Animals name in Hindi

Animals name in Hindi and English | जानवरो के नाम हिंदी में

Animals name in Hindi: बहुत सारी कोशिकाओं से निर्मित यूकेरियोट्स (जीवित) जीव है जो यौन प्रजनन कर सकते हैं उन्हें जानवर कहा जाता है। प्रकृति के संतुलन को बनाए रखने में जानवर महत्वपूर्ण भूमिका अदा करते हैं। प्राचीन काल से जानवर आर्थिक, धार्मिक, आध्यात्मिक और अन्य तरीकों से भारतीय संस्कृति का एक महत्वपूर्ण घटक है।

जानवरों की मुख्यत:दो प्रजातियां होती हैं भूमि पर रहने वाले जानवर और पानी में रहने वाले जानवर। जो जानवर जमीन और पानी दोनों जगह रह सकते हैं जीव विज्ञान के अनुसार उन्हें उभयचर कहते हैं।

हर जानवर के होने के पीछे कुछ न कुछ कारण या उद्देश्य अवश्य ही होता है। पर्यावरण के लिए जिस तरह मनुष्य जरूरी है उसी तरह जानवर भी जरूरी होते हैं।

जानवर दो प्रकार के होते हैं शाकाहारी और मांसाहारी। शाकाहारी जानवर फल,फूल, पत्ते, घास आदि खाकर अपना जीवन यापन करते हैं जैसे गाय, बकरी, भैंस,खरगोश आदि। कुछ जानवर दूसरे जानवरों को शिकार करके या खाकर अपना जीवन यापन करते हैं उन्हें मांसाहारी जानवर कहते हैं जैसे सिंह, बाघ,भेडिया इत्यादि।

Animals name in Hindi
Animals name in Hindi

इस पोस्ट में हम आपको संसार के सभी जानवरो के नाम ( animals name hindi & English) बताएंगे | इसके साथ हम आपको प्रत्येक जानवर के नाम के साथ साथ पिक्चर भी दिखा रहे है जिससे आपको जानवर के नाम ( Animals name ) के साथ साथ उसे आप याद कर ले और उसे आप कभी भी पहचान सकेंगे | तो आइये निचे दी गयी लिस्ट में सभी जानवरो के नाम हिंदी और इंग्लिश में पढते है |

List of Animals name in Hindi

Animals ImageAnimals Name in HindiAnimals Name in English
dogकुत्ताDog
cat (1)बिल्लीCat
ElephantहाथीElephant
घोड़ाHorse
MonkeyबंदरMonkey
SquirrelगिलहरीSquirrel
Hamsterहम्सटरHamster
RaccoonरैकूनRaccoon
Meerkatदक्षिणी अफ्रीका
का एक छोटा नेवले
जैसा स्तनपायी जंतु
Meerkat
Hippoहिप्पोHippo
Sheepभेड़Sheep
DonkeyगधाDonkey
GoatबकरीGoat
Quokkaक्वोककाQuokka
CheetahचीताCheetah
Slothस्लोथ्सSloth
TurtleकछुआTurtle
BearभालूBear
KoalaकोअलाKoala
PandaपांडाPanda
DeerहिरनDeer
Giraffeजिराफ़Giraffe
Wolfभेड़ियाWolf
SnakeसाँपSnake
CowगायCow
TigerबाघTiger
JaguarजगुआरJaguar
Spiderमकड़ीSpider
CobraनागCobra
ButterflyतितलीButterfly
Bisonजंगली सांडBison
BuffaloभैंसBuffalo
CamelऊंटCamel
Foxलोमड़ीFox
Hedgehogकांटेदार जंगली चूहाHedgehog
Hyenaलकड़बग्धाHyena
JackalसियारJackal
KangarooकंगारूKangaroo
Minkएक प्रकार का ऊदबिलावMink
MoleछछूँदरMole
Mooseएक प्रकार का हिरणMoose
NilgaiनीलगाउNilgai
OkapiओकापीOkapi
Oryxओरिक्सOryx
OxबैलOx
PenguinपेंगुइनPenguin
PigसुअरPig
Polar bearध्रुवीय भालूPolar bear
PorcupineसाहीPorcupine
Prairie dogप्रेयरी डागPrairie dog
RabbitखरगोशRabbit
RatचूहाRat
ReindeerहिरनReindeer
SakiसाकीSaki
TopiटोपीTopi
Vicunaविकग्नाVicuna
Walrusदरियाई गाय वा घोड़ाWalrus
WeaselनेवलाWeasel
Whaleव्हेलWhale
YakयाकYak
Zebraज़ेब्राZebra
Gorillaगोरिल्लाGorilla
RhinocerosगैंडाRhinoceros
LionशेरLion
Capybaraकैप्यबाराCapybara
Crocodileमगरमच्छCrocodile
LlamaलामाLlama
Servalसर्वलServal
Sharkशार्कShark
SiamangसियामंगSiamang
TamarinटामारिनTamarin
TapirटपीरTapir

मनुष्य और जानवर मे संबंध:

मनुष्य और जानवरों के बीच मनोवैज्ञानिक संबंध पाए जाते हैं। मनुष्य के सामाजिक, व्यवसायिक और व्यक्तिगत जीवन में जानवर अहम रोल अदा करते हैं। जानवर और मनुष्य के बीच साथी, अच्छा दोस्त, रक्षक आदि रिश्ते बनते आ रहे हैं।मनुष्य को अपने जीवन में मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए भी जानवरों की आवश्यकता होती है।

जानवर के साथ समय बिताने से शारीरिक फिटनेस में मदद करते हैं, मूड को अच्छा (पॉजिटिव) करते हैं, अवसाद और चिंता को दूर करने में सहायक,अकेलेपन को दूर करने में सहायक होते हैं। पालतू जानवर अपने मालिक या इंसान को बिना शर्त प्यार करते हैं जिससे उदासी या चिंता के बादल हट जाते हैं और जिंदगी जीने के के प्रति नजरिया बदल जाता है।

जब भी इंसान और जानवर के बीच संपर्क होता है तो रिश्ते के विकास का मौका मिलता है। मनुष्य जानवर को परिवार के रूप में देखते हैं क्योंकि उनका मानना है जानवरों में भावनाएं होती है। इसलिए वे खुशी, दुख ,दर्द व्यक्त करते हैं।हमें भी जानवरों के साथ प्यार व हमदर्दी से पेश आना चाहिए।

आइए आज इस आर्टिकल में हम 10 जानवरों के नाम हिंदी और इंग्लिश में जानना सीखेंगे।
दस जानवरो के नाम इस प्रकार है-

10 Animals Name in Hindi

1-शेर -Lion
2-बाघ-Tiger
3-भालू – Bear
4-हाथी- Elephant
5-हिरण- Deer
6-कुत्ता- Dog
7- बंदर- Monkey
8-लोमडी-Fox
9- ऊँट – Camel
10- घोडा -Horse

इन जानवरो के बारे मे थोडा विस्तार पूर्वक जानते है।

1-शेर

शेर को इंग्लिश में Lion (लॉयन) कहते हैं। शेर को जंगल का राजा कहते हैं। शेर एक पूर्ण रुप से मांसाहारी जानवर है। शेर अपने से ज्यादा ताकतवर जानवरों को भी आसानी से मार सकता है। इसलिए जंगल के सभी जानवर शेर से डरते हैं और इससे दूर रहना पसंद करते हैं। शेर इस धरती पर सबसे ताकतवर और बहादुर जानवरों में से एक है।

Lion

शेर के दहाड़ने की आवाज को हम एक मील दूर तक भी सुन सकते हैं। नर शेर के गर्दन पर बालों का एक कवच होता है जिससे वह दुश्मनों से बचे रहते हैं और वह दिखने में भी बहुत भारी भरकम लगते हैं। मादा शेरनी के गर्दन पर बालों का ऐसा कवच नहीं होता। वह जंगल में या समूह में रहते हैं। शेरों के समूह को ‘Pride’ कहते हैं।उनके समूह में 5 से 30 शेर रहते है।

एक नर शेर का वजन तकरीबन डेढ़ सौ किलोग्राम तक होता है। शेर रात के वक्त शिकार करते हैं। वह 20 घंटों तक सोते हैं और बाकी समय में अपना अन्य कार्य करते हैं। पानी के बिना एक शेर 4 दिनों तक रह सकता है पर भोजन के बिना एक दिन भी नहीं रह सकता है।शेर हमेशा दूसरो द्वारा किए गए शिकार को खाना पसंद करते है।भारत मे गुजरात के गिर जंगलों में शेरो की भारी संख्या है।

Also Read: पक्षियों के नाम संस्कृत में

2- बाघ

बाघ को इंग्लिश में Tiger (टाइगर) कहते हैं। बाघ एक जंगली जानवर है और भारत के राष्ट्रीय पशु के रूप में जाना जाता है। बाघ, बिल्ली के परिवार के अंतर्गत आता है और यहां परिवार में सबसे बड़े जानवर के रूप में जाना जाता है। बाघ के शरीर पर सफेद, नारंगी और नीले कलर की धारियां होती है पर बाघ का निचला भाग सफेद रंग का ही होता है।

Tiger

बाघ एक चालाक,चपल और निर्दयी पशु होता है जो लंबी छलांग लगाकर अपने शिकार को पकड़ लेता है। बाघ जंगली सुअर, गाय, हिरण, खरगोश और कभी-कभी मनुष्यों का भी शिकार कर लेता है। अंदाजन दुनिया के कुल बाघो का आधा भाग भारत में रहता है। पर अभी कुछ समय से बाघों की संख्या में कमी आई है।

भारत सरकार द्वारा 1973 में ‘प्रोजेक्ट टाइगर’ द्वारा बाघों की सुरक्षितता तथा एवं संवर्धन के लिए मुहिम चलाई गई। बाघो की कुल 8 प्रजातियां होती है और भारतीय प्रजाति को ‘रॉयल बंगाल टाइगर’ कहा जाता है।बाघ रात में शिकार करता है और दिन में सोता है। बाघ भी एक स्तनधारी जानवर है क्योंकि वह भी इंसानों की तरह बच्चों को जन्म देता है। बाघ का शरीर 7 फुट से 10 फुट तक लंबा रहता है। बाघ वनों में, जंगल में और घास के मैदानों में अकेला रहना पसंद करता है।

3-भालू

भालू को इंग्लिश मे Bear (बीयर) कहते है। भालू एक जंगली जानवर है। भालू दो प्रकार के होते हैं, एक जंगलों में रहते हैं और दूसरे ध्रुवीय भालू। जंगलों में रहने वाले भालू का कलर भूरा तथा काला होता है जबकि ध्रुवीय भालू सफेद कलर के होते हैं। भालू के चार पैर, दो कान, एक नाक तथा एक छोटी पूंछ होती है। भालू अपने आगे के दो पैरों का इस्तेमाल हाथों की तरह करता है।

Bear

जंगलों में पाए जाने वाले भालू मांस और घास दोनों खाते हैं जबकि ध्रुवीय भालू पूर्ण रुप से मांसाहारी होते हैं। भालू अधिकतर अकेले रहना पसंद करते हैं। भालू पेड़ों पर आसानी से चढ़ सकते हैं। भालू की औसत उम्र लगभग 35 वर्ष से 40 वर्ष तक की होती है।भालू झूंड मे नही बल्कि अकेले रहना पसंद करते है।हमने बचपन मे सर्कस या सड़क पर मनोरंजन के लिए मदारी द्वारा बताए गए खेल मे भालू को देखा।काले रंग और पूरे शरीर पर बालो के कारण भालू कितना डरावना लगता है…याद है ना…

4- हाथी

हाथी को इंग्लिश मे Elephant (एलिफेंट) कहते है। हाथी एक भीमकाय और विशाल जानवर है। हाथी के चार पैर, दो कान,दो आँख, दो बड़े दांत,एक लंबी सूढं और एक छोटी सी पूंछ होती है।हाथी के खाने के दांत मुँह मे होते है और बाहर के दांत दिखाने के होते है।ये बाहरी बहुत बेशकीमती होते है।इन दांतो की तस्करी करना दंडनीय अपराध है।

Elephant

हाथी अपनी सूंड से भारी भरकम सामान भी आसानी से उठा लेता है,इतना ही नही बड़े से बड़ा पेड भी उखाड लेता है।हाथी खड़े-खड़े सोता है।हाथी का मनपसंद भोजन केला और गन्ना है। पुराने जमाने में राजा महाराजा हाथी की सवारी करते थे,युद्ध में भी हाथी को ले जाते थे। हाथी शाकाहारी जानवर है और अक्सर झुंड में रहा करते हैं। हाथी को भगवान श्री गणेश का स्वरूप भी माना जाता है।

5-हिरण

हिरण को इंग्लिश में Deer (डियर)कहते हैं। हिरण जंगल में रहने वाला एक शाकाहारी जानवर है। हिरण के चार पैर, दो आंख, दो कान, दो सिंग और एक पूंछ होती है।हिरण हरी पत्तिया, घास,जड़ी बूटी इत्यादि खाकर अपना पेट भरते है।हिरण के बारे मे अनोखी बात है शिशु हिरण अपने जन्म के दो घंटे बाद चलना सीखता है।कोई हिरण का शिकार उनकी चमडी और मांस के लिए करता है।

Deer

इसकी बहुत ज्यादा मार्केट वैल्यू है। हिरण की सबसे तेज रफ्तार है,वह 60 किलोमीटर प्रति घंटा से 80 किलोमीटर प्रति घंटे तक चल सकता है। जंगली जानवर जैसे भेड़िया,शेर ,बाघ आदि हिरण को खाते है। हिरण बहुत ही बुद्धिमान एवं चपल जानवर है।सुनने की क्षमता बहुत अधिक होने से दूर से ही हमले या हमलावर को पहचान लेता है।

6- कुत्ता

कुत्ते को इंग्लिश में Dog (डॉग) कहते हैं। कुत्ता एक पालतू और वफादार जानवर है। इसी कारण इंसानों का अच्छा दोस्त है। आमतौर पर कुत्ते सफेद, काले और भूरे रंग के होते हैं। सुनने व सूंघने की क्षमता बहुत ज्यादा होती है इसलिए पुलिस कर्मी भी कुत्ते की मदत लेते हैं। मादा कुत्तिया एक बार में सात से आठ बच्चों को जन्म देती है और उन्हें दूध पिलाती है।

dog

कुत्ते के बच्चे को पप्पी कहते हैं।कुत्ते के साथ खेलने से तनाव दूर (stress buster) होता है।कुत्ता रोटी,मांस व आजकल मार्केट मे डाॅग फूड भी उपलब्ध है। कुत्ते अपने मालिक के प्रति ढेर सारा स्नेह जताते है। लोग कुत्ता पाल कर अपना शौक पूरा करते हैं, उसके लिए डॉग फूड, गले का पट्टा,शैंपू, कपड़े, टोपी और जूते भी खरीदते है।

7-बंदर

बंदर को इंग्लिश में Monkey (मंकी)कहते हैं। बंदरों को हमारा पूर्वज भी माना जाता है। दुनिया के हर कोने में बंदर पाए जाते हैं और बंदर कई प्रकार के होते हैं। लाल मुंह वाले बंदर छोटे होते हैं। काले मुंह और लंबी पूछ वाले बंदर को लंगूर कहते हैं।

Monkey

बंदर एक जंगली जानवर है। यह काले, भूरे एवं स्लेटी रंग के होते हैं। बंदर एक बहुत ही बुद्धिमानी जीव है।वह आगे के पैरों से हाथों का काम भी कर लेते हैं।बंदर बहुत ही फुर्तीले होते हैं और पूरा समय एक पेड़ से दूसरे पेड़ पर छलांग लगाते रहते हैं। बंदर हमेशा झुंड में रहते हैं। हर साल 14 दिसंबर को विश्व बंदर दिवस रूप में मनाया जाता है।

बंदर पेड़ पर, घने जंगलों में, मैदानों में एवं घर की छतों पर भी देखे जा सकते हैं। बंदर नकल करने में माहिर होते हैं, इंसानों की तरह हूबहू नकल करते हैं। हम सर्कस में भी बंदर के कलाकारी वाले गुण देख सकते हैं। बंदर को केला खाना बहुत पसंद है। मदारी बंदर को नचाता है व उसका खेल देखकर बच्चों को बहुत मजा आता है।

8-लोमडी

लोमड़ी को इंग्लिश में Fox(फाक्स) कहते हैं। लोमड़ी एक स्तनधारी जानवर है।लोमड़ी के चार पैर, दो कान, दो आंखें और एक पूंछ होती है। लोमड़ी बहुत ही चालाक होती है। हमने बचपन में चालाक लोमड़ी जैसी कई कहानियां सुनी है। लोमड़ी की उम्र 2 साल से 5 साल तक होती है। दुनिया में सब जगह लोमडी पाई जाती है। लोमड़ी अपना शिकार नुकीले दांत और नाखूनो से करती है।

Fox

लोमड़ी बहुत सारी आवाजें निकाल सकती है और वह ज्यादातर रात को अपना शिकार करती है। लोमड़ी अल्जीरिया देश का राष्ट्रीय पशु है।लोमडी ज्यादातर जंगल मे, झाड़ियों में और रेगिस्तानी इलाकों में रहती हैं। कुत्तों की तरह ही लोमड़ी की भी सुनने और सुनने की क्षमता तेज होती है। दुनिया भर में लोमड़ी की लगभग 12 प्रजातियां पाई जाती है। कई लोग लोमड़ीओ के फर और चमड़ी के लिए लोमड़ी का शिकार करते हैं। लोमड़ीओं की संख्या भी दिन-ब-दिन कम होती जा रही है। इनके संरक्षण के लिए भी प्रयास करना चाहिए।

9-ऊँट

एक को इंग्लिश में Camel (कैमल) कहते हैं। ऊँट एक चौपाया जानवर है। यह रेगिस्तान में पाया जाता है। बिना पानी के कई दिनों तक जीवित रह सकता है इसलिए इसे रेगिस्तान का जहाज भी कहते हैं। ऊंट के पेट में एक विशेष थैली होती है जो अपने अंदर पानी और भोजन का संग्रहण कर लेती है। ऊँट की गर्दन बहुत ऊंची होती है और पीठ पर उभार होता है जिसे कूबड़ कहते है।

Camel

ऊँट एक शाकाहारी जानवर है जो हरी पत्तियां, फूल,फल,कांटेदार झाड़ियां आदि खाता है। ऊंट की पाँवो की बनावट इस प्रकार होती है कि वह रेतीले इलाकों में लंबे समय तक चल सकता है। ऊँट गर्म और सूखे इलाकों में रहना पसंद करते हैं। ऊंट की सवारी करने मे भी बहुत आनंद आता है। चमड़ी की मोटाई और अंदर पानी का संग्रहण इसकी वजह से ऊंट को पसीना बहुत कम होता है।

ऊँट एक दिन में लगभग 35 लीटर पानी पीता है। ऊंट का दूध बहुत ही पौष्टिक होता है। ऊंट रेगिस्तान में बहुत दूर तक आसानी से देख सकता है। ऊंट की याददाश्त भी कमाल की होती है एक बार जिस रास्ते को देख ले उसे कभी नहीं भूलते। ऊंटनी का दूध स्वाद में अच्छा होता है व इसमें मिनरल्स, विटामिंस आदि भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं।ऊंटनी एक दिन में लगभग 6 से 8 लीटर तक दूध देती है। रेगिस्तान में सामान को एक जगह से दूसरी जगह ले जाने के लिए ऊंट का प्रयोग किया जाता है।

10- घोड़ा

घोड़ा को इंग्लिश में Horse (हार्स) कहते हैं। घोड़ा एक शाकाहारी पशु है।यह घास,भूसा,चारा, अनाज और चना खाता है। चना घोड़े की ताकत का मुख्य स्रोत है।

घोड़ा बोझ ढोने ,सवारी करने और गाड़ी खींचने के काम आता है। हमने भी बचपन में घोड़ा गाड़ी की सवारी का आनंद उठाया है। घोड़ा अपने मालिक के प्रति बहुत ही वफादार होता है। पुराने जमाने में घोड़े पर बैठकर युद्ध लड़ा जाता था और आने जाने के लिए उपयोग किया जाता था। महाराणा प्रताप का चेतक नाम का घोड़ा आज भी जग प्रसिद्ध है। घोड़े की लंबाई 5 से 6 फुट तक होती है।

Horse

घोड़ा अस्तबल में रहता है और खड़े-खड़े ही सोता है। जब घोड़े को भूख लगती है तो वह हिनहिनाना आरंभ कर देता है। आज भी कई जगह शादियों में घोड़े का उपयोग किया जाता है।दूल्हा घोड़े पर बैठकर ही दुल्हन लेने के लिए जाते है। पोलो का खेल घोड़े पर बैठकर ही खेला जाता है। शहरों में घोड़ों की रेस होती है। जिसमें लाखों-करोड़ों रुपए के दाव लगते हैं। और जो घोडा सबसे ज्यादा तेज दौड़ता है वह विजयी घोषित होता है। आज के जमाने में घोड़ा पालना भी एक खर्चीला कार्य है पर जो घोड़े के शौकीन होते हैं वह पालते हैं।

हमने आज इस आर्टिकल में जानवरों के नाम ( Animals name in hindi) व इनके बारे मे विस्तृत रूप में जाना और समझा।उम्मीद है आप सभी को यह आर्टिकल बहुत अच्छा लगा और आपने इसे अंत तक पढ़ा। इस जानकारी को आप अपने परिवार और दोस्तों के साथ अवश्य साझा करें।आप इस आर्टिकल को फेसबुक और व्हाट्सएप पर भी शेयर कर सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.