकते है और HindiLearning.in को सोशल मीडिया में शेयर कर सकते है, जिससे हमारा मोटिवेशन बढ़ेगा और हम आप लोगो के लिए ऐसे ही और मैटेरियल अपलोड कर पाएंगे |

आपके भविष्य के लिए शुभकामनाएं!!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *