Aupcharik Patra in Hindi

Aupcharik Patra in Hindi – औपचारिक पत्र लेखन उदाहरण सहित बताइये।

Aupcharik Patra in Hindi: हेलो स्टूडेंट्स, आज हम इस आर्टिकल में औपचारिक पत्र लेखन, उदाहरण (Aupcharik Patra in Hindi) के बारे में पढ़ेंगे | यह हिंदी व्याकरण का एक महत्वपूर्ण टॉपिक है जिसे हर एक विद्यार्थी को जानना जरूरी है |

Aupcharik Patra in Hindi

आमतौर पर औपचारिक पत्र (Aupcharik Patra) किसी भी सरकारी या प्राइवेट कार्यालयों से जुड़े व्यक्तियों या अधिकारियों को लिखा जाता है।ये व्यक्ति सामान्यतया अपरिचित होते हैं। ऐसे पत्र मुख्यरूप से स्कूल के प्रधानाचार्य , सरकारी विभाग के अधिकारियों , अखबार के संपादकों के नाम  या नगर निगम के मेयर , बिजली या पानी विभाग के अधिकारियों या लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों आदि को लिखे जाते हैं।

इन पत्रों में भाषा बहुत ही सहज और शिष्टतापूर्ण होनी चाहिए।इन पत्रों में सिर्फ काम की बातें या समस्याओं के बारे में ही लिखा जाता है।इस तरह के पत्रों में बहुत ही सीमित शब्दों में सिर्फ समस्याओं को प्रभावशाली तरीके से लिखना आवश्यक होता है।

औपचारिक पत्र (Aupcharik Patra) लेखन का उदाहरण

उदाहरण 1.

स्वास्थ्य खराब होने के कारण 2 दिन के अवकाश की प्रार्थना करते हुए प्रधानाचार्य को पत्र लिखें

परीक्षा भवन

सेवा में,

प्रधानाचार्य ,

ज्ञान ज्योति पब्लिक स्कूल ,

यमुना विहार , दिल्ली

दिनांक : 6 फरवरी 2022

विषय : अवकाश प्राप्ति हेतु पत्र

श्रीमान ,

सविनय निवेदन इस प्रकार है कि मैं आपके विद्यालय में कक्षा 5 का छात्र हूं। महोदय कल शाम से मुझे तेज बुखार और खाँसी हो रही है। और मेरा पूरा बदन दर्द कर रहा हैं। जिस कारण में अगले 2 दिन तक स्कूल में उपस्थित नहीं हो पाऊंगा।अत: मुझे 2 दिन का अवकाश चाहिए।

अतः महोदय से निवेदन है कि आप मुझे दिनांक 10 फरवरी 2022 से 12 फरवरी 2022 तक दो दिन का अवकाश प्रदान करने की कृपा कीजिए ।

धन्यवाद

आपका आज्ञाकारी शिष्य

क.ख.ग.

उदाहरण 2.

कोरोना से पीड़ित अवकाश के लिए अपने बॉस को प्रार्थना पत्र लिखिए

इसे भी पढ़े: संस्कृत मे सन्धि विच्छेद को समझाइये।

श्रीमान,

एक्स प्रो डॉट कॉम,

B-53 पहली मंजिल,

मारथली, बेंगलुरु

विषय: अवकाश के लिए प्रार्थना पत्र।

महोदय,

सविनय निवेदन यह है कि मैं एक्स प्रो डॉट कॉम में आपकी टीम का सदस्य हूं। कल ऑफिस से लौटने के बाद से मुझे कुछ ज्वार और खांसी हो रखी है। आज सुबह जब मैं अस्पताल गया वहां मेरा कोरोना जांच हुआ। जांच करने पर यह पता चला कि मैं कोरोना पॉजिटिव हूं। डॉक्टर ने मुझे क्वॉरेंटाइन होने के लिए कहा है और लोगों के संपर्क से दूर रहने को कहा है। श्रीमान आपको पता है कि कोरोना कितनी खतरनाक बीमारी है।

अतः श्रीमान से निवेदन है कि मुझे 20 दिनों का अवकाश प्रदान करें।

धन्यवाद

आपका आज्ञाकारी

नाम सुरेश प्रसाद

कर्मचारी संख्या- जेएस 02 90258

उदाहरण 3.

बचत खाता चालू करने हेतु बैंक मैनेजर को प्रार्थना पत्र

सेवा में,

श्रीमान शाखा प्रबंधक,

पंजाब नेशनल बैंक,

गोरखपुर, उत्तर प्रदेश

विषय:- बंद खाता चालू करवाने के लिए प्रार्थना पत्र

महोदय,

सविनय निवेदन यह है कि मैं साहिल शर्मा आपके बैंक का खाता धारक हूं और मेरा बैंक अकाउंट नंबर 5462 1100 है और पिछले कुछ महीनों से किसी कारणवश बैंक में लेनदेन न होने की वजह से मेरा खाता बंद हो गया है। लेकिन अब मैं पुणे उसी बंद खाता को फिर से चालू करवाना चाहता हूं। अतः आपसे विनम्र निवेदन है कि मेरे बंद हुए खाता को दोबारा चालू करने की कृपा करें। इसके लिए मैं सदा आपका आभारी रहूंगा।

धन्यवाद

आपका विश्वासी

नाम साहिल शर्मा

अकाउंट नंबर- 5462110

मोबाइल नंबर-967xxxxx

उदाहरण 4.

विद्यालय में नए खेल सामग्री मंगवाने के लिए प्रधानाचार्य को प्रार्थना पत्र लिखिए।

परीक्षा भवन,

सेवा में,

प्रधानाचार्य,

केंद्र विद्यालय

जमालपुर, बिहार

विषय: खेल सामग्री मंगवाने के लिए।

श्रीमान,

सविनय निवेदन यह है कि मैं कुणाल कपूर आपके विद्यालय के कक्षा दसवीं का का छात्र हूं। हर साल की भांति इस साल भी हमारा विद्यालय क्रिकेट खेल के लिए स्टेट लेवल पर चयनित हुआ है। किंतु खेल कूद संबंधी सुविधाओं की कमी की वजह से छात्र के प्रति स्पर्धाओं में रुचि नहीं ले रहे हैं। खेलकूद के लिए हमारे विद्यालय में जो समाज उपलब्ध हैं, वह पुराने हो चुके हैं या टूट-फूट चुके हैं, जिनसे अभ्यास करना मुश्किल हो रहा है।

अतः आपसे विनम्र निवेदन है कि खेलकूद संबंधी नए सामान विद्यालय में उपलब्ध कराएं ताकि विद्यालय के सभी होनहार छात्र पदक जीतकर विद्यालय का नाम रोशन करें। इसके लिए मैं आपका सदा आभारी रहूंगा।

धन्यवाद

आपका विश्वासी छात्र

नाम- कुणाल कपूर

कक्षा- दसवीं

रोल नंबर-2

उदाहरण 5.

पिकनिक पर जाने का आज्ञा मांगते हुए प्रधानाचार्य को प्रार्थना पत्र।

परीक्षा भवन,

सेवा में,

प्रधानाचार्य,

डीएवी स्कूल,

पूरनपुर, नई दिल्ली

विषय: पिकनिक पर जाने के लिए आज्ञा हेतु।

श्रीमान,

सविनय निवेदन है कि मैं मोहन दास आपके विद्यालय में कक्षा दसवीं का छात्र हूं और मैं अपने क्लास का मॉनिटर हूं। मैं क्लास की तरफ से पिकनिक पर ताजमहल आगरा जाने की अनुमति प्रदान करने की कृपा चाहता हूं। क्लास के सभी विद्यार्थी और पिकनिक पर जाने के लिए खाने की सामग्री भी कर लिए हैं। क्लास के सभी छात्र ताजमहल देखने के लिए काफी है, उसमें काफी जिज्ञासा है कि ताजमहल किसने बनवाया है। वहां जाकर वह नई-नई चीजें देखेंगे मुझे ऐसा लगता है कि यह पिकनिक हम सबके लिए बहुत उपयोगी होगा।

अतः आपसे विनम्र प्रार्थना है कि आप हमें पिकनिक पर जाने की आज्ञा प्रदान करें। इसके लिए मैं आपका सदा आभारी रहूंगा।

धन्यवाद

आपका आज्ञाकारी शिष्य

नाम- मोहन दास

कक्षा- दसवीं

उदाहरण 6.

मोहल्ले में गंदगी को साफ कराने हेतु स्वास्थ्य अधिकारी को पत्र लिखें।

परीक्षा भवन,

सेवा में,

मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी,

नगर निगम,

जमालपुर, बिहार

विषय: मोहल्ले में व्याप्त गंदगी को साफ कराने हेतु अधिकारी को प्रार्थना पत्र।

मान्यवर,

सविनय निवेदन यह है कि मैं गोपाल शर्मा नया रामनगर सेक्टर 2-बी जमालपुर का रहने वाला हूं। आपको बताते हुए बहुत दुख हो रहा है कि बीते कुछ दिनों से हमारे मोहल्ले में चारों तरफ मक्खी और मच्छरों का आतंक फैल गया है। इसका प्रमुख कारण यह है कि हमारे मोहल्ले में चारों तरफ पूरा कूड़ा करकट और गंदगी फैल गया है, जिससे हमारे मोहल्ले वासियों का जीना दुर्लभ हो गया है। अगर समय रहते गंदगी को साफ ना किया गया तो कोई नहीं बीमारी जन्म ले लेगी।

अतः आपसे विनम्र निवेदन यह है कि जल्द से जल्द नया राम नगर सेक्टर बी की गंदगी को साफ किया जाए, जिससे मोहल्ले वासियों के सारे परिवारों का जीवन सुलभ हो सके और एक नई बीमारी होने से बच सकें।

धन्यवाद

आपका विश्वासी

नाम- गोपाल शर्मा

पता- नया रामनगर सेक्टर 2- बी

जमालपुर, बिहार

Aupcharik Patra in Hindi Video

Credit: Quality Edu

आर्टिकल में आपने औपचारिक पत्र (Aupcharik Patra) लेखन उदाहरण सहित पढ़ा। हमे उम्मीद है कि ऊपर दी गयी जानकारी आपको आवश्य पसंद आई होगी। इसी तरह की जानकारी अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करे ।

Leave a Comment

Your email address will not be published.