Aalu Ka Chalu Beta Poem

आलू कचालू बेटा कविता | Aalu Ka Chalu Beta Poem

Aalu Ka Chalu Beta Poem: हेलो बच्चो इस पोस्ट में हम आपको सब बच्चो की पसंद की कविता आलू कचालू बेटा को पढ़ेंगे और वीडियो भी देखेंगे | Aaloo Kachaloo Beta Kahan Gaye कविता इतनी आसान है कि बच्चे इसे आसानी से ही याद कर लेते है |

Aalu Ka Chalu Beta Poem

Aalu Ka Chalu Beta Lyrics in Hindi

आलू कचालू बेटा कहाँ गए थे,
बन्दर की झोपडी में सो रहे थे,
बन्दर ने लात मारी रो रहे थे,
मम्मी ने प्यार किया हंस रहे थे,
पापा ने पैसे दिए नाच रहे थे,
भैया ने लड्डू दिए खा रहे थे!!!

Aalu Ka Chalu Beta Lyrics in English font

Aaloo Kachaloo Beta Kahan Gaye The,
Baigan Ki Tokari Mein So Rahe The,
Baigan Ne Laat Maari Ro Rahe The,
Mummy Ne Pyaar Kiya Hans Rahe The,
Papa Ne Paise Diye Naach Rahe The,
Bhaiya Ne Laddoo Diye Kha Rahe The

Aalu Ka Chalu Beta Poem Video

Source: Fun For Kids TV – Hindi Rhymes

इसे भी पढ़े: Fruits Name in Hindi and English

Leave a Comment

Your email address will not be published.