मेरा भारत महान पर निबंध

मेरा भारत महान पर निबंध लिखिए

भारत जिसे हिन्दुस्तान नाम से भी जाना जाता है, एक महान देश है। इस देश के नाम के पीछे कई मत हैं। उनमें से एक मत के अनुसार सिंधु घाटी सभ्यता की शुरूआत इस देश में होने के कारण इसका नाम हिन्दुस्तान पड़ा है। भारत भूमि को आर्यों की जन्मभूमि भी कहा जाता है। इसी कारण यहाँ आर्य समाज की भी स्थापना हुई।

मेरा भारत महान पर निबंध ( 100 Words )

मेरे देश का नाम भारत है यह वह पावन भूमि है जहां पर मेरा जन्म हुआ है यह संसार का सबसे अच्छा देश है यहां पर बड़े-बड़े महाज्ञानी ऋषियों, महापुरुषों, वीरो का जन्म हुआ है.

यहां पर सब लोग मिल जुल कर रहते है. मेरी भारत देश ने हर धर्म, भाषा और संस्कृति को अपनाया है. मेरा भारत देश कश्मीर से कन्याकुमारी तक एक है यहां पर गंगा, यमुना, ब्रह्मपुत्र और कावेरी जैसी पवित्र नदियां बहती है.

मेरा भारत देश बहुत विशाल देश है यहां पर अलग-अलग संस्कृतियों और भाषाएं बोली जाती है फिर भी यहां के लोग खुशी खुशी एक दूसरे के साथ रहते है. अंत में मैं यही कहना चाहूंगा कि भारत देश सही मायनों में एक महान देश है.

मेरा भारत महान पर निबंध ( 250 Words )

भारत दुनिया की सबसे बड़े देशों में से एक है, हमारे देश में मिट्टी को माता के समान पूजा जाता है. भारत में ही सबसे पहली भाषा संस्कृत का उद्गम हुआ था इसी भाषा से मिलकर अन्य सभी भाषाएं बनी है.

यहां पर अनेक प्रकार की विविधता पाई जाती है जैसे प्रत्येक राज्य में अलग भाषा का और संस्कृति का रंग देखने को मिलता है यहां पर हिंदू, सिख, इसाई, मुस्लिम, जैन और बौद्ध धर्मो के लोग रहते है.

यहां पर प्रत्येक राज्य में लोग अलग-अलग प्रकार का भोजन करते है और उनकी वेशभूषा भी अलग-अलग होती है यहां तक कि प्रकृति भी भारत में सभी रंग दिखलाती है.

भारत की सभ्यता हजारों वर्ष पुरानी है यहां पर अनेक बड़े ऋषि-मुनियों, योगियों, महापुरुषों, वीरो और शहीदों ने जन्म लिया है जिससे यह भूमि और भी पावन हो गई है.

यह वही भूमि है जहां पर अनेक ईश्वर और संतों ने श्री राम, श्री कृष्ण, बुद्ध, महावीर, कबीर, तुलसीदास ने जन्म लिया है.

यह दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है यहां पर जनता को अपना नेता चुनने का हक है इसीलिए यह देश आज इतनी प्रगति कर रहा है.

मेरे भारत देश का राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा है जिसमें पहला रंग नारंगी, दूसरा रंग सफेद और तीसरा रंग हरा है जो कि इस देश की संस्कृति और विविधता को प्रदर्शित करता है. हमारे देश का राष्ट्रीय त्योहार 15 अगस्त को 26 जनवरी को मनाया जाता है.

इतनी सब विविधताओं और अनेकताओं के होते हुए भी आज भी हमारा देश एक है यहां पर किसी प्रकार का भेदभाव नहीं होता इसीलिए यह भारत देश महान है.

मेरा भारत महान पर निबंध ( 500 Words )

मेरे देश का नाम भारत है लेकिन इसको कई नामों से पुकारा जाता है हिंद, हिंदुस्तान, इंडिया मेरे देश के नाम अनेक हैं लेकिन इतना बड़ा देश होने के बावजूद भी यहां के नागरिक एक दूसरे के साथ मिलजुल कर रहते है.

किसी एक व्यक्ति पर अगर कोई विपदा आ जाती है तो सभी लोग उसकी सहायता के लिए तत्पर रहते है ऐसा मेरा देश है. हमारे देश की कण-कण में प्रेम भाव बसता है दूसरे देश के लोग हमारे देश की एकता का मिसाल देते है.

यह मेरा सुंदर देश है जहां पर सुबह कोयल की मधुर आवाज, चिड़िया की ची-ची तो मन मोह लेती है मोर का सुनहरा नाच देखने को मिलता है, सिंह की दहाड़ और प्रकृति की सुंदरता सभी को आकर्षित करती है.

हमारा देश सच में महान है क्योंकि कई सदियों तक विदेशी ताकतों के गुलाम रहने के बावजूद आज भी यहां पर कुछ अधिक बदलाव नहीं आया है आज भी मिट्टी से वही सौंधी खुशबू आती है, किसान खेतों में मेहनत करते है, मिलजुलकर त्यौहार मनाते है पूरा देश एकजुट होकर प्रेम भाव से रहता है.

ऐसी विविधता और एकता सिर्फ मेरे भारत देश में ही देखने को मिल सकती है इसीलिए विदेशी लोग हमारी संस्कृति को जानने और पहचानने आते रहते है.

मैं भाग्यशाली हूं कि मेरा जन्म ऐसी पावन भूमि पर हुआ है जहां पर वीरों ने बलिदान दिया है, भगवान श्रीराम ने जन्म लिया है, गंगा, यमुना, कावेरी, ब्रह्मपुत्र जैसी पवित्र नदियां बहती है, नारी को सम्मान दिया जाता है और भारत मां की भूमि को मां के समान मानकर पूजा जाता है.

हमारी भारत माता के शीश पर हिमालय मुकुट के समान सफेद बर्फ की चादर ओढ़े हुए देश की शोभा बढ़ाता है.
यहां की अरावली पर्वतमाला जिसका विदेशों में भी गुणगान है दुनिया के सात अजूबों में से एक अजूबा ताजमहल हमारे देश में ही है जो कि हमारे देश की शान बढ़ाता है.

मेरे भारत देश की राष्ट्रीय भाषा हिंदी है जिसको अब विदेशों में भी पढ़ा जाने लगा है इस देश में भगत सिंह, सुखदेव चंद्रशेखर आजाद, अशफ़ाक़ुल्लाह ख़ाँ, राजगुरु जैसे कई क्रांतिकारी हुए हैं जिन्होंने हमारे देश को आजादी दिलाई है आज भी उनके उसूलों की मिसाल दी जाती है.

महाराणा प्रताप, रानी लक्ष्मी बाई, छत्रपति शिवाजी, गांधीजी, डॉ बाबासाहेब आंबेडकर, डॉ अब्दुल कलाम, चाणक्य जैसे कई महान व्यक्तियों ने इस देश को नई दिशा दी है.

मेरा भारत देश विश्व में जनसंख्या की दर से दूसरे स्थान पर है और यह सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है जहां पर सभी को बराबर अधिकार मिलता है. यहां पर अगर कोई गलत कार्य करता है तो उसके लिए न्यायिक व्यवस्था है जो कि बहुत अच्छी व्यवस्था है.

मुझे गर्व है कि मैं एक ऐसे देश में रहता हूं जहां का इतिहास बहुत बड़ा है और यहां पर कई पराक्रमी व्यक्तियों ने जन्म लिया है यहां की प्रकृति भी बहुत विशाल और सुंदर है यहां पर हर नागरिक को अपनी बात कहने का हक है जो कि एक बहुत बड़ी बात है मेरा भारत संसार के सभी देशों में सबसे महान देश है.

मेरा भारत महान पर निबंध ( 1000 Words )

मैं भारत का वासी हूं मेरा भारत महान है यह तप, रण, शिक्षा, बलिदानों, वीरों, महापुरुषों, ऋषि मुनियों, ज्ञानियों, शौर्य, विश्वास, अनेकता में एकता की भूमि है मैं इसे नतमस्तक होकर प्रणाम करता हूं.

यहां भूमि को मिट्टी के समान नहीं मां के समान देखा जाता है और पूजा जाता है. भारत की संस्कृति कई हजारों वर्ष पुरानी है कोई देश केवल उसके भू-भाग से नहीं बनता, बल्कि वहां पर रहने वाले लोगों से बनता है उनके विचारों और कार्यों से बनता है.

मेरा भारत देश ऐसा है जिसकी भूमि पर ईश्वर भी जन्म लेने के लिए लालायित रहता है यह वही भूमि है जहां पर श्री राम और श्री कृष्ण ने जन्म लिया है यह वही भूमि है जहां पर विश्व प्रसिद्ध महाभारत का युद्ध हुआ है.

भारत पुरातन काल में लगभग 500 ईसा पूर्व के दौरान बहुत समृद्ध देश था यहां पर किसी प्रकार की कोई कमी नहीं थी लेकिन विदेशी लोगों ने इसे गुलाम बना लिया और इसका अनमोल खजाना लूटकर ले गए लेकिन फिर भी आज भारत विकासशील देशों की श्रेणी में आता है.

भारत को अंग्रेजों की 200 साल की गुलामी के बाद आजादी मिली थी जिसको हम 15 अगस्त और 26 जनवरी को राष्ट्रीय त्योहार के रूप में मनाते है. मेरे भारत देश का राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा है जो कि अपने आप में समूचे भारत का दर्शन करवाता है.

प्रकृति ने भारत को फूलों की तरह सहेजा जिसके कारण आज यहां के रहने वाले वासी फल फूल रहे है. भारत के शिखर पर ताल के समान हिमालय सफेद बर्फ की चादर ओढ़े हुए शीना तान कर खड़ा हुआ है.

यह देखने में बहुत ही सुंदर है यहीं से गंगा, यमुना, ब्रह्मपुत्र, नर्मदा, ताप्ती, रावी जैसी पवित्र नदियां निकलती है जो कि भारत के समूचे भू-भाग को सिंचित करती है प्रकृति को हरा-भरा करती है और किसानों की झोली खुशियों से भर देती है.

यहां पर पर्वत मालाओं की अनेकों श्रंखला में मौजूद है जिनमें अरावली पर्वत माला बहुत प्रसिद्ध है यहां पर जड़ी बूटियों और खनिजों का भंडार है यह पर्वत माला राजस्थान के रेगिस्तान के विस्तार को भी रोकती है, मानसून के दौरान यह पर्वत श्रंखला बहुत हरी भरी और सुंदर दिखाई देती है.

भारत को महान बनाने में अनेकों महापुरुषों, वीरो और ज्ञानियों का हाथ है भारत की इस भूमि पर तुलसीदास कबीर दास, कालीदास जैसे कई महान संतों ने जन्म लिया है जिनके ज्ञान के प्रकाश से आज पूरा भारत उज्जवलीत है.

महावीर बुद्ध, गौतम, विवेकानंद और गांधी जी जैसे महापुरुष हुए है जिन्होंने भारत की तरक्की में चार चांद लगा दिए और समूचे विश्व में भारत को एक आदर का स्थान दिलाया है. मेरे महान भारत की भूमि ने आर्यभट्ट, रामानुजम, अब्दुल कलाम जैसे महान वैज्ञानिक दिए है जिनकी प्रतिभा का लोहा आज पूरा विश्व मानता है.

भारत वीरों की भूमि रही है इसलिए यहां पर महाराणा प्रताप, पृथ्वीराज चौहान, छत्रपति शिवाजी महाराज, भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद जैसे वीरों ने भी जन्म लिया है जिन्होंने हमारे देश को विदेशी ताकतों से बचाया है और अंत समय तक इसकी रक्षा की है.

भारत एक ऐसा स्थान है जहां पर विश्व की पौराणिक संस्कृतियों में से एक हड़प्पा और मोहनजोदड़ो की संस्कृति पाई जाती है वैसे तो हमारा पूरा देश कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक अनेकों वस्तुओं के लिए महसूर है लेकिन इनमें से कुछ हमें विश्व में एक अलग पहचान दिलाते है

जो कि इस प्रकार है – ताजमहल, लाल किला, खुजराहो, अजंता व एलोरा की गुफाएं, नीलगिरी राजस्थान की हवेलियां, कश्मीर नैनीताल शिमला मनाली लेह लद्दाख यह सभी हमारे देश की अनमोल धरोहर है.

भारत में अनेक राज्य है और इन राज्यों में रहने वाले लोगों की भाषा, वेशभूषा, खानपान, संस्कृति एक दूसरे से बिल्कुल भिन्न है फिर भी यहां पर लोग एक दूसरे के साथ हंसी खुशी और प्रेम भाव के साथ रहते है यह दुनिया में और कहीं देखने को नहीं मिलता है.

मेरे महान देश में सभी धर्मों चाहे वह हिंदू हो, सिख, मुस्लिम, इसाई और जैन धर्म हो सभी को मानने वाले लोग यहां पर रहते है यह संभव नहीं है लेकिन फिर भी भारत की भूमि ने सभी को स्वीकार किया है और असंभव को भी संभव बनाया है. इसीलिए भारत को धर्मनिरपेक्ष देश भी कहा जाता है

भारत देश की भूमि बहुत उपजाऊ है इसलिए यहां पर कपास, गन्ना, गेहूं, बाजरा, दाल, चावल, सरसों, जुट, अनाज और फल, फूल, सब्जियां सभी भरपूर मात्रा में उपजती है जो कि हमारे देश के लोगों के साथ साथ अन्य देशों के लोगों का भी पेट भरती है.

हमारे देश में कुल 29 राज्य है जिनमें से सात केंद्र शासित प्रदेश है हमारे देश की राष्ट्रभाषा हिंदी है लेकिन यहां पर हिंदी के अलावा उर्दू, इंग्लिश, बांग्ला, संस्कृत, पंजाबी, राजस्थानी, तेलुगू इत्यादि भाषा भी प्रमुख रूप से बोली जाती है.

हमारे देश को समर्पित राष्ट्रगीत वंदे मातरम और राष्ट्रीय गान जन गण मन प्रत्येक विद्यालय में गाया जाता है.
वर्तमान में प्रत्येक देशवासी भारत को अग्रणी देश बनाने में मदद कर रहा है यहां पर विभिन्न प्रकार की योजनाओं के माध्यम से देश में व्याप्त कठिनाइयों को कम किया जा रहा है.

आज हमारा देश विश्व में एक अलग और अनोखी पहचान रखता है जिसके कारण यह आने वाले सालों में विश्व का सबसे बड़ा बाजार होगा इसलिए सभी विकसित देश आज हमारे देश में व्यापार करना चाहते है यह हमारे लिए बहुत हर्ष का विषय है कि जो देश कई वर्षों तक गुलाम रहा वो अग्रणी देशों की सूची में आता है.

मुझे गर्व है कि मैं ऐसे देश में पैदा हुआ जहां पर मुझे अच्छी शिक्षा, अच्छा वातावरण और अच्छी संस्कृति मिली है
साथी ही हमारे देश की रक्षा करने के लिए दुनिया की तीसरी सबसे शक्तिशाली सेना है जो की हमारे देश सुरक्षा प्रदान करती है.

बस अब मैं सभी से यह निवेदन करना चाहूंगा कि हमें विरासत में इतना अच्छा देश प्रकृति, धरोहर और संस्कृति मिली है हमें इसे सहेज कर आगे बढ़ाना है क्योंकि भारत देश ही हमारी पहचान है और इसकी प्रकृति, धरोहर और संस्कृति इस में चार चांद लगाती है.

Leave a Comment

Your email address will not be published.