UP Board Solutions for “Class 12 English The Merchant of Venice” Introduction

BoardUP Board
TextbookNCERT
ClassClass 12
TopicEnglish Poetry quick Poems
ChapterChapter 1
Chapter Identify“The Merchant of Venice” Introduction
ClassClass 12 English

UP Board Solutions for “Class 12 English” “The Merchant of Venice” Introduction

About William Shakespeare
His Life :
Shakespeare was born on 23rd April, 1564 at Stratford-on-Avon in Warwickshire, England. His father was a service provider and belonged to a good household. He married Anne Hathaway, who was eight years older than he.

His Training : On the age of seven years he was admitted to the Grammar College of his native village. Right here, he learnt Latin and English. He studied right here until the age of fourteen. Then he needed to discontinue his research because of decline in his father’s enterprise.

His Literary Profession : Shakespeare began his literary profession as a horse boy on the Globe Theatre. Then he revised, re-wrote and re-modelled previous performs. However quickly he made fast progress and was often known as the preferred playwright of his time. He wrote 37 performs, 154 sonnets and plenty of poems. He wrote tragedies, comedies, historic performs and poems.

Dramatis Personae (Characters of the Play)

Introduction to the Merchant of Venice
The Service provider of Venice is a romantic comedy. The phrase “romantic’ right here means an unreal story which passes past the boundaries of ordinary life. The phrase ‘comedy means a dramatic story with a cheerful ending. Thus once we name the Service provider of Venice a romantic comedy, we imply that it’s a play, the story of which is unreal, passes past the boundaries of unusual life and has a cheerful ending. However some fashionable critics have additionally referred to as it a tragi-comedy. Now the time period tragi-comedy is utilized to a play through which critical and comedian scenes are blended and the tip of which is a few what tragic. With regards to the Service provider of Venice, this comment has some fact. For the play abruptly strikes to comedy from an environment of seriousness. However, the play will not be a tragedy-nor we could name it a tragi-comedy, because the finish of the play is comedian.

(Merchant of Venice एक romantic comedy है, शब्द ‘romantic का यहाँ अर्थ है एक अवास्तविक कहानी जो साधारण जीवन की सीमाओं से हटकर व्यतीत हो। शब्द ‘comedy’ का अर्थ है एक नाटकीय कथा जिसका अन्त सुकदाई हो इस प्रकार जब हम Service provider of Venice Ta romantic comedy कहते हैं तब हमारा अर्थ होता है कि यह एक ऐसा नाटक है जिसकी कथा वास्तविक नहीं हैं, जो साधारण जीवन की सीमाओं से हटकर व्यतीत होती है और जिसका अन्त आनन्दपूर्ण है। किन्तु कुछ आधुनिक आलोचक इसे tragi-comedy भी कहते शब्द tragi-comedy उस नाटक पर लागू होता है जिसमें गम्भीर और हँसी मजाक के दृश्य मिले हुए हों और जिसका अन्त कुछ दुःखदायी हो। Merchantof Venice के सन्दर्भ में इस कथन में कुछ सत्यता है। क्योंकि नाटक अचानक गम्भीरता के वातावरण से comedy की ओर चल पड़ता है। फिर भी नाटक न तो tragedy है और न हम इसे tragi-comedy कह सकते हैं क्योंकि नाटक का अन्त सु:खदायी है।

Play at a Look

Play opens in a road of Venice. Antonio is unhappy however is aware of no motive of his unhappiness. His buddy Bassanio asks him a mortgage to allow him to go to Belmont and attempt to win the hand of Portia. Antonio has no prepared cash. He sends him to a cash lender to take cash on mortgage of on his behalf.

Then the play shifts to a room in Portia’s home in Belmont. In accordance with the need of Portia’s father the younger man who chooses the appropriate casket out of three-gold, silver and lead—will win the hand of Portia. There are such a lot of suitors and Portia is making feedback on the character of some princely suitors already there. Now the scene shifts to a public place in Venice. Bassanio asks Shylock for a mortgage of three thousand ducats for 3 months. Shylock agrees to grant the mortgage if Antonio indicators a bond of the penalty situation. Penalty is one pound flesh from Antonio’s physique. Antonio agrees and indicators the bond.

Now the play shifts to a room in Portia’s home in Belmont. There are three primary suitors to win the hand of Portia, Prince of Morocco chooses the golden casket and will get in it a dying’s head. Prince of Arragon chooses the silver casket and will get a idiot’s portrait in it. Then Bassanio arrives and chooses the leaden casket. He will get Portia’s portrait in it. Thus Bassanio marries Portia and Gratiano marries Nerissa. Launcelot leaves the service of Shylock and Bassanio appoints him his servant. However Jessica, the one daughter of Shylock, elopes with Lorenzo and takes away some huge cash and jewels of Shylock along with her. Shylock had gone to a farewell feast of Bassanio and had given all of the keys of his home to Jessica. The information of Jessica’s elopement has maddened Shylock with grief.

Shylock will get the information that Antonio’s ships have sunk within the sea. The reimbursement time of the bond is about to finish. So he decides to file a swimsuit towards Antonio and to demand a pound of flesh from his physique.

On the time when Bassanio is to be married to Portia, he will get a letter from Antonio that he’s in hassle and Shylock is adamant to take one pound of flesh from his physique. Bassanio and Gratiano atonce depart for Venice with some huge cash.

Portia seeks recommendation from an awesome advocate Dr. Bellario to defend the case of Antonio. Portia and Nerrisa, dressed as a lawyer and a clerk attain the courtroom to defend Antonio. No plea and no attraction of mercy may transfer Shylock. Then Portia allowed Shylock to chop a pound of flesh from Antonio’s physique however with out shedding a drop of blood or much less or extra flesh. The jew recoils and asks just for his cash. Then, he’s charged for plotting towards the lifetime of a citizen. However Duke pardoned him with three circumstances (1) flip right into a Christian, (2) quit usury, (3) all his property will go to Lorenzo and Jessica after his dying. He accepts the circumstances with damaged coronary heart. Then all are joyful and make merry Antonio’s three ships are reported to be protected. Thus the jew obtained proper punishment for his cruelty. The play ends in a really joyful ambiance.

नाटक पर एक दृष्टि (नाटक वेनिस के एक मोहल्ले में खुलता है। एण्टोनियो दु:खी है किन्तु अपने दु:ख का कारण नहीं जानता। उसका मित्र बेसैनियो उससे पैसा उधार माँगता है ताकि वह बेलमॉण्ट जाकर पोर्शिया से शादी कर सके। एन्टोनियो के पास तुरन्त धन तैयार नहीं है। वह उसे किसी महाजन पर भेजता है और उसकी ओर से धन उधार लेने को कह देता है।

अब नाटक बेलमॉण्ट में पोर्शिया के कमरे में चला जाता है। पोर्शिया के मृत पिता की वसीयत के अनुसार वह नवयुवक जो तीन में से (सोने, चाँदी और सीसे के) एक सही बक्सा चुनेगा, वही पोर्शिया से विवाह करेगा। बहुत से व्यक्ति वहाँ हैं और पोर्शिया कुछ राजकुमार उम्मीदवारों के चरित्र पर टिप्पणी कर रही है। अब दृश्य वेनिस के आम स्थान पर चला जाता है। बेसैनियो शाईलाक से तीन हजार ड्यूकेट्स तीन माह के लिए उधार माँगता है। शाइलॉक इस शर्त पर धन उधार देने को सहमत हो जाता है यदि एण्टोनियो ऐसे रुक्के पर हस्ताक्षर करे जिसमें जुर्माना भी हो। जुर्माना होगा एण्टोनियो के शरीर से एक पौंड मांस, एण्टानियो सहमत हो जाता है और बॉण्ड पर हस्ताक्षर कर देता है।

अब दृश्य पुन: बेलमॉण्ट में पोर्शिया के मकान के एक कमरे में चला जाता है। वहाँ मुख्य तीन उम्मीदवार हैं। जो पोर्शिया से विवाह करना चाहते हैं। मोरक्को का राजकुमार सोने का डिब्बा चुनता है जिसमें उसे एक लाश की खोपड़ी मिलती है। अरागॉन का राजुकमार चाँदी का डिब्बा चुनता है, उसमें उसे एक मूर्ख का चित्र मिलता है। फिर बेसैनियो पहुँचता है और वह सीसे का बक्सा चुनता है, उसमें उसे पोर्शिया का चित्र प्राप्त होता है। इस प्रकार बेसैनियो पोर्शिया से विवाह कर लेता है और ग्रेशियानो का भी नेरिसा से विवाह हो जाता है।

लाँसलॉट शाइलॉक की नौकरी छोड़ देता है और बेसैनियो उसे अपना सेवक नियुक्त कर लेता है। दूसरी और जेसिका जो शाइलॉक की इकलौती पुत्री है, लारेंजो के साथ भाग जाती है और शाइलॉक का काफी सारा धन और गहने अपने साथ ले जाती है। शाइलॉक बेसैनियो की विदाई पार्टी में गया हुआ था और घर की सारी चाबियाँ जेसिका को दे गया था। जेसिका के भाग जाने के समाचार को सुनकर शाइलॉक दुःख से पागल हो गया। शाइलॉक को समाचार मिलता है कि एण्टोनियो के जहाज समुद्र में डूब गए हैं। रुक्के की अदायगी का समय, भी समाप्त हो रहा है। अतः वह एण्टोनियो के विरुद्ध मुकदमा डालने का निश्चय कर लेता है और उसके शरीर से एक पौंड मांस लेने का भी निश्चय कर लेता है।

उसी समय जब बेसैनियो का पोर्शिया के साथ विवाह होना है तभी उसे एण्टोनियो को पत्र मिलता है कि वह परेशानी में है और शाइलॉक उसके शरीर से एक पौंड मांस लेने की जिद पर अड़ा हुआ है। बेसैनियो और ग्रेशियानो काफी धन लेकर तुरन्त वेनिस की ओर चल पड़ते हैं। पोर्शिया एक बड़े वकील बेलारियो से एण्टोनियो का मुकदमा लड़ने की सलाह लेती है। पोर्शिया और नेरिसा वकील के और एक बाबू के कपड़े पहनकर एण्टोनियो को बचाने के लिए कोर्ट में पहुँच जाते हैं। कोई भी तर्क और कोई भी दया की अपील शाइलॉक को प्रभावित नहीं कर सकी। फिर पोर्शिया शाइलॉक को

एण्टोनियो के शरीर से एक पौंड मांस लेने की स्वीकृति दे देती है किन्तु रक्त की एक बूंद भी न बहे और मांस भी कम या ज्यादा न हो। यहूदी अब पलट जाता है और केवल अपना ही धन माँगने लगता है। फिर उसके ऊपर आरोप लगता है कि उसने एक नागरिक के जीवन के विरुद्ध षडयन्त्र रचा है। किन्तु ड्यूक तीन शतौं के साथ कर देता है (1) वह ईसाई बन जाए, (2) वह सुधख़ोरी बन्द कर दे और (3) उसकी सारी सम्पत्ति उसकी मृत्यु के बाद लॉरेंजो और जेसिका को मिलेगी। वह दुःखी मन से शर्तों को स्वीकार कर लेता है। फिर सभी प्रसन्न हो जाते है और खुशियाँ मनाते हैं। एण्टोनियो के तीन जहाजों के सुरक्षित लौट आने का भी समाचार मिलता है। इस प्रकार यहूदी को उसके अत्याचार का सही दण्ड मिल जाता है। बहुत आनन्द के वातावरण में नाटक का अन्त होता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *