ऑक्साइड की परिभाषा क्या है | उदाहरण | प्रकार

ऑक्साइड की परिभाषा क्या है | उदाहरण | प्रकार

ऑक्साइड किसे कहते है :

किसी तत्व की ऑक्सीजन से क्रिया करने पर द्वि अंगीय योगिक बनते हैं इन्हें ऑक्साइड कहते हैं|

यह दो प्रकार के होते हैं|

1.सामान्य ऑक्साइड :

यह संयोजकता के नियमों का पालन करते हैं जैसे : CaO , MgO , Na2O , FeO , Fe2O3 ,PbO , PbO2 ,Al2O3आदि|

सामान्य ऑक्साइड चार प्रकार के होते हैं |

i-अम्लीय ऑक्साइड (Acidic oxide) :
वह ऑक्साइड जो जल से क्रिया करके अम्ल बनाते हैं उन्हें अम्लीय ऑक्साइड कहते हैं प्राय: अधातु के ऑक्साइड अम्लीय प्रकृति के होते हैं उदाहरण : CO2 , SO2 , N2O5 , Mn2O7 , CrO3 आदि
CO2 + H2O → H2CO3
SO2 + H2O → H2SO3
P2O5 + 3H2O → 2H3PO4
N2O5 + H2O → 2HNO3
SO3 + H2O → H2SO4
Mn2O7 + H2O → 2HMnO4
CrO3 + H2O → H2CrO4

ii- क्षारीय ऑक्साइड (Alkaline oxide):
यह जल से क्रिया करके क्षार बनाते हैं
जैसे : CaO , MgO , Na2O आदि
Na2O + H2O → 2NaOH
CaO + H2O → Ca(OH)2

iii-उदासीन ऑक्साइड (Neutral oxide):
यह जल से कोई क्रिया नहीं करते
उदाहरण : CO , NO , N2O

iv- उभयधर्मी ऑक्साइड :

यह अम्ल व क्षार दोनों से क्रिया कर लेते हैं
जैसे : Al2O3
Al2O3 + 6HCl → 2AlCl3 + 3H2O
Al2O3 + 2NaOH → 2NaAlO2 + H2O

2. संयुक्त या मिश्रित ऑक्साइड :

यह संयोजकता के नियमों का पालन नहीं करते |

जैसे : Fe3O4 ,Pb3O4 आदि

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *